• Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • माइंस में नौकरी दिलाने के नाम पर 500 मजदूरों से ढाई लाख की ठगी
--Advertisement--

माइंस में नौकरी दिलाने के नाम पर 500 मजदूरों से ढाई लाख की ठगी

क्राइम रिपोर्टर| भिलाई/राजनांदगांव राजनांदगांव जिले की खड़गांव पुलिस ने वनांचल के बेरोजगारों को नौकरी दिलाने...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
क्राइम रिपोर्टर| भिलाई/राजनांदगांव

राजनांदगांव जिले की खड़गांव पुलिस ने वनांचल के बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। चारों आरोपी खड़गांव इलाके के रहने वाले है, जिन्होंने 500 मजदूरों से 500-500 रुपए रकम व फर्जी रसीद देकर पल्लेमाड़ी माइंस में नौकरी दिलाने की बात कही थी। लेकिन लगभग सालभर बीत जाने के बाद भी न तो बेरोजगारों को नौकरी मिल और न ही उनकी रकम वापस हुई। मामले की शिकायत करने जब पीड़ित थाने पहुंचे, तो पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

खुद को संयुक्त खदान मजदूर संगठन (एटक) का अध्यक्ष व प्रमुख पदाधिकारी बताकर शगुन सिंह पिता दशरुराम, सुरेंद्र नेताम पिता चमरा राम, रतनू राम पिता छतरु व चमरा राम पिता सन्नू राम पल्लेमाड़ी माइंस में नौकरी दिलाने के नाम पर मजदूरों से पांच-पांच सौ रुपए लिए थे। इसके एवज में उन्होंने एटक फर्जी सील व रसीद बनाकर पावती भी दी थी। सभी आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ की तो अपराध स्वीकार कर लिया।

खड़गांव पुलिस की गिरफ्त में ठगी के आरोपी।

मुआवजा दिलाने भी ठगा था

नौकरी के अलावा आरोपियों ने माइंस के लाल पानी से प्रभावित होने वाले खेतों के मालिकों को 15 लाख रुपए तक का मुआवजा दिलाने का भी झांसा दिया था। आरोपियों के इसी झांसे में आकर करीब 500 मजदूरों व किसानों ने 2 लाख 50 हजार रुपए जमा किए थे। लेकिन आरोपी इस रकम को आपस में बांटकर फरार हो गए। मामले की शिकायत एक प्रार्थी ने खड़गांव थाने में की, जिसके बाद पुलिस आरोपियों की पतासाजी में जुटी। इसके बाद चारो को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई।