Home | Chhatisgarh | Durg Bhilai | डेंगू की दहशत से अस्पताल में खून जांच की ऐसी लाइन...कम पड़ने लगे टेस्ट किट

डेंगू की दहशत से अस्पताल में खून जांच की ऐसी लाइन...कम पड़ने लगे टेस्ट किट

भिलाई में डेंगू से 10 दिन में 10 मौतों के बाद सिर्फ 35 किमी दूरी की वजह से राजधानी को भी डेंगू ने बेचैन कर दिया है। हालात...

Bhaskar News Network| Last Modified - Aug 11, 2018, 02:10 AM IST

डेंगू की दहशत से अस्पताल में खून जांच 
 की ऐसी लाइन...कम पड़ने लगे टेस्ट किट
डेंगू की दहशत से अस्पताल में खून जांच की ऐसी लाइन...कम पड़ने लगे टेस्ट किट
भिलाई में डेंगू से 10 दिन में 10 मौतों के बाद सिर्फ 35 किमी दूरी की वजह से राजधानी को भी डेंगू ने बेचैन कर दिया है। हालात ये हैं कि सामान्य बुखार वाले मरीज भी खून जांच के लिए राजधानी के मेडिकल कालेज में पहुंच रहे हैं, क्योंकि वायरोलॉजी लैब वहीं है। पिछले तीन दिन से खून जांच की लाइनें लग रही हैं। अब तक लैब में 40-50 टेस्ट किट ही रखी जाती थीं, लेकिन तीन दिन से रोजाना 150 से ज्यादा सैंपल जांचे जा रहे हैं। इनमें 90 भिलाई से आ रहे हैं। इस वजह से लैब में टेकनीशियनों की संख्या 2 से बढ़ाकर 5 कर दी गई है और इसे रविवार को भी खुला रखने का फैसला लिया है। टेस्ट किट कम पड़ने पर अस्पताल प्रबंधन ने इसे बाजार से खरीदने का निर्देश जारी कर दिया है।

मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब में बेहद हाईटेक मशीनों से डेंगू की एलाइजा जांच की जा रही है। भिलाई सहित राज्य के किसी भी सरकारी और प्राइवेट अस्पताल में इसकी सुविधा नहीं है। भिलाई में जितने भी मरीजों की प्रारंभिक जांच में डेंगू होने के संकेत मिल रहे हैं, उनके ब्लड सैंपल पुष्टि के लिए यहीं भेज रहे हैं। इसीलिए यह संख्या बढ़ गई है। इधर, राजधानी में भी डेंगू की आशंका वाले केस बढ़ रहे हैं। हफ्तेभर पहले तक यहां 8-10 मरीजों के ब्लड सैंपल डेंगू-मलेरिया की आशंका से जांचे जा रहे थे। तीन दिन में संख्या 150 के पार हो गई है। डाक्टरों का कहना है कि बुखार के मरीज भी जिद कर रहे हैं कि डेंगू जांच लिया जाए। इसलिए सैंपल लेने पड़ रहे हैं।

ब्लड सैंपल देने के पहले रसीद कटाने के लिए लंबी कतार

राजधानी में असर कम

मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब में भिलाई के जिन 90 लोगों के सैंपल की जांच की जा रही है, उनमें औसतन 45 से 50 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो रही है। राजधानी के लोगों में इसका असर अभी कम है। यहां से कलेक्ट सैंपलों में 1 जुलाई से अब तक 10 मरीज ही डेंगू पीड़ित मिले हैं। उनमें से एक की मौत हुई है।

डेंगू के मरीजों को पेनकिलर देने से बढ़ सकता है खतरा

राजधानी में टेस्ट के पूरे इंतजाम

डेंगू की जांच प्रभावित न हो, इसके लिए टेस्ट किट के इंतजाम कर लिए हैं। लोगों से भी आग्रह है कि जब तक डाक्टर सलाह न दें, डेंगू का टेस्ट नहीं करवाएं। -डॉ. अरविंद नेरल, एचओडी माइक्रोबायोलॉजी

शहर के वरिष्ठ मेडिसिन विशेषज्ञ डा. अब्बास नकवी का कहना है डेंगू के मरीजों को सामान्यत: पैरासिटामॉल टेबलेट दी जाती है। इससे बुखार कम हो जाता है। अगर बुखार कम न हो तो डॉक्टर को दिखाने की जरूरत पड़ती है। मरीजों को किसी भी स्थिति में डिस्प्रिन, ब्रूफेन व कांबीफ्लेम टेबलेट नहीं लेना चाहिए। इससे शरीर में अचानक अंदरुनी ब्लीडिंग शुरू हो सकती है। यह खतरनाक हो सकती है।

वायरल के सौ से ज्यादा मरीज

अंबेडकर अस्पताल के मेडिसिन व पीडियाट्रिक विभाग में इन दिनों वायरल बुखार के 100 से ज्यादा मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इनमें आधे से ज्यादा मरीजों की डेंगू जांच कराई जा रही है। मेडिकल कॉलेज प्रबंधन का दावा है ज्यादा मरीज होने से जांच प्रभावित नहीं हो रही है। हम ज्यादा संख्या में किट मंगवा रहे हैं।

प्लेटलेट कम, तो तुरंत दिखाएं

- डेंगू के मरीजों को सामान्यत: बुखार की पैरासिटामॉल टेबलेट व सीरप देते हैं। अगर ब्लड में प्लेटलेट कम हो तो विशेषज्ञों को दिखाएं। पेनकिलर बिलकुल नहीं लें। -डॉ. एसके चंद्रवंशी, एसोसिएट प्रोफेसर मेडिसिन

मेडिकल कॉलेज में खून का टेस्ट मुफ्त

तेज बुखार के साथ हाथ पांव में दर्द और शरीर में लाल चकत्ते आने लगे तो यह डेंगू का पहला लक्षण है।

डेंगू अभी फैलता जा रहा है। बुखार हो तो इसकी तुरंत जांच करवाना जरूरी है

रायपुर मेडिकल कॉलेज में ही डेंगू यानी वायरोलॉजी जांच की सुविधा है। इसी से होती है डेंगू की स्पष्ट पुष्टि।

प्राइवेट लैब में वायरोलॉजी जांच की सुविधा नहीं। इसलिए अंबेडकर में आने पर तुरंत हो सकती है जांच।

मेडिकल कॉलेज में डेंगू की जांच मुफ्त की जा रही है। लेकिन निजी क्लीनिकों में इसका खर्च 800 से 1000 रुपए तक है।

सप्ताहभर से बुखार है तो आईजीएम एंटीबॉडी जांच जरूरी है। सही रिपोर्ट के लिए एलाइजा टेस्ट सबसे अच्छा माना जाता है।

मरीज को तेज बुखार, पेट दर्द, बीपी गिरने की शिकायत बनी रहती है तो एंटीजन एलाइजा जांच करवाना जरूरी है।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now