Home | Chhatisgarh | Durg Bhilai | गिट्‌टी भरे मैदान में ही स्कूल शिक्षा विभाग ने करा दी कबड्डी प्रतियोगिता, लहूलुहान हो गए कई खिलाड़ी

गिट्‌टी भरे मैदान में ही स्कूल शिक्षा विभाग ने करा दी कबड्डी प्रतियोगिता, लहूलुहान हो गए कई खिलाड़ी

स्कूल शिक्षा विभाग की क्षेत्रीय स्तर की कबड्डी प्रतियोगिता में भाग लेने आए कई खिलाड़ी चोटिल हो गए। इनके पैरों और...

Bhaskar News Network| Last Modified - Aug 07, 2018, 02:15 AM IST

गिट्‌टी भरे मैदान में ही स्कूल शिक्षा विभाग ने करा दी कबड्डी प्रतियोगिता, लहूलुहान हो गए कई खिलाड़ी
गिट्‌टी भरे मैदान में ही स्कूल शिक्षा विभाग ने करा दी कबड्डी प्रतियोगिता, लहूलुहान हो गए कई खिलाड़ी
स्कूल शिक्षा विभाग की क्षेत्रीय स्तर की कबड्डी प्रतियोगिता में भाग लेने आए कई खिलाड़ी चोटिल हो गए। इनके पैरों और घुटने बुरी तरह छिल गए। प्रतियोगिता सोमवार को शासकीय स्कूल रूआबांधा के मैदान पर हुई। प्रतियोगिता के पहले मैदान से गिट्टी तक साफ नहीं कराई गई। इस कारण खिलाड़ी चोटिल हो गए। इसके बाद भी मैदान से गिट्टी साफ नहीं कराई गई। खिलाड़ी मैदान को खुद ही साफ करते नजर आए।

स्कूल शिक्षा विभाग की क्षेत्रीय कबड्डी प्रतियोगिता में दुर्ग और बालोद की छह टीमों ने हिस्सा लिया।

रूआबांधा के शासकीय स्कूल के मैदान में डली हुई थी जीरा गिट्‌टी, खिलाड़ियों ने जताई थी नाराजगी

गिट्‌टी भरे मैदान पर खिलाड़ी घायल होने के बाद भी खेलते रहे।

खिलाड़ियों ने खुद हटाई गिट्टी

रूआबांधा स्कूल में हुई कबड्डी प्रतियोगिता में खिलाड़ी और पीटीआई ग्राउंड देखकर नाखुश हुए। लेकिन वे खुलकर बोल नहीं सके। बालोद के पीटीआई समेत दुर्ग के भी ऑफिशियल ने दबी जुबान उन्होंने भी इसे स्वीकार किया। अंडर-14 वर्ग बालक के मैच से पहले खिलाड़ी ग्राउंड देखकर ही डर गए।

खिलाड़ियों के घुटनों से बह निकला खून

क्षेत्रीय स्तर की कबड्डी प्रतियोगिता के बालिका वर्ग के मैच में बालिकाएं चोटिल हो गईं। गिरने के कारण बालिकाओं के घुटने में गिट्टी चुभ गई। इस कारण उनके घुटनों से खून बह निकला। स्कूल शिक्षा विभाग के पास जोन-2 खुर्सीपार में इससे बेहतर मैदान उपलब्ध है, लेकिन इसके बाद भी अधिकारियों ने गिट्टी भरे मैदान पर ही प्रतियोगिता करा दी।

कई खेलों की टीमों का किया गया चयन

सोमवार को जिले में कुल 10 इवेंट हुए। जिसमें बालक बालिका शतरंज, ताईक्वांडो, कुश्ती, कुश्ती ग्रीकरोमन, नेहरू हॉक, बॉस्केटबॉल, कबड्डी और क्रिकेट प्रतियोगिता हुई। इसमें राज्य स्तरीय मुकाबलों के लिए टीम का चयन किया गया।

कबड्डी के खेल में तो लगती रहती हैं चोट

कबड्डी में चोट लगते ही रहती है। इस ग्राउंड में तो पहले भी जिला स्तरीय आयोजन हो चुका है। जहां आयोजन हमे सुविधाजनक और निर्विवाद लगता है वहां आयोजन करवाते है। तनवीर अकील, सहायक क्रीड़ा अधिकारी,

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now