• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • 10वीं-12वीं के स्टूडेंट्स पेपर के बाद बोर्ड को दे सकेंगे फीडबैक
--Advertisement--

10वीं-12वीं के स्टूडेंट्स पेपर के बाद बोर्ड को दे सकेंगे फीडबैक

सीबीएसई के पेपर्स में डिफिकल्टी लेवल हाई होने या आउट ऑफ सिलेबस सवाल आने को लेकर पहली बार सीबीएसई ने ऑब्जर्वेशन...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:25 AM IST
सीबीएसई के पेपर्स में डिफिकल्टी लेवल हाई होने या आउट ऑफ सिलेबस सवाल आने को लेकर पहली बार सीबीएसई ने ऑब्जर्वेशन शेड्यूल एंड इवैल्यूशन जारी किया है। 10वीं-12वीं के बोर्ड एग्जाम में पेपर देने के बाद छात्र निर्धारित प्रारूप में बिंदुवार अपनी परेशानी बता सकेंगे। इसके लिए जिम्मेदारी स्कूल हेड्स की दी गई है, जो कि यह फॉर्म भरकर पेपर होने के 24 घंटे के भीतर बोर्ड को भेजेंगे। इसके लिए सीबीएसई ने सर्कुलर जारी किया है।

सीबीएसई ने जारी किया ऑब्जर्वेशन शेड्यूल

एग्जाम में मिलने वाली शिकायतों को देखते सीबीएसई का फैसला तो स्किल पर्सन बढ़ाने एआईसीटीई ने दिया आदेश

इससे बच्चे सीधे कर सकेंगे अपनी बात

सीबीएसई स्कूल केएच मेमोरियल की प्रिंसिपल विभा झा कहती हैं, ऑब्जर्वेशन शेड्यूल में स्कूल का नाम, क्यूपी कोड, परीक्षा तिथि, कक्षा, स्कूल नंबर भरना होगा। जो सवाल आउट ऑफ सिलेबस, डिफिकल्टी लेवल में हाई लगा हो, सही फॉर्मेशन न हो, कंफ्यूजिंग हो, सवाल नंबर और फीडबैक लिखना होगा। इससे छात्र अपने मन की बात बोर्ड से कह सकेंगे।

फीडबैक के बाद एक्सपर्ट का रिव्यू

एग्जामिनेशन कंट्रोलर केके चौधरी ने ऑब्जर्वेशन शेड्यूल को लेकर स्कूल्स से कहा कि पेपर के बाद स्टूडेंट्स अपने सब्जेक्ट टीचर्स को सूचित करें। वे शेड्यूल भरकर प्रिंसिपल को दें। स्कूल हेड के हस्ताक्षर करने के बाद बोर्ड को ई-मेल या फैक्स करना होगा।

अब आंत्रप्रेन्योर डिग्री व डिप्लोमा भी कराएंगे इंजीनियरिंग कॉलेज

एजुकेशन रिपोर्टर|भिलाई

छात्रों को इंडस्ट्रियल ओरिएंटेड बनाने के लिए अब तकनीकी संस्थान उन्हें डिग्री और डिप्लोमा करा सकेंगे। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) ने यह इनिशिएटिव लिया है। इसके तहत अलग-अलग कोर्स तैयार किए हैं। 12वीं पास के लिए बैचलर ऑफ वोकेशन, 10वीं पास के लिए डिप्लोमा ऑफ वोकेशन और 10वीं से कम पढ़े छात्रों के लिए डिप्लोमा ऑफ स्किल का प्रोग्राम कराया जाएगा।

10वीं-12वीं के युवाओं को मिलेगा इससे मौका

ये प्रोग्राम करा सकेंगे, जानिए...

ऑटोमोटिव मैन्युफैक्चरिंग टेक्नोलॉजी, ऑटोमोटिव सर्विसिंग, मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी, इंडस्ट्रियल टूल मैन्युफैक्चरिंग, प्रोडक्शन टेक्नोलॉजी, सॉफ्टवेयर डवलपमेंट, बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज एंड इंश्योरेंस, ग्राफिक्स एंड मल्टीमीडिया, प्रिंटिंग एंड पैकेजिंग, ट्रेवल एंड टूरिज्म, फूड प्रोडक्शन, इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग सर्विसेज, एयर कंडीशनिंग शामिल है।

सीएसवीटीयू ने भी बनाया है प्रस्ताव

ड्रॉप आउट स्टूडेंट्स के लिए स्किल डेवलपमेंट कोर्स कराने की तैयारी सीएसवीटीयू ने की है। सीएसवीटीयू के वीसी डॉ. एमके वर्मा ने इसके लिए पहल की है। उन्होंने इसका प्रस्ताव राजभवन को भी भेजा है। कहते हैं, इससे छाात्रों में स्किल ग्रोथ होगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..