Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» देश की रक्षा में शहीद सिपाही के परिवार के लिए इससे बड़ा गौरव कुछ नहीं:आईजी

देश की रक्षा में शहीद सिपाही के परिवार के लिए इससे बड़ा गौरव कुछ नहीं:आईजी

भिलाई में शहीद युगल किशोर वर्मा की याद में एक कार्यक्रम आयोजित किया। जहां उनके परिजनों का सम्मान किया गया और शहीद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 02:20 AM IST

देश की रक्षा में शहीद सिपाही के परिवार के लिए इससे बड़ा गौरव कुछ नहीं:आईजी
भिलाई में शहीद युगल किशोर वर्मा की याद में एक कार्यक्रम आयोजित किया। जहां उनके परिजनों का सम्मान किया गया और शहीद युगल किशोर से जुड़ी यादों को साझा किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दुर्ग रेंज आईजी जीपी सिंह थे।

उन्होंने कहा देश और जनता की रक्षा करते हुए शहीद होने वाले वालों की भावी पीढ़ियां तक अमर हो जाती हैं। यह गौरव किस्मत वालों को ही मिलता है। जंगल में सिपाही से लेकर कमांडर तक खतरा सबके लिए एक जैसा होता है। दुश्मन की गोली आपका नाम पता नहीं पूछती और किसी का लिहाज भी नहीं करती। आईजी सिंह ने कहा, युगल किशोर पुलिस फोर्स का होनहार साथी था। उसमें नेतृत्व की क्षमता गजब थी। उनकी कमी हमेशा खलती रहेगी।

भिलाई के निजी होटल में शहीद युगल किशोर वर्मा के परिवार का सम्मान हुुआ।

शहीद के सम्मान में किया आयोजन, सौभाग्य की बात

कार्यक्रम के सूत्रधार समाजसेवी सुभाष साव ने कहा कि शहीद के सम्मान में यह आयोजन करना उनके लिए सौभाग्य का विषय है। कार्यक्रम को कांग्रेस नेता धर्मेंद्र यादव, मोहनलाल गुप्ता, केशव चौबे, कन्हैयालाल सोनी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम समाजसेवी सुभाष साव ने रखा था।

पिता गर्व से बोल- मेरे तीनों बेटे पुलिस सेवा में थे

इस अवसर पर शहीद के पिता शिव वर्मा, माता यशोदा, प|ी माधुरी एवं पुत्र आदित्य सहित बड़ी संख्या में परिजन उपस्थित थे। शिव वर्मा ने बताया कि उनके तीनों पुत्र पुलिस सेवा में थे। छोटे पुत्र की शहादत के बाद उनकी प|ी को भी पुलिस में अनुकंपा नियुक्ति दी। परिवार अब रायपुर में रह रहा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×