• Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • लक्की ड्रॉ में कार मिलने के लालच देकर ठग लिए 59 हजार रुपए
--Advertisement--

लक्की ड्रॉ में कार मिलने के लालच देकर ठग लिए 59 हजार रुपए

लक्की ड्रॉ में साढ़े बारह लाख की कार का लालच सेक्टर-11 खुर्सीपार निवासी अनिल सांखरे को भारी पड़ गया। ऑनलाइन कमर्शियल...

Danik Bhaskar | Aug 12, 2018, 02:25 AM IST
लक्की ड्रॉ में साढ़े बारह लाख की कार का लालच सेक्टर-11 खुर्सीपार निवासी अनिल सांखरे को भारी पड़ गया। ऑनलाइन कमर्शियल कंपनी स्नेपडील से प्रोडक्ट मंगाने वाले सांखरे को एसएमएस आया कि लक्की ड्रॉ में टाटा सफारी कार उन्होंने जीती है। यह सुनकर अनिल को लालच आ गया। इस बीच खुद को कंपनी का प्रतिनिधि बताने वाले शातिरों ने उनसे प्रोसेसिंग फीस और जीएसटी के एवज में 59 हजार रुपए अपने अकाउंट में ट्रांसफर करा लिए। पीड़ित ने ठगी की शिकायत एसपी ऑफिस में की थी। जांच के बाद छावनी पुलिस ने आरोपी दीपक वर्मा, रोहित राज और आरके माथुर के खिलाफ मामला दर्ज किया।

ऑनलाइन कमर्शियल कंपनी से की थी खरीदी

पीड़ित से ऐसे की शातिरों ने ठगी

4 अगस्त को पीड़ित को लक्की ड्रॉ में टाटा सफारी मिलने का एसएमएस आया। अगले दिन ही फोन आया कि गाड़ी के कागजात एवं प्रोसेसिंग शुल्क के मुझे 15 हजार 500 रुपए जमा कराने होंगे। बिहार के असरगंज मुंगेर की एसबीआई ब्रांच में रोहित राज के खाते में पैसा डालने के लिए कहा गया। पैसा डालते ही एसएमएस आया कि प्रोसेसिंग फीस का पैसा आ गया है। लेकिन आरबीआई टैक्स के लिए पेमेंट न करने पर आपका साढ़े बारह लाख रोक दिया गया है। इस पर उसने 25 हजार की रकम भी जमा दी।

तीन बार बदमाशों ने डलवाए खाते में पैसे

छावनी पुलिस ने बताया कि पहले प्रोसेसिंग फीस फिर आरबीआई टैक्स के रूप में 40 हजार 500 गंवाने के बाद भी पीड़ित को अपने को छले जाने का अहसास नहीं हुआ। इसके बाद ठगी करने वालों ने टीडीएस के रूप में 18 हजार 500 रुपए मांगे । उसे भी अनिल सांखरे ने आरोपियों के बताए खाते में डाल दिए। इसके बाद फिर एक एसएमएस आया कि आपने पैसे जमा करने में काफी लेट कर दिया है। ऐसे में उसे 37 हजार 500 रुपए जमा कराने होंगे। तब जाकर पीड़ित को अपने साथ ठगी का अहसास हुआ।