• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • नेहरू नगर की वारदात के अगले ही दिन ईरानी गैंग ने कोरबा में की ठगी
--Advertisement--

नेहरू नगर की वारदात के अगले ही दिन ईरानी गैंग ने कोरबा में की ठगी

बाहरी गैंग शहर में आकर वारदात को अंजाम देकर आसानी से निकल जाता है। लेकिन पुलिस को उनके आगमन की भनक तक नहीं लगती है।...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 02:20 AM IST
बाहरी गैंग शहर में आकर वारदात को अंजाम देकर आसानी से निकल जाता है। लेकिन पुलिस को उनके आगमन की भनक तक नहीं लगती है। गुरुवार को घंटेभर के अंदर दो वारदातों को अंजाम देने वाले ईरानी गैंग के सदस्यों की सक्रियता अगले ही दिन कोरबा में दिखाई दी।

यहां भी उन्होंने उसी पैटर्न पर करीब दो लाख से ज्यादा की ठगी की। जबकि पुलिस के ही मुताबिक जिले से सटे रायपुर और राजनांदगांव में गैंग पहले भी कई वारदातों को अंजाम दे चुके थे। वहीं, घटना के अगले दिन छानबीन में जुटी पुलिस और क्राइम टीम को अभी तक कोई सुराग नहीं मिला।

महाराष्ट्र के वाहन का करते हैं हमेशा उपयोग

टीआई गौरव तिवारी के मुताबिक, चैन स्नैचिंग और महिलाओं के साथ ठगी में इस गैंग को काफी महारत हासिल है। उन्होंने बताया कि वारदात के लिए निकलते समय आरोपी चार पहिया वाहन और करीब दो से तीन बाइक का इस्तेमाल करते हैं। चार पहिया वाहन का नंबर अधिकतर महाराष्ट्र के भिवंडी या उसके उसके आसपास के क्षेत्र के आरटीओ से पास होता है। उनका कहना था कि गुरुवार सुबह नेहरू नगर क्षेत्र में हुई वारदात के बाद ऐसी लाल कलर की टवेरा देखी गई है। इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराकर जांच की जा रही है।

एक जगह रूककर नहीं देते वारदात को अंजाम

टीआई गौरव तिवारी ने बताया कि प्रदेशभर में राजधानी में ईरानी गैंग की सक्रियता सबसे ज्यादा रही। यहां गैंग ने दर्जनभर से ज्यादा वारदातों को अंजाम दिया था। इस बीच गैंग के काफी सदस्य पकड़े भी गए थे। उनका कहना था कि इस गैंग के सदस्य किसी एक स्थान पर रुककर वारदात को अंजाम नहीं देते हैं। ये जिले से दूसरे जिले में रोटेट करते रहते हैं। उनका कहना था कि मूलतः: महाराष्ट्र से आए इस गैंग के लोग वारदात को अंजाम देने के लिए अपने निजी वाहन का उपयोग करते हैं। इसके अलावा हमेशा निजी वाहनों से ही वारदात को अंजाम देते हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..