• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • सिर्फ एक्सप्रेस वे के 13 वार्डों में कलेक्टर रेट बढ़ा, बाकी में नहीं बढ़ेगा रजिस्ट्री का खर्च
--Advertisement--

सिर्फ एक्सप्रेस-वे के 13 वार्डों में कलेक्टर रेट बढ़ा, बाकी में नहीं बढ़ेगा रजिस्ट्री का खर्च

Durg Bhilai News - प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर प्रशासन ने राजधानी के 57 वार्डों में लगातार तीसरे साल जमीन के कलेक्टर गाइड लाइन रेट...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:35 AM IST
सिर्फ एक्सप्रेस-वे के 13 वार्डों में कलेक्टर रेट बढ़ा, बाकी में नहीं बढ़ेगा रजिस्ट्री का खर्च
प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर

प्रशासन ने राजधानी के 57 वार्डों में लगातार तीसरे साल जमीन के कलेक्टर गाइड लाइन रेट में कोई वृद्धि नहीं की है। अर्थात, इन वार्डों में जमीन की रजिस्ट्री का खर्च इस साल भी उतना ही रहेगा, जितना तीन साल पहले था। केवल नैरोगेज एक्सप्रेस-वे से लगे 13 वार्डों में ही गाइडलाइन रेट बढ़ाया गया है। वह भी सड़क के किनारे-किनारे, क्योंकि इस प्रापर्टी का बाजार रेट बढ़ गया है। इनमें से वृद्धि 9 से 20 फीसदी ही है। नया रेट 1 अप्रैल से लागू कर दिया गया है। प्रशासन का दावा है कि तीन साल में राजधानी में जमीन के बाजार रेट और सरकारी रेट में अब बड़ा अंतर नहीं बचा है।

नैरोगेज एक्सप्रेस-वे का काम तेज है। यह स्टेशन से गुढ़ियारी, पंडरी, शंकरनगर और तेलीबांधा होकर शदाणी दरबार तक जा रही है। यह 13 वार्डों से गुजर रही है। इनमें इस सड़क के किनारे जमीन कम है। इसलिए यहां कीमतें बढ़ाई गई है। सबसे कम इजाफा स्टेशन के आसपास इंदिरा गांधी वार्ड में (9 फीसदी) किया गया है। शदाणी दरबार के आसपास के वार्डों में कलेक्टर रेट औसतन 20 फीसदी बढ़ाया गया है। नया रेट 1 अप्रैल से लागू भी कर दिया गया है।

2016 से नहीं बढ़े रेट : प्रशासन ने लगातार तीसरे साल भी कीमत नहीं बढ़ाकर जमीन के कारोबार को फिर से ऑक्सीजन देने की कोशिश की है। 2016-17 में करीब एक दर्जन वार्डों में जमीन की कीमत बढ़ाई गई थी। 2017-18 में एक भी वार्ड में जमीन की कीमत नहीं बढ़ाई गई। इस साल यानी 2018-19 में भी केवल 13 वार्डों में जमीन की कीमत बढ़ाई गई।

प्रापर्टी सस्ती होना भी संभव : ऐसा पहली बार होगा जब फ्लैट, बंगले और डेवलप जमीन इसलिए महंगी नहीं पड़ेगी क्योंकि रजिस्ट्री खर्च नहीं बढ़ेगा।

माना तो यह भी जा रहा है कि कुछ बिल्डर खरीदी-बिक्री को बढ़ावा देने के लिए रेट घटा सकते हैं। इस फैसले का छत्तीसगढ़ क्रेडाई ने खुले दिल से स्वागत किया है। क्रेडाई अध्यक्ष शैलेष वर्मा का दावा है कि इससे रियल इस्टेट का बाजार उठेगा।

भास्कर सबसे पहले

27 मार्च को प्रकाशित खबर।

यहां बढ़ा कलेक्टर गाइडलाइन रेट

वार्ड पिछला रेट नया रेट

20. इंदिरा गांधी 2973 3252

21. रमण मंदिर 2695 3252

22. राजीव गांधी 3717 4182

24. रविशंकर शुक्ल 2602 3252

28. महर्षि वाल्मीकि 2695 3252

31. शंकरनगर 3252 3717

32. वीर नारायण 3252 3717

33. लाल बहादुर शास्त्री 3531 3717

34. गुरु गोविंद सिंह 3252 3717

35. शहीद हेमू कालाणी 3717 4182

44. गुरु घासीदास 2602 3252

45. रानी दुर्गावती 2602 3252

46. डॉ. राजेंद्र प्रसाद 2044 2323

(नया-पुराना रेट रुपए प्रति वर्गफीट में)

घने वार्डों में रोक दिया रेट

शहर के सदरबाजार, मौदहापारा, बैजनाथपारा, रामसागरपारा, फाफाडीह, खम्हारडीह जैसे घने वार्डों के बड़े हिस्से का कामर्शियल उपयोग है और यहां जमीन कम बची है, इसलिए यहां कीमतें नहीं बढ़ाई गईं। इन वार्डों में प्रापर्टी की सिर्फ रीसेल ही है। शहर की पॉश कॉलोनियां जैसे शंकरनगर, समता कॉलोनी, चौबे कॉलोनी, अवंति विहार, देवेंद्रनगर, टैगोर नगर में 2016-17 में जमीन की कीमत बढ़ाई गई थी। इस वजह से इन वार्डों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।

X
सिर्फ एक्सप्रेस-वे के 13 वार्डों में कलेक्टर रेट बढ़ा, बाकी में नहीं बढ़ेगा रजिस्ट्री का खर्च
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..