Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» चीफ सेक्रेटरी सिंह ने अफसरों से पूछा- आखिर डेंगू इतना कैसे फैल गया? जिम्मेदार नहीं दे सके जवाब

चीफ सेक्रेटरी सिंह ने अफसरों से पूछा- आखिर डेंगू इतना कैसे फैल गया? जिम्मेदार नहीं दे सके जवाब

नगर निगम भिलाई ने डेंगू के रोकथाम के लिए कूलर से पानी खाली करवाया। इसके लिए निगम की टीम ने कैंप इलाके में विशेष...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 11, 2018, 02:20 AM IST

चीफ सेक्रेटरी सिंह ने अफसरों से पूछा- आखिर डेंगू इतना कैसे फैल गया? जिम्मेदार नहीं दे सके जवाब
नगर निगम भिलाई ने डेंगू के रोकथाम के लिए कूलर से पानी खाली करवाया। इसके लिए निगम की टीम ने कैंप इलाके में विशेष अभियान चलाया। खुर्सीपार की तरह यहां के हर दूसरे घरों में कूलर है। जहां डेंगू का लार्वा मिला। कलेक्टर उमेश अग्रवाल, आयुक्त केएल चौहान सुबह से ही इस काम को खड़े होकर करवाया। उन्होंने कहा, सभी अपने-अपने घरों के कूलर का पानी खाली कर दें।

डेंगू का डंक

15 हजार से ज्यादा घरों के कूलर की जांच में मिला लार्वा, आप भी कर लें सफाई

अब तक10 की मौत

निगम ने दो पाली में शुरू की सफाई

रोकथाम के लिए आपकी पहल जरूरी

जून में मिला था पहला केस, जिम्मेदारों ने ट्रेस तक नहीं किया, इसलिए बिगड़े हालात

सीएस ने रिव्यू किया तो सामने आया यह सच..

प्रशासनिक रिपोर्टर | भिलाई

शहर में डेंगू का पहला मरीज जून में ही मिल गया था। इसकी जानकारी सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग को थी। तब स्वास्थ्य विभाग ने नगर निगम भिलाई और बीएसपी मैनेजमेंट को बताना तो दूर उस मरीज को भी ट्रेस नहीं किया। स्थिति ये हुई कि जून से 15 जुलाई तक डेंगू के मच्छर से उसका वायरस पूरे खुर्सीपार और टाउनशिप में फैल गया। इसलिए डेंगू के ये हालात बने।

इसका खुलासा शुक्रवार को हुआ। जब चीफ सेक्रेटरी अजय सिंह प्रशासनिक अमले की डेंगू के रोकथाम को लेकर रिव्यू मीटिंग ले रहे थे। सीएस सिंह ने पूछा, आखिर डेंगू इतना भयावह कैसे हो गया? 10 लोग कैसे मर गए?‌ ठोस जवाब किसी के पास नहीं था। तभी हेल्थ डिपार्टमेंट के अफसर और कलेक्टर ने अपनी स्टडी रिपोर्ट बताई। रिपोर्ट में सीएस को बताया कि, सबसे पहला केस जून में मिला था। उसके यहां कूलर था। वह झारखंड से डेंगू लेकर आया था। उसी की वजह से पूरे खुर्सीपार और टाउनशिप इलाके में डेंगू का प्रकोप फैला। इसलिए अब सवाल उठता है कि डेंगू का पहला केस जून में ही मिल गया था तब किसी ने इसके रोकथाम के लिए कदम क्यों नहीं उठाए।

आयुक्त से पूछा- शहर की सफाई में कहां हुई चूक

सीएस अजय सिंह ने खुर्सीपार इलाके का दौरा किया। तब आयुक्त से चर्चा की।

सीएस ने सभी से पूछा- डेंगू प्रकोप से पहले व अभी रोकथाम के आपने ने क्या कदम उठाया

सीएस सिंह को जवाब देने नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग और बीएसपी ने काम का प्रेजेंटेशन दिया, उनके जवाबों की हकीकत जानने की कोशिश हमने की, जानिए क्या है...

विभाग

नगर निगम: आयुक्त ने सीएस को बताया कि शहर की सफाई व्यवस्था सुचारू रूप से चल रही है। पूरी टीम सफाई कर रही है। कूलर की वजह से डेंगू का प्रकोप है।

बीएसपी: मई-जून से डेंगू को लेकर कैंपेनिंग शुरू किए। घरों में जाकर कूलर से पानी खाली करवाया। पंपलेट बांटे। बैकलाइन की सफाई की। झाड़ियों की कटाई की।

स्वास्थ्य विभाग: सभी अस्पतालों में पर्याप्त दवा थी। मोबाइल टीम ने लगातार श्रमिक बस्तियों में कैंप लगाया।लोगों को बेहतर उपचार के लिए सभी उपाय किए गए।

हकीकत

खुर्सीपार इलाके के हर वार्ड में गंदगी की शिकायत पार्षद करते रहे हैं। जहां मौतें हुई, वहां निगम का अमला गया ही नहीं था। अवेयरनेस प्रोग्राम तक निगम ने खानापूर्ति के लिए चलाया।

डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन में बीएसपी ठप रहा। बारिश से पहले झाड़ियों की कटाई नहीं कर पाए। मई-जून से टाउनशिप में संक्रमित बीमारियाों को रोकने काम नहीं हुआ।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डेंगू जैसे संक्रमित बीमारियों के रोकथाम के लिए कुछ किया नहीं। यहां तक अस्पतालों में जांच के लिए कुछ सुविधा तक नहीं मुहैया नहीं कराए।

सभी ब्लड बैंक में रखें पर्याप्त ब्लड डेंगू के मरीज को दें प्राथमिकता

चीफ सेक्रेटरी सिंह ने जिले के पांच प्रमुख ब्लड बैंक संचालकों की मीटिंग भी ली। सीएस ने कहा, सभी अपना स्टॉक पूरा रखें। डेंगू के मरीजों को तत्काल ब्लड देना है। स्टॉक मेंटेन करके रखिए। ब्लड सुरक्षित तरीके से निकाले। सभी ब्लड बैंक रोजाना रिपोर्ट देंगे कि उन्होंने किस अस्पताल को कितना ब्लड दिया। मीटिंग में सभी पांच प्रमुख ब्लड बैंक के संचालक मौजूद रहें।

सफाई ठेके पर भी बोले सीएस, क्यों नहीं हुआ ठेका, इसकी लेता हूं खबर

पत्रकारों से बात करते हुए सीएस सिंह ने कहा कि, डेंगू के रोकथाम के लिए रिव्यू मीटिंग किया है। सभी को जरूरी निर्देश दिए गए हैं। डेंगू कैसे हुई, इसका अध्ययन किया गया है। लोगों ने कूलर का पानी खाली नहीं किया था। शहर की सफाई का ठेका न होने के कारण वैकल्पिक व्यवस्था की होगी। ठेका क्यों नहीं हुआ, इसके बारे में मैं जानकारी लेता हूं।

निर्देश भी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×