Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» तानाशाही रवैये के खिलाफ काम बंद करने दी चेतावनी

तानाशाही रवैये के खिलाफ काम बंद करने दी चेतावनी

नाराज होकर स्टील एम्पलाइज यूनियन के सदस्य इंटक कार्यालय में पहुंचे। सिटी रिपोर्टर|भिलाई संयंत्र के सीसीएस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 02:21 AM IST

तानाशाही रवैये के खिलाफ काम बंद करने दी चेतावनी
नाराज होकर स्टील एम्पलाइज यूनियन के सदस्य इंटक कार्यालय में पहुंचे।

सिटी रिपोर्टर|भिलाई

संयंत्र के सीसीएस आपरेशन में काम करने वाले अटेंडेंट विभागीय प्रबंधन की मनमानी से नाराज होकर स्टील एम्पलाइज यूनियन इंटक कार्यालय पहुंचे। परेशानी बताते हुए कहा कि विभाग में अटेंडेंट का काम ही निर्धारित नहीं है। विभागीय प्रबंधन गुलामों जैसा व्यवहार कर रहा है। इसके कारण विभाग के कर्मी अत्यधिक तनाव है। कभी भी विस्फोटक स्थिति बन सकती है। इंटक महासचिव एस के बघेल ने कहा कि विभागीय प्रबंधन अपनी तानाशाही रवैये में सुधार नहीं किया तो इसके गंभीर परिणाम होंगे। जिसका खामियाजा पूरे संयंत्र को भुगतना पड़ेगा।

कंटीन्युअस कास्टिंग शॉप आपरेशन के कर्मियों ने कहा कि यहां पिघलते लोहे के बीच अत्यधिक गर्म स्थिति में काम करना पड़ता है। विभागीय अधिकारी अटेंडेंट से ही कास्टर का भी काम कराते है और अटेंडेंट का भी काम कराते है। विभाग में कास्टर का पद भरा नहीं जा रहा, अटेंडेंट से पावडर बोरी लाना, हीट खोलना, कास्टिंग का काम कराना, सहित विभाग का सभी काम लिया जा रहा है। अधिकारियों से कहने पर ट्रांसफर करने की धमकी देते हैं। दुर्व्यवहार भी करते हैं।

इंटक महासचिव एस के बघेल ने कहा कि संयंत्र में सीसीएस सहित कुछ विभागों में कुछ ऐसे जगह हैं, जहां कर्मचारी हीट की वजह से लगातार काम नहीं कर सकते। इसे देखते हुए इंटक यूनियन के समय से एक रोटेशन की व्यवस्था बनाई थी, लेकिन4-5 वर्षों में प्रबंधन का रवैया तानाशाही होता चला गया, जिससे पूरी व्यवस्था चरमरा गई है। इंटक यूनियन शीघ्र प्रबंधन से चर्चा कर यहां मैनपॉवर बढ़ाने एटेंडेंट का आपरेशन एरिया की परिस्थिति के हिसाब से काम निर्धारित करने की मांग करेंगे। यदि प्रबंधन इस समस्या का शीघ्र समाधान नहीं निकाला एवं अधिकारी अपने व्यवहार नहीं बदले तो यूनियन कड़ा कदम उठाएगी। इस दौरान बघेल के साथ एनएस बंछोर, आरके पांडेय, संतोश साव, वंश बहादुर सिंह, ए के विश्वास, शेखर शर्मा, वीरेंद्र साहू, ज्ञान प्रकाश धुरंधर आदि शामिल थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×