• Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • पहले खेला फ्रीज द मूवमेंट, फिर पलक ने भरतनाट्यम के एक्सप्रेशन से किया चकित
--Advertisement--

पहले खेला फ्रीज द मूवमेंट, फिर पलक ने भरतनाट्यम के एक्सप्रेशन से किया चकित

स्वैग से करेंगे सबका स्वागत गाने पर बाल आश्रम के बच्चों ने जब डांस प्रस्तुत किया। तब तालियों की गड़गड़ाहट थमने का...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:10 AM IST
स्वैग से करेंगे सबका स्वागत गाने पर बाल आश्रम के बच्चों ने जब डांस प्रस्तुत किया। तब तालियों की गड़गड़ाहट थमने का नाम ही नहीं ले रही थी। बैक टू बैक परफॉरमेंस के साथ डोनेट थोड़ा सा कार्यक्रम बाल आश्रम दुर्ग में हुआ। एनजीओ पवन और एपीई द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में स्पेशल बच्चों के लिए अलग-अलग गेम्स का आयोजन भी किया गया। फ्रिज द मूवमेंट में गाने के डांस के बीच में ही बच्चे फ्रिज हुए। एक के बाद एक बाहर होते हुए आखिरी 3 बच्चे इसके विजेता रहे।

सिंगिंग, ग्रुप डांस, भरतनाट्यम और ब्रेक डांस का आयोजन इसमें किया गया। ऋषि और अविनाश की एंकरिंग में दोनों ने खूब जुगलबंदी की। जिसमें दर्शकों ने खूब ठहाके लगाए। कार्यक्रम में योगेश अग्रवाल, विधायक अरुण वोरा, प्रताप मध्यानी और अतुल पर्वत भी पहुंचे। कार्यक्रम में यश शर्मा, अभिजीत पारख, प्रतिक टावरी, निशांत आदि उपस्थित थे।

पलक ने किया भरतनाट्यम

भिलाई की पलक उपाध्याय ने कार्यक्रम में भरतनाट्यम की प्रस्तुति दी। उनके अलग-अलग एक्सप्रेशन ने लोगों को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया। अंकित दिल्लीवार ने सुन मेरे हमसफर, दिल दी या गल्ला और पंजाबी गीतों की प्रस्तुति दी। सिंगिंग में अविनाश और ऋषि ने भी भाग लिया। इसके बाद सभी ने साथ मिलकर डांस किया। सभी ने मिलकर होली भी खेली।

आईकॉनिक डांस ग्रुप ने रिमिक्स में किया डांस

आईकॉनिक डांस ग्रुप ने कार्यक्रम के दौरान हॉलीवुड गीतों पर ब्रेक डांस और बॉलीवुड गीतों पर भी डांस किया। जिसमें आश्रम के बच्चों को दर्शकों को भी थिरकने पर मजबूर कर दिया। 6 साल की भवि ने जब सलामे इश्क में गीत पर अपनी प्रस्तुति दी। इस पर उन्होंने भी दर्शकों की खूब तालियां बटोरी। बच्चों ने स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद साथ मिलकर लिया।

6 साल की भवि ने सलामे इश्क मेरी जान जरा... पर किया परफार्मेंस।

बैलून और एक्सप्रेशन गेम का बच्चों ने लिया आनंद

बच्चों के लिए अलग-अलग तरह के गेम्स का आयोजन इस दौरान किया गया। एक्सप्रेशन गेम में बच्चों को गुस्सा, खुशी, और रोने आदि के टास्क दिए गए। जिसे सबसे ज्यादा बच्चों ने एंजाय किया। बैलून गेम व म्युजिकल चेयर में भी बच्चों ने खूब मस्ती की।