• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • रक्तदान करने से होती है 650 कैलोरी बर्न हार्ट अटैक की संभावना भी कम: श्रीवास्तव
--Advertisement--

रक्तदान करने से होती है 650 कैलोरी बर्न हार्ट अटैक की संभावना भी कम: श्रीवास्तव

रेडक्रास के स्टेट कंसल्टेंट सुदीप श्रीवास्तव ने कहा कि रक्तदान करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 02:11 AM IST
रक्तदान करने से होती है 650 कैलोरी बर्न हार्ट अटैक की संभावना भी कम: श्रीवास्तव
रेडक्रास के स्टेट कंसल्टेंट सुदीप श्रीवास्तव ने कहा कि रक्तदान करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है। रक्तदान करते ही 650 कैलोरी बर्न होती है। इससे हार्ट अटैक की संभावना भी बहुत कम हो जाती है। नए रक्त बनने की संभावना भी बढ़ जाती है। ऐसे में हर तीन महीने या चार महीने में स्वैच्छिक रक्तदान खुद के स्वास्थ्य के साथ दूसरों की जिंदगी भी बचाने का काम कर सकते हैं।

श्रीशंकराचार्य मेडिकल कॉलेज जुनवानी में रेडक्रास सोसायटी की ओर से लगे रक्तदान शिविर में उन्होंने कहा कि अस्पतालों में अक्सर खून की कमी रहती है। मरीजों के परिजन भटकते हैं। आप रक्तदान करके उनकी सहायता कर सकते हैं। हादसों में घायल लोगों के साथ सिकलिंग, किसी बड़ी बीमारी की इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती मरीज की भी सहायता करें । रक्तदान करने से कोई कमजोरी नहीं आती।

श्रीशंकराचार्य मेडिकल कॉलेज जुनवानी में रेडक्रास सोसायटी की ओर से रक्तदान शिविर लगाया गया।

500 लोगों ने किया रक्तदान

शिविर में 500 लोगों ने स्वैच्छिक रक्तदान किया। उन्हें रक्तदान करने का महत्व बताया गया। कहा गया कि साल में कम से कम एक बार रक्तदान करना चाहिए। शिविर में सबसे अधिक युवा शामिल हुए। उन्होंने रक्तदान करने के साथ दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करने की भी बातें कहीं गईं। इसमें मेडिकल कॉलेज के छात्र-छात्राएं शामिल हुए। उनके साथ अन्य लोगों ने भी रक्तदान में रुचि दिखाई।

जानिए क्या था उद्देश्य...

कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सिकलिंग और थैलीसिमिया के मरीजों की सहायता के लिए खून इकट्ठा करना था। राज्य भर में जिले में इसके ज्यादा मरीज हैं। उन्हें हमेशा खून की जरूरत पड़ते रहती है। उनके परिजन खून के लिए या फिर डोनर के लिए भटकते रहते हैं। इससे उन्हें सहायता मिलने की उम्मीद व्यक्त की गई। युवाओं को ब्लड डोनेट करने के लिए प्रेरित किया गया।

रक्तदान से बड़ा दुनिया में कोई दान नहीं : मिश्रा

श्रीगंगाजलि एजुकेशन सोसायटी के चेयरमैन आईपी मिश्रा के जन्मदिन पर मेडिकल कॉलेज में लगे कैंप में संस्था की अध्यक्ष जया मिश्रा ने कहा कि रेडक्रॉस सोसायटी एवं श्रीशंकराचार्य एजुकेशनल सोसाइटी परिवार के सभी सदस्यों का आभार। सभी के सहयोग से ही यह महापर्व सफलता पूर्वक हुआ। रक्तदान से बढ़कर कोई बड़ा दान नहीं नहीं है। इससे सेहत पर भी कोई बुरा असर नहीं होता।

कॉलेज में रक्तदान से पहले हुई कार्यशाला

रक्तदान से पहले रेडक्रास सोसाइटी की कार्यशाला हुई थी जिसमें युवाओं को बताया गया था कि रक्तदान से मिलें रक्त से किसी की जिंदगी बचाई जा सकती है। आने वाले समय में ऐसे शिविर का आयोजन किया जाता रहेगा।

सोसाइटी ने युवाओं को ऐसे कार्यक्रमों में ज्यादा से ज्यादा संख्या में शामिल होने के लिए कहा गया।

X
रक्तदान करने से होती है 650 कैलोरी बर्न हार्ट अटैक की संभावना भी कम: श्रीवास्तव
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..