• Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • Bhilai - जेईई मेन्स के हर स्लॉट में पेपर का डिफिकल्टी लेवल हो सकता है अलग, कैंडिडेट्स का निकालेंगे परसेंटाइल
--Advertisement--

जेईई मेन्स के हर स्लॉट में पेपर का डिफिकल्टी लेवल हो सकता है अलग, कैंडिडेट्स का निकालेंगे परसेंटाइल

जेईई मेन एग्जाम के रजिस्ट्रेशन शुरू होने के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने पेपर की टफनेस को लेकर नया नोटिफिकेशन...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:11 AM IST
जेईई मेन एग्जाम के रजिस्ट्रेशन शुरू होने के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने पेपर की टफनेस को लेकर नया नोटिफिकेशन जारी किया है।

एनटीए के अनुसार, अलग सेशंस और स्लॉट्स में होने वाले एग्जाम में सवालों का डिफिकल्टी लेवल एक जैसा रखने की कोशिश है। अलग स्लॉट में एग्जाम देने वाले कैंडिडेट्स को अलग डिफिकल्टी लेवल वाला सेट मिले। इससे उनको संभावित नुकासन से बचाने एनटीए परसेंटाइल बेस पर की जाने वाली नॉर्मलाइजेशन प्रोसेस लागू करेगा। केंडिडेट्स का परसेंटाइल निकालेंगे।

स्टूडेंट्स को हानि से बचाने एनटीए परसेंटाइल बेस पर नॉर्मलाइजेशन प्रोसेस लागू करेगा

प्रत्येक स्लॉट के लिए अलग - अलग परसेंटाइल की जाएगी कैल्कुलेट

एक्सपर्ट ने बताया कि इस सूचना के बाद जेईई की नए प्रोसेस को लेकर संशय दूर हो गए हैं। स्टूडेंट्स के मन में सवाल थे कि टफ पेपर आने पर हमें कम मार्क्स मिलेंगे। नॉर्मलाइजेशन के बाद ऐसा नहीं होगा। पेपर टफ होने पर नंबर कम आएंगे और पेपर आसान होने पर ज्यादा लेकिन यह स्थिति उस स्लॉट के सभी बच्चों के साथ होगी। एनटीए, हर स्लॉट के लिए अलग परसेंटाइल कैल्कुलेट करेगी। इससे सभी के साथ न्याय हो सकेगा।

सेंटर का प्रेफरेंस दे सकेंगे, एनटीए तय करेगा स्लॉट

एक्सपर्ट की माने तो 1 सितंबर से शुरू हुए जेईई मेन के रजिस्ट्रेशन में फिलहाल कैंडिडेट्स की बेसिक और एजुकेशनल डिटेल्स ली जा रही हैं। स्टूडेंट्स को पसंद का सेंटर चुनने के पांच ऑप्शन दिए जा रहे हैं। टाइम स्लॉट का कन्फर्मेशन एनटीए द्वारा किया जाएगा। एनटीए ने स्टूडेंट्स के लिए टेस्ट प्रैक्टिस सेंटर्स की व्यवस्था भी की है।

एसटीएससी के स्टूडेंट्स को फ्री कोचिंग के लिए करना होगा विभाग में आवेदन

12वीं के बाद पढ़ाई छोड़ चुके एसटी-एससी छात्रों के लिए मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने का सुनहरा मौका है। आजाक्स प्रदेशभर के 100 छात्रों का चयन करेगा। उन्हें मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए विशेष कोचिंग दी जाएगी। इससे उन्हें फायदा होगा। छात्र अपने निवास जिले में ही आवेदन कर सकेंगे। छात्र विभाग के वेबसाइट www.tribal.cg.gov.in पर अवलोकन कर सकते हैं।