--Advertisement--

मां को पीटता देख अधेड़ ने अपने बेटे को फर्शी और चाकू के ताबड़तोड़ वार से मार डाला

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 10:13 AM IST

देवरीबंगला में घटना, नशे में धुत युवक पीट रहा था अपनी दादी को, पिता ने किया आत्मसमर्पण

डमी फोटो डमी फोटो

बालोद। देवरीबंगला में रविवार शाम एक अधेड़ ने अपने ही जवान बेटे की चाकू और फर्शी से वार कर हत्या कर दी। मारा गया युवक अपनी ही दादी को शराब अौर गांजे के नशे में पीट रहा था। पिता को यह बात बर्दाश्त नहीं हुई। हत्या के बाद पिता खुद ही थाने पहुंचा और उसने सरेंडर कर दिया।

- जानकारी के मुताबिक, देवरीबंगला के वार्ड 10 निवासी 55 वर्षीय टीकाराम देवांगन ने रविवार शाम करीब 6.30 बजे अपने 26 वर्षीय बेटे जितेंद्र को मौत के घाट उतार दिया। शराब और गांजे के नशे में चूर जितेंद्र घर पहुंचा और दादी गिरजा बाई (75) को धक्का देकर मारपीट करने लगा।

- पिता अपनी मां को बेटे के हाथ पीटता देख छुड़ाने गए तो वह उनका ही गला दबाने लगा। टीकाराम ने फर्शी जितेन्द्र के सिर में दे मारी। इसके बाद वह दादी को छोड़कर घर से निकला लेकिन ज्यादा नशा होने से वह चल नहीं पाया और गिर गया। इसके बाद नशे की हालत में टीकाराम ने भी चाकू से बेटे के कमर, पेट व शरीर के कई हिस्सों में ताबड़तोड़ वार कर मार डाला। इसके बाद आत्मसमर्पण करने थाने पहुंचा।

मुझे अब अच्छा लग रहा है : पुलिस को टीकाराम कहता रहा कि मुझे अब अच्छा लग रहा है, रोज बेटे के कारण मेरी मां, पत्नी व मुझे परेशान होना पड़ता था।

पत्नी बोली- मुझे नहीं मालूम : पत्नी चेतन बाई ने बताया कि घटना हुई तो मैं घर में नहीं थी। मेरे पति जब घर से बाहर निकलते हुए मर्डर कर दिया कहने लगा, तब देखा तो बेटा लहूलुहान था।

प्रत्यक्षदर्शी बोले -मार दिया अच्छा हुआ : गिरजा बाई ने कहा कि रोज शराब पीकर हम लोगों को परेशान करता था, मुझसे बेवजह मारपीट करता था, बेटा ने अपने बेटा को मार दिया, रोज की झंझट से मुक्ति मिली, मार दिया न अच्छा हुआ।

- वहीं गांव वालों का कहना है कि इस घर में रोजाना मारपीट होती थी। शराब के कारण दोनों उलझ जाते थे, आज इसका अंजाम ऐसा हो गया। पांच साल पहले भी एक बेटे ने फांसी लगा ली थी। वह जितेंद्र का छोटा भाई था, जो पांच साल पहले नागपुर में फांसी लगाकर जान दे दी थी।

X
डमी फोटोडमी फोटो
Astrology

Recommended

Click to listen..