Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» Fraud Of 59 Thousand Rupees In The Name Of Win Car From Lucky Draw

ऑनलाइन सामान खरीदने के बाद ठगों के झांसे में फंसा युवक, लकी डॉ में कार जीतने का लालच देकर ठगे 59 हजार रुपए

ऑनलाइन कमर्शियल कंपनी से की थी खरीदारी, फिर मोबाइल पर आया मैसेज

dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 12, 2018, 12:19 PM IST

ऑनलाइन सामान खरीदने के बाद ठगों के झांसे में फंसा युवक, लकी डॉ में कार जीतने का लालच देकर ठगे 59 हजार रुपए

भिलाई।लकी डॉ में कार जीतने का लालच देकर ठगों ने एक युवक से 59 हजार ठग लिए। दरअसल, पीड़ित ने ऑनलाइन कंपनी से सामान मंगाया था। इसके बाद उसके पास मैसेज आया कि उसने कार जीत ली है। लालच में आकर युवक ने ठगों के खाते में कार की डिलीवरी के लिए 59 हजार रुपए जमा करा दिए। कई दिन तक कार नहीं मिली और कॉल करने पर नंबर बंद मिलने पर युवक को ठगी को अहसास हुआ। युवक ने पुलिस में शिकायत की। जांच के बाद पुलिस ने दीपक वर्मा, रोहित राज और आरके माथुर के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

-पीड़ित युवक का नाम अनिल सांखरे हैं। वह सेक्टर-11 खुर्सीपार में रहता है। अनिल ने ऑनलाइन कंपनी स्नेपडील से सामान मंगाया था। इसके बाद उनके मोबाइल पर 4 अगस्त को एसएमएस आया कि लकी ड्रॉ में टाटा सफारी कार उन्होंने जीती है। ठगों ने यह भी कहा कि सामान खरीदने पर उनका नंबर लकी डॉ में आया है।
- अगले दिन अनिल के पास फोन आया कि गाड़ी के कागजात एवं प्रोसेसिंग शुल्क के लिए 15 हजार 500 रुपए जमा कराने होंगे। यह पैसा उनको बिहार के असरगंज मुंगेर की एसबीआई ब्रांच में रोहित राज के खाते में डालने के लिए कहा गया। - पैसा डालते ही अनिल के पास एसएमएस आया कि प्रोसेसिंग फीस का पैसा आ गया। लेकिन आरबीआई टैक्स के लिए पेमेंट न करने पर आपका साढ़े बारह लाख रोक दिया गया। इस पर ठग ने 25 हजार रुपए की रकम और जमा कराने के लिए कहा। सफारी कार की खुमारी में खोए अनिल ने तुरंत 25 हजार की रकम भी जमा कर दी। इस तरह खुद को कंपनी का प्रतिनिधि बताने वाले ठगों ने उनसे प्रोसेसिंग फीस और जीएसटी के एवज में 59 हजार रुपए अपने अकाउंट में ट्रांसफर करा लिए।
-प्रोसेसिंग फीस फिर आरबीआई टैक्स के रूप में 40 हजार 500 गंवाने के बाद भी अनिल को छले जाने का अहसास नहीं हुआ। इसके बाद ठगों ने ने टीडीएस के रूप में 18 हजार 500 रुपए मांगे। उसे भी अनिल सांखरे ने ठगों के बताए खाते में डाल दिए। इसके बाद फिर एक एसएमएस आया कि आपने पैसे जमा करने में काफी लेट कर दिया है। ऐसे में 37 हजार 500 रुपए जमा कराने होंगे। तब जाकर पीड़ित को अपने साथ ठगी का अहसास हुआ।
- छावनी पुलिस ने बताया कि पीड़ित अनिल ने जिन एकाउंट में पैसा जमा कराया है। वह दीपक वर्मा, रोहित राज और आरके माथुर के नाम से हैं। फिलहाल, उनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। सर्विलांस टीम की मदद से पूरे मामले की जांच की जा रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×