• Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • Bhilai - भिलाई| भिलाई से 25 किमी दूर शिल्पग्राम थनौद। आबादी लगभग
--Advertisement--

भिलाई| भिलाई से 25 किमी दूर शिल्पग्राम थनौद। आबादी लगभग

भिलाई| भिलाई से 25 किमी दूर शिल्पग्राम थनौद। आबादी लगभग 3000। पूरे गांव का मुख्य पेशा मिट्टी के गणेश बनाना। यह काम...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:12 AM IST
भिलाई| भिलाई से 25 किमी दूर शिल्पग्राम थनौद। आबादी लगभग 3000। पूरे गांव का मुख्य पेशा मिट्टी के गणेश बनाना। यह काम पिछले तीन पीढ़ियों से जारी है। यहां मिट्टी के गणेश की डिमांड इस बार बढ़ी है। यहां के कलाकारों का कहना है कि पिछले साल की तुलना में इस साल डिमांड ज्यादा आई। पिछली बार जिस कलाकार को 60 मूर्तियों का ऑर्डर मिला था, इस बार उन्हें 180 मूर्तियों का ऑर्डर मिला है। गांव में इस बार 2000 से ज्यादा छोटी-बड़ी प्रतिमाएं तैयार की गई हैं।

200

रुपए से लेकर 2 लाख रु ज्यादा तक की प्रतिमा मिलती है

300

अन्य लोगों को थनौद में प्रतिमा बनाने रोजगार मिला

40

साल पहले शुरू हुई थी थनौद में प्रतिमा बनाने की कला

3 हजार आबादी वाले थनौद में बने 2 हजार से ज्यादा मिट्‌टी के गणेश

पांच राज्यों में स्थापित होती है थनौद में बनी प्रतिमा

रायपुर-नांदगांव में ज्यादा डिमांड: थनौद की प्रतिमा पांच राज्यों तक पहुंचती है। दुर्ग के अलावा नांदगांव और रायपुर में ज्यादा प्रतिमा बिकती है।