Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» भ्रूण हत्या महापाप, बेटियां ही कुल का बढ़ाती है मान

भ्रूण हत्या महापाप, बेटियां ही कुल का बढ़ाती है मान

गीता भवन में श्रीराम कथा के छठवें दिन पं. सुनील ने बेटी बचाने दिया संदेश। कम्युनिटी रिपोर्टर | भिलाई ब्रज मंडल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 07, 2018, 02:11 AM IST

भ्रूण हत्या महापाप, बेटियां ही कुल का बढ़ाती है मान
गीता भवन में श्रीराम कथा के छठवें दिन पं. सुनील ने बेटी बचाने दिया संदेश।

कम्युनिटी रिपोर्टर | भिलाई

ब्रज मंडल के गीता भवन परिसर में चल रहे श्रीराम कथा के छठवें दिन पं. सुनील महाराज ने मनुष्य जीवन में माता-पिता की आज्ञा को सर्वोपरि बताया। उन्होंने कहा कि महाराज जनक ने अयोध्या के राजा दशरथ के पास वहां घटित वृत्तांत और माता सीता स्वयंवर के बाद विवाह के संदर्भ में निमंत्रण पत्र भिजवाया।

तब महाराज दशरथ अपने पुत्रों भरत और शत्रुघ्न सहित सभी सभासद, प्रजा के साथ जनकपुर पहुंचते हैं। चारों भाईयों का एक साथ विवाह कराते हैं, जिसके बाद राजा जनक से विदा मांगते हैं। महाराज जनक माता सीता को समझाते हैं कि अब से महाराज दशरथ और महारानी कौशल्या ही पिता और माता हैं। हमारी प्रतिष्ठा अब तुम्हारे हाथों में है। आगे व्यास कहते हैं कि पुत्र तो केवल एक कुल की रक्षा करता है, लेकिन पुत्री दो-दो कुल की रक्षा करती है। लेकिन आज देश का दुर्भाग्य है कि इस पवित्र धरा पर कन्या भ्रूण हत्या हो रही है। इससे बड़ा जघन्य पाप कोई दूसरा नहीं है। नवरात्र में मां शक्ति की आराधना सभी करते हैं। माता प्रसन्न होकर कन्या रुप में जन्म लेती है, लेकिन जन्म से पूर्व ही हत्या कर दी जाती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×