Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» बेटिकट बोला- कार्ड से दूंगा जुर्माना विवाद बढ़ा तो तोड़ा टीसी का हाथ

बेटिकट बोला- कार्ड से दूंगा जुर्माना विवाद बढ़ा तो तोड़ा टीसी का हाथ

मुंबई से हावड़ा जा रही दूरंतो एक्सप्रेस में वैध टिकट लिए बिना यात्रा कर रहे युवक ने जुर्माना मांगने पर चीफ टिकट...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:35 AM IST

मुंबई से हावड़ा जा रही दूरंतो एक्सप्रेस में वैध टिकट लिए बिना यात्रा कर रहे युवक ने जुर्माना मांगने पर चीफ टिकट इंस्पेक्टर (सीटीआई) से मारपीट कर उनका हाथ तोड़ दिया। बिलासपुर के नजदीक हुई इस घटना के बाद रायगढ़ के नजदीक दूरंतो को कॉशन आर्डर पर रोककर आरोपी और सीटीई को उतारा गया। जीआरपी ने आरोपी यात्री को गिरफ्तार कर मामला दर्ज कर लिया है। केस डायरी के साथ ही आरोपी को अगली कार्रवाई के लिए बिलासपुर जीआरपी को भेजा गया है।

दुर्गा प्रसाद पांडेय नागपुर का रहने वाला है। कल देर रात दूरंतो एक्सप्रेस नागपुर में रुकी तो युवक हावड़ा जाने के लिए उसपर सवार हुआ। उसे हावड़ा से बैंकाक जाना था। उसके पास वैध टिकट नहीं थी। सुबह बिलासपुर से जैसे ही ट्रेन हावड़ा के लिए रवाना हुई तो सीटीआई पल्लव बैनर्जी टिकट चेकिंग करते हुए वहां पहुंचे। दुर्गा से उन्होंने टिकट दिखाने को कहा, टिकट नहीं होने पर सात हजार 10 रुपए जुर्माना देने को कहा। बड़ी राशि सुनकर पहले तो यात्री ने कुछ ले देकर रफा-दफा करने के लिए कहा, सीटीआई नहीं माने तो विवाद करने लगा।



नकद नहीं होने की बात कहते हुए वह जुर्माने की राशि ऑनलाइन ट्रांसफर करने के लिए कहने लगा। बात बढ़ी तो उसे आरपीएफ के जवान जुर्माने की राशि तुरंत देने के लिए कहते हुए सामने आए। इस पर आरोपी भड़क गया और उसने हाथापाई शुरू कर दी। इसमें सीटीआई बैनर्जी के दाहिने हाथ की कलाई खिसक गई।

बिलासपुर से सूचना मिली तो ट्रेन रोककर उतारा

आरोपी ने कहा- पहले उससे हुई मारपीट

आरोपी दुर्गा ने कहा कि जुर्माने के लायक पैसे उसके पास नहीं थे। वह ऑनलाइन ट्रांजेक्शन और प्लास्टिक मनी के जरिये पेनाल्टी भरने के लिए तैयार था लेकिन सीटीआई जिद पर अड़े रहे। बातचीत के बीच आरपीएफ के जवानों ने उसकी जमकर पिटाई की। धक्कामुक्की के दौरान ही सीटीआई को चोट लगी है। दूसरी तरफ जीआरपी के अफसर ने बताया कि आरोपी ने मारपीट होने की बात की तो उसका भी डाक्टरी मुलाहिजा कराया गया है। उन्होंने आरोपी की जेब में 18 हजार रुपए नकद होने की बात भी कही।

काउंटर पर ही कर सकते हैं प्लास्टिक मनी से भुगतान

जब आरोपी यात्री ने प्लास्टिक मनी से जुर्माना देने की पेशकश की तो आपने लिया क्यों नहीं, यह पूछे जाने पर सीटीआई पल्लव बैनर्जी ने कहा कि रेलवे स्टेशन के काउंटर पर ही ई-मनी स्वीकार की जाती है। ट्रेन के भीतर ऐसी सुविधा नहीं होती है। बिना टिकट यात्री से जुर्माने के लिए रसीद बनाकर नकद राशि ही जुर्माने के तौर पर ली जाती है। बैनर्जी ने कहा कि यात्री की मंशा जुर्माना देने की थी ही नहीं वह कुछ रुपए ऊपर से देकर यात्रा करना चाहता था।

बिलासपुर से सूचना मिली तो ट्रेन रोककर उतारा

घटना की सूचना सीटीआई ने कमर्शियल कंट्रोल बिलासपुर को दिया। विभिन्न चैनल से होती हुई इसकी सूचना रायगढ़ तक आई। सुबह लगभग सवा 11 बजे जैसे ही कॉशन आर्डर पर ट्रेन रुकी, जीआरपी व आरपीएफ के जवानों ने सीटीआई और आरोपी दोनों को उतारा और स्टेशन ले आए। पल्लव बैनर्जी की सूचना पर आरोपी युवक पर आईपीसी धारा 294, 323, 186, 332, 353 और 506 के तहत मामला दर्ज कर लिया। जीआरपी ने बताया कि घटना चूंकि बिलासपुर और जयरामनगर के बीच हुई इसलिए मामला बिलासपुर जीआरपी को सुपुर्द किया गया है। आरोपी यात्री को गिरफ्तार कर डायरी के साथ बिलासपुर भेजा गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×