Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» सड़क चौड़ी करने 30 साल पुराने कब्जों पर कार्रवाई, आज भी निगम चलाएगा अभियान

सड़क चौड़ी करने 30 साल पुराने कब्जों पर कार्रवाई, आज भी निगम चलाएगा अभियान

हैवी ट्रैफिक को देखते हुए शहर की सड़क तक हुए अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई शुरू हो गई है। सोमवार को इसी दिशा में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:25 AM IST

सड़क चौड़ी करने 30 साल पुराने कब्जों पर कार्रवाई, आज भी निगम चलाएगा अभियान
हैवी ट्रैफिक को देखते हुए शहर की सड़क तक हुए अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई शुरू हो गई है। सोमवार को इसी दिशा में निगम ने कब्जा हटाने के लिए नंदिनी रोड और एसआर अस्पताल से लगे इलाके में कब्जा हटाया। यहां इंडस्ट्रीयल एरिया में इंट्री करने वाली सड़क बन रही है। साथ ही नंदिनी रोड से एसीसी चौक जामुल व बोगदा पुल तक भी सड़क बनेगी। उससे पहले कब्जा हटाया जा रहा है।

सोमवार को निगम की टीम ने 6 घंटे तक कब्जा हटाया। पहले दिन करीब 10 दुकानों को हटाया गया। वहीं सड़क किनारे वाली जमीन ग्रीन लैंड व पट्टेधारियों की है। जिसको लेकर बवाल भी हुआ। यह जमीन उद्योग विभाग की है। जहां उद्योग स्थापित करना था। लेकिन 20 साल से पहले यहां कब्जा हो गया है। निगम की दो जेसीबी सुबह से पक्की दुकानों को तोड़ने में लगे रहे। दिन भर में करीब 10 दुकानों को तोड़ा गया है और आने वाले दिनों में भी कार्रवाई की जाएगी। मौके पर उद्योग विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे। उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा।

मेयर देवेंद्र यादव भी नंदिनी रोड से हटाने वाले कब्जों की खबर सुनकर पहुंच गए। मेयर को देख व्यापारियों ने अपनी व्यथा बताई। इस पर मेयर ने उद्योग विभाग के अफसरों से चर्चा की। उन्हें व्यवस्थापन के लिए जानकारी मांगी। इस दौरान पुलिस बल भी मौजूद था। निगम व उद्योग विभाग की टीम ने इस कार्रवाई के लिए काफी पहले ही तैयारी कर ली थी। लोगों को कब्जा खाली करने नोटिस भी दिया था।

75 दुकानों को तोड़ने निगम ने दिया नोटिस

10 पक्की दुकानों को निगम ने जेसीबी से तोड़ा

उद्योग व ग्रीनलैंड के लिए आरक्षित थी जमीन, 6 घंटे चला अभियान

निगम की टीम ने नंदिनी रोड और इंडस्ट्रीयल एरिया को जोड़ने वाली सड़क के लिए कब्जा हटाया। करीब 10 बिल्डिंग के कब्जे को तोड़ा गया।

नंदिनी रोड के व्यापारियों ने किया विरोध, मेयर ने पूछा- व्यवस्थापन कहां

निगम की कार्रवाई का विरोध यहां के व्यापारियों ने किया। इस कार्रवाई से क्षेत्र के लोग और खास कर व्यापारी काफी नाराज रहे। व्यापारियों में काफी आक्रोश था। लोग इस कार्रवाई से पहले प्रशासन से बात करना चाह रहे थे। लेकिन प्रशासन ने करीब 15 दिन पहले नोटिस जारीकर सीधे कार्रवाई कर दी। बात भी नहीं की। पुलिस प्रशासन ने मामले का संभाला। यहां मेयर भी लोगों की ओर से मैदान पर उतरे। उन्होंने भी व्यापारियों और आम जनों का सपोर्ट किया और कहा कि प्रशासन को इतनी जल्दी क्या है। जब लोग बात करना चाह रहे हैं तो बात कर लेना चाहिए।

एक नजर सड़क निर्माण और वहां के कब्जों पर

30 मीटर चौड़ी होगी एसीसी चौक-बोगदा पुलिस जामुल जाने वाली सड़क।

2 किलोमीटर लंबाई है सड़क की।

75 से अधिक मकान और दुकान बन गए हैं दोनों तरफ बोगदा पुल तक।

15-15 मीटर चौड़ी होगी सड़क।

15 अप्रैल तक कब्जा खाली करने दिया था अल्टीमेटम।

रायपुर की तरह यहां भी किया जाएगा सौंदर्यीकरण

इस मार्ग की दोनों ओर कब्जे हो गए है। कई बड़े उद्योगपति व व्यापारी कब्जा कर दुकान बनाकर किराए पर चढ़ा कर लाखों रुपए कमा रहे हैं। इन सभी अवैध कब्जे है तोड़कर पावर हाउस से एसीसी चौक नंदिनी रोड तक सौंदर्यीकरण किया जाएगा। राजधानी रायपुर की तर्ज पर सौंदर्यीकरण आकर्षक बनाने की योजना बनाई गई है। रोड के किनारे की रिटेनिंग वाल बनाया जाएगा।

व्यवस्थापन के बारे में भी विचार करे उद्योग विभाग...

नंदिनी रोड से कब्जा हटाने से पहले उद्योग विभाग व्यवस्थापन के बारे में विचार करना चाहिए। वहां पट्टाधारी लोग है और पुराने व्यापारी भी। उद्योग विभाग के पास इसके लिए कोई प्लानिंग नहीं है। लोगों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। देवेंद्र यादव, मेयर, भिलाई

स्टाफ क्वार्टर के लिए कर लिया था जमीन पर कब्जा

करूणा हास्पिटल नंदिनी रोड के पीछे व्यापार एवं जिला उद्योग विभाग की जमीन पर बने दुकानों को ढहाया गया। जिला व्यापार एवं उद्योग विभाग ने नंदिनी रोड ग्रीन लैंड के कब्जाधारियों को नोटिस जारी कर 15 अप्रैल तक कब्जा हटा लेने कहा था। इसके बावजूद किसी ने कब्जा नहीं हटाया। जिला प्रशासन, उद्योग विभाग, पुलिस और निगम की टीम सोमवार को सुबह अतिक्रमण हटाने पहुंची।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×