• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • रिटायर डिप्टी नर्सिंग सुप्रींटेंडेंट नफीसा की मौत के मामले में शासन ने दिए जांच के आदेश, टीम गठित
--Advertisement--

रिटायर डिप्टी नर्सिंग सुप्रींटेंडेंट नफीसा की मौत के मामले में शासन ने दिए जांच के आदेश, टीम गठित

बीएसपी के पं. जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र सेक्टर-9 में रिटायर डिप्टी नर्सिंग सुप्रींटेंडेंट...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 02:15 AM IST
बीएसपी के पं. जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र सेक्टर-9 में रिटायर डिप्टी नर्सिंग सुप्रींटेंडेंट केपी नफीसा कादर की मौत पर राज्य शासन ने भी जांच के आदेश दिए हैं।

कादर की मौत सेक्टर-9 अस्पताल में इस साल 19 मार्च को हुई थी। उनके पति और शिकायतकर्ता केए अब्दुल कादर का आरोप है कि 19 मार्च को डायलिसिस के पश्चात स्वास्थ्य बिगड़ने पर डायलिसिस स्टाफ ने कादर को आईसीयू की जगह वार्ड में लाकर छोड़ दिया। जहां विशेषज्ञ डॉक्टर के उपलब्ध न होने एवं उचित चिकित्सा के अभाव में उनकी मृत्यु हो गई। उन्होंने इस बाबत सबसे पहले सेल-बीएसपी मैनेजमेंट से शिकायत की थी। इसके उपरांत मैनेजमेंट ने डायरेक्टर मेडिकल एके गर्ग को जांच अधिकारी बनाते हुए मामले की जांच के आदेश दिए थे। डॉ. गर्ग ने इस साल 11 अप्रैल और 12 मई को दो जांच रिपोर्ट दी। शिकायतकर्ता के अनुसार जांच रिपोर्ट में अलग अलग बयानों के उल्लेख एवं सूचना का अधिकार अधिनियम मंगाई गई जानकारी और रिपोर्ट में भिन्नता है। आईसीयू में 19 मार्च को बेड भी खाली था।

पूरी जांच प्रक्रिया पर असंतोष, जांच की अपील

जांच रिपोर्ट और आरटीआई की रिपोर्ट में भिन्नता

इस विरोधाभासी रिपोर्ट के चलते पूरी जांच प्रक्रिया पर असंतोष जताते हुए कादर ने संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं छत्तीसगढ़ शासन, एसपी दुर्ग से जांच की अपील की। एसपी दुर्ग के आदेशानुसार थाना प्रभारी सेक्टर-6, भिलाई ने 20 जुलाई को शिकायत की जांच की। इसके आगे की कार्यवाही के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी दुर्ग को प्रतिवेदन भेजा। जल्द इसका निराकरण किया जाएगा।

प्रतिवेदन मिलने के बाद जांच दल बनाया गया

प्रतिवेदन मिलने के बाद कादर की मौत की जांच के लिए एक समिति बनाई गई है। जांच दल प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. प्रदीप चंद्राकर हैं। मेडिकल स्पेशलिस्ट डॉ. मनोज दानी, निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. लाल मोहम्मद और पीजीएमओ (स्त्री रोग) डॉ. बीआर साहू को जांच दल सदस्य बनाया गया है। शासन का पत्र 25 जुलाई को जारी हुआ है। शिकायत की प्रतिवेदन प्रस्तुत करने कहा है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..