--Advertisement--

छग की अस्मिता पर केंद्रित अगासदिया अंक का विमोचन

कार्यक्रम में आसाम के समाजसेवी शंकरचंद्र साहू को दिया गया संगवारी सम्मान। सिटी रिपोर्टर | भिलाई अगासदिया के...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 02:15 AM IST
छग की अस्मिता पर केंद्रित अगासदिया अंक का विमोचन
कार्यक्रम में आसाम के समाजसेवी शंकरचंद्र साहू को दिया गया संगवारी सम्मान।

सिटी रिपोर्टर | भिलाई

अगासदिया के 75वें अंक और मानसरोवर यात्रा पर मनोज चंद्राकर की लिखित पुस्तक का विमोचन सोमवार को अगासदिया परिसर आमदी नगर में हुआ। समारोह में पूर्व पुलिस अधिकारी बीएल कुर्रे ने विभिन्न क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने वालों को जग्गु कुर्रे स्मृति सम्मान से नवाजा।

इसके अलावा साहित्यकार विनोद साव, सुशील भोले, कवि संजीव तिवारी, टीआर मारकंडे, किशोर तिवारी, पद्मलोचन शर्मा सहित अन्य मुख्य अतिथि संजय अलंग, बीएल ठाकुर, विशेष अतिथि केके खेलवार, डॉ. जेआर सोनी ने स्मृति चिन्ह व शाल, श्रीफल देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम के संयोजक डॉ. परदेशीराम वर्मा ने कहा कि छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया, यह नारा क्यों लगाया जाता है, इस पर अगासदिया का विशेषांक केंद्रित है। साहित्यकार विनोद साव ने छग में अस्मित वादी लेखन, संभावना व सिद्धी पर व्याख्यान दिया। कहा कि छग इस दृष्टि से बेहद समृद्ध है।

छग का नाम ही समृद्ध: मुख्य अतिथि डॉ. अलंग ने कहा कि छत्तीसगढ़ का जाे नामकरण है, यही अस्मिता के लिए गहन चिंतन का प्रमाण है। मौके पर अन्य वक्ताओं ने भी विचार रखे। इस अवसर पर आसाम से पहुंचे समाजसेवी शंकरचंद्र साहू का अगासदिया संगवारी सम्मान प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि छग को हमारे पूर्वज 100 वर्ष पूर्व से आसाम ले जाए गए। पर छग से हमारा नाता कभी नहीं टूटा। कार्यक्रम का संचालन नारायण चंद्राकर ने किया। इस अवसर पर नरेंद्र राठौर, प्रदीप भट्टाचार्य, राजेश पांडे, गजेंद्र झा, रितेश उपस्थित थे।

X
छग की अस्मिता पर केंद्रित अगासदिया अंक का विमोचन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..