भिलाई + दुर्ग

  • Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • चिल्हर मांगने का बहाना कर बैंक से निकल रहे 2 लोगों को थमाया रद्दी का बंडल, ठग लिए 12 हजार, गिरफ्तार
--Advertisement--

चिल्हर मांगने का बहाना कर बैंक से निकल रहे 2 लोगों को थमाया रद्दी का बंडल, ठग लिए 12 हजार, गिरफ्तार

बैंक से अपनी जरूरत के पैसे निकालकर आए मजदूरों को ज्यादा पैसे का लालच भारी पड़ गया। मूलतः बिहार का आरोपी छोटू बाबू...

Danik Bhaskar

Jul 14, 2018, 02:15 AM IST
बैंक से अपनी जरूरत के पैसे निकालकर आए मजदूरों को ज्यादा पैसे का लालच भारी पड़ गया। मूलतः बिहार का आरोपी छोटू बाबू महतो ने कोरे कागजों की गड्डी पर दो 500 के नोट लपेटकर दो मजदूरों से साढ़े 12 हजार ले उड़ा। जब पीड़ितों ने घर जाकर नोटों के बंडल को खोला तो उन्हें ठगी की जानकारी हुई।

आरोपी छोटू बाबू

बिहार से आकर दुर्ग-भिलाई में दे रहा ठगी की वारदातों को अंजाम, इस बार पकड़ा गया

दोनों बंडल में 500-500 के सिर्फ दो नोट रखे

पीड़ितों को आरोपी ने पहले किया इमोशनल, फिर ठगी

क्राइम ब्रांच टीआई भावेश साव ने बताया कि रायपुर पावर एंड स्टील कम्पनी रसमड़ा में कार्यरत मजदूर गोविंद कुमार यादव निवासी जय नगर चम्पारण बिहार अपने साथ मजदूर मुकेश कुमार शाहीन के साथ दो जुलाई को एकाउंट से पैसा निकालने यूनियन बैंक दुर्ग गया था। गोविंद ने अपने खाते से 9 हजार रुपए निकाले और मुकेश ने साढ़े तीन हजार निकाले।

12 हजार में से 10 हजार किए खर्च, 2 हजार मिले

क्राइम ब्रांच टीआई ने बताया कि उसने दोनों लोगों को बताया कि वो काम करने चेन्नई गया था। वहां से एक लाख रुपए चोरी करके लाया है। अब बैंक एकाउंट न होने से पैसों को जमा नहीं कर पा रहा है। उसने बताया लाख रुपए की रकम में केवल 500-500 के बंडल है। ऐसे में चिल्हर पैसे न होने से खर्च भी नहीं कर पा रहा है। फिर दोनों को रद्दी बंडल दिया और ठगा।

ढूंढ रहा था दूसरा शिकार तभी पुलिस ने पकड़ा

कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराने पीड़ित आरोपी की तलाश में रोजाना यूनियन बैंक आते रहते थे। इसी बीच संयोग वश उनकी निगाह आरोपी के पर पड़ गई। तत्काल इसकी सूचना उन्होंने क्राइम ब्रांच को दी। इस टीम ने कार्रवाई करते हुए आरोपी को पकड़ लिया। पुलिस को उसने अपना नाम छोटा बाबू महतो पुलवरिया सुगौली पूर्वी चम्पारण बिहार निवासी छोटू बाबू महतो बताया। तलाशी लेने पर उसकी जेब से मात्र ढ़ाई हजार ही निकले।

Click to listen..