Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» Gangster Tapan Sarkar Henchmen Physically Exploited Many Women

गैंगस्टर तपन सरकार के गुर्गे की हैवानियत बयां कर सहमी पीड़िताएं; दोस्ती में दगा देने से परिवार टूटे, किसी को फ्रेंड बनाकर दरिंदगी की

दैनिक भास्कर को 3 पीड़ितों ने बताई आपबीती

Bhaskar News | Last Modified - Aug 09, 2018, 01:42 PM IST

गैंगस्टर तपन सरकार के गुर्गे की हैवानियत बयां कर सहमी पीड़िताएं; दोस्ती में दगा देने से परिवार टूटे, किसी को फ्रेंड बनाकर दरिंदगी की

दुर्ग.एक दिन पहले गांजे की तस्करी करते पकड़े गए गैंगस्टर तपन सरकार के गुर्गे विजय मेनन की एक-एक कर करतूतों का खुलासा हो रहा है। मेनन 14 साल से लेकर 45 साल तक की महिलाओं को शिकार बनाता था। वैसे तो मेनन ने 18 से अधिक को शिकार बनाया लेकिन उसकी दहशत के कारण सिर्फ 3-4 पीड़ितों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

यही नहीं, विजय ने अपने ही दोस्त के घर जाकर उसकी पत्नी के साथ दुष्कर्म किया। दोस्त जेल गया, तो पत्नी ने खुदकुशी तक कर ली। इसके अलावा मेनन ने कई छात्राओं को प्यार का झांसा देकर शिकार बनाया। अपने मंसूबों को अंजाम देने के लिए मेनन ने कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों के हॉस्टल पर कब्जा कर रखा था। जहां वह लड़कियों को लेकर आता था और उन्हें घर नहीं जाने देता था। दो-दो दिन कमरे में ही रुकने के लिए मजबूर कीके दुष्कर्म करता। लड़कियां जैसे-तैसे उसके चंगुल से छूटकर भागती थी।

पीड़ितों ने यह भी बताया कि, विजय मेनन हमेशा अपने पास हथियार रखता था। जिसे वह गले या कनपटी पर रखकर धमकाता था और जबरदस्ती करता था। इतना ही नहीं उसने कई बार पैसे की मांग करते हुए मारपीट भी की। इन सबका खुलासा पुलिस की जांच में हुआ। वहीं, पुलिस जांच के आधार पर दैनिक भास्कर ने 14 साल से लेकर 45 साल की पीड़ितों से बातचीत की, तो ये चौंकाने वाले खुलासे हुए।

पीड़िताें ने बताई कहानी, जानिए किसने क्या कहा...

पीड़िता-1 : मेरी मुलाकात उससे स्कूल के बाहर हुई। मैं जब क्लास से निकलती तो वह स्कूल के बाहर मिलता था। दो साल पहले एक दिन अचानक स्कूल के बाहर उसने मुझे दोस्ती करने के लिए कहा। फिर प्यार की बातें कहकर मुझे झांसे में लिया। इसके बाद जबरदस्ती करने लगा। इसके बाद वह लगातार शोषण करने लगा। मेरे मना करने पर मुझे बहुत मारता-पीटता था। मेरी गलती यह है कि मैंने घरवालों को भी कभी नहीं बताया। दरअसल, मैं डरती थी कि कहीं वो घर वालों को नुकसान न पहुंचा दे। मैं पूरी तरह टूट गई थी। मजबूर हो गई थी। बदनामी के डर से कभी पुलिस में रिपोर्ट भी नहीं की।

पीड़िता-2 : विजय मेनन के बारे में जानकारी देते हुए एक व्यक्ति ने बताया कि मैं और मेनन किसी समय बहुत अच्छे दोस्त थे। दोस्ती के नाते मैं उसे अपने घर लेकर जाता था। 4 साल पहले पता चला कि विजय ने मेरी पत्नी के साथ अवैध संबंध बना लिए थे। जिसकी वजह से मैं और मेरी पत्नी अलग हो गए। हमारा परिवार टूट गया। एक केस में जब मैं जेल गया तो मेरी पत्नी ने मिट्टी का तेल डालकर खुदकुशी कर ली। पत्नी का अंतिम संस्कार कर दिया। लेकिन मैं विजय से बहुत डरता था। इसलिए कभी रिपोर्ट नहीं लिखवाई।

पीड़िता-3 : मैं अभी पीजी में रहती हूं। मेरे एक फ्रेंड ने विजय मेनन से मिलवाया था। एक दिन अचानक से मेनन का फोन आया, फिर लगातार आने लगा। उसके पास नंबर कहां से आया, मुझे नहीं पता। वो रूम में बुलाता था। एक दिन फ्रेंड के कहने पर ये जानने चली कि आखिर क्यों बुला रहा है। पहुंचने पर मेनन ने गन दिखाई, मैं डर गई। फिर उसने मेरे साथ जबरदस्ती की। इसका वीडियो तक बना लिया, जिसकी वजह से मुझे ब्लैकमेल करता था। कहता था- किसी को बताया तो तुझे जान से मार दूंगा। अब मैं घर से दूर यहां पढ़ने आई हूं। कभी घरवालों को नहीं बताया। क्योंकि वो सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे।

डर और भय से सहमे परिजन:अब तक सामने आए पीड़ितों के शिकार बनने की सबसे बड़ी वजह गैंगस्टर तपन सरकार के गुर्गे विजय मेनन से डर और परिजन को अपनी समस्या के बारे में कैसे बताऊं का भय बना हुआ है।

पीड़ित पुलिस को शिकायत दर्ज कराएं:विजय मेनन मामले में कई लड़कियों और महिलाओं के नाम सामने आए हैं। हम इसकी जांच कर रहे हैं। शिकायतों के आधार पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। अगर कोई इससे पीड़ित है तो पुलिस को शिकायत दर्ज कराए। -जीपी सिंह, आईजी, दुर्ग रेंज

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×