• Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताई समस्या, संसदीय सचिव ने सीएम से चर्चा करने का दिया आश्वासन
--Advertisement--

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताई समस्या, संसदीय सचिव ने सीएम से चर्चा करने का दिया आश्वासन

लगातार बर्खास्तगी की कार्रवाई से परेशान आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के प्रतिनिधिमंडल ने संसदीय सचिव लाभचंद बाफना से...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:30 AM IST
लगातार बर्खास्तगी की कार्रवाई से परेशान आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के प्रतिनिधिमंडल ने संसदीय सचिव लाभचंद बाफना से मिलकर मांगों को पूरा कराने में सहयोग देने की मांग की है। जुझारू आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायकिा संघ के प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि काफी कम मानदेय मिलने के कारण अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की गई है। बाफना ने इस मामले में सीएम से चर्चा कराने का आश्वासन दिया है।

प्रतिनिधिमंडल ने कहा िक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को आंगनबाड़ी संचालन के साथ 16 से ज्यादा सरकारी योजनाओं का काम लिया जाता है। कार्यकर्ताओं को सिर्फ 5 हजार रुपए मानदेय मिल रहा है। सहायिकाओं को भी काफी कम मानदेय मिल रहा है। अतिरिक्त कार्यों के लिए कोई मानदेय नहीं मिलता। इसके कारण उनकी आर्थिक स्थिति खराब है। मानदेय बढ़ाने की मांग को लेकर हड़ताल की जा रही है।

संसदीय सचिव लाभचंद बाफना से मिलकर मांगों को पूरा कराने में सहयोग देने की मांग की।

सीएम रमन सिंह से मुलाकात करना चाहती हैं कार्यकर्ता

बाफना ने प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के बाद कहा िक इस मामले में वे मुख्यमंत्री से चर्चा करेंगे। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मांगों को सुलझाने वे जरूरी पहल करेंगे। इसके लिए मुख्यमंत्री से समय लेकर चर्चा कराई जाएगी। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की समस्याओं का समाधान करने आवश्यक पहल की जाएगी। मुलाकात करने की भी तैयारी है।

28 कार्यकर्ता और 9 सहायिका अब तक हो चुकी हैं बर्खास्त

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की हड़ताल 28 दिनों से चल रही है। अभी तक 26 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और 9 सहायिकाओं को बर्खास्त किया जा चुका है। महिला एवं बाल विकास विभाग के अफसरों ने हड़ताल शुरू होने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को तत्काल काम पर वापस लौटने नोटिस जारी की थी।