• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • शहर में डेंगू से 10 लोगों की मौत के बाद प्लेटलेट काउंट करने वाली मशीन को सुपेला अस्पताल में किया शिफ्ट
--Advertisement--

शहर में डेंगू से 10 लोगों की मौत के बाद प्लेटलेट काउंट करने वाली मशीन को सुपेला अस्पताल में किया शिफ्ट

स्वास्थ्य विभाग के पास प्लेटलेट काउंट करने की अतिरिक्त सरकारी मशीन रहते हुए उसे 10 लोगों की मौत के बाद लाल बहादुर...

Dainik Bhaskar

Aug 10, 2018, 03:20 AM IST
शहर में डेंगू से 10 लोगों की मौत के बाद प्लेटलेट काउंट करने वाली मशीन को सुपेला अस्पताल में किया शिफ्ट
स्वास्थ्य विभाग के पास प्लेटलेट काउंट करने की अतिरिक्त सरकारी मशीन रहते हुए उसे 10 लोगों की मौत के बाद लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल पहुंचाया गया। करीब चार दिनों पूर्व इसे जिला अस्पताल के डीआईसी से सुपेला भेजने के स्पष्ट निर्देश के बाद सीएमएचओ डॉ. सुभाष पांडेय और सीएस डॉ. के के जैन के बीच, वित्तीय पेंच में यह मशीन अब तक वहीं अटकी रही।

गुरुवार को इस मामले में सिविल सर्जन केके जैन और डीआईसी प्रभारी डॉ. सुदामा चंद्राकर दोनों एक दूसरे की जिम्मेदारी बताते हुए अपना पल्ला झाड़ते रहे। इस मामले की पड़ताल में पता चला कि मशीन में जांच के लिए इस्तेमाल होने वाला कैमिकल नहीं है। 10 से 15 हजार में मिलने वाला यह कैमिकल किस मद में खरीदा जाएगा? इसी को लेकर दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने गुरुवार की सुबह तक मशीन को ताले में बंद कर रखा हुआ था। दो घंटे में सभी वित्तीय अड़चनें दूर करते हुए तीन दिनों पूर्व सुपेला अस्पताल पहुंचने वाली मशीन, दस लोगों की मौत के बाद गुरुवार को दोपहर कैमिकल के साथ पहुंचा दी गई। बता दें कि, दैनिक भास्कर ने बुधवार को ही प्लेटलेट काउंट करने वाली मशीन के संबंध में प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग जागा और मशीन को सुपेला अस्पताल शिफ्ट करने का फैसला लिया। लेकिन अब भी एक पड़ाव इसका बाकी रह गया है। फिलहाल यह मशीन सुपेला पहुंच चुकी है।

मशीन जो इस्तेमाल करेगा वही उसका कैमिकल खरीदेगा...


मशीन तो ले आए लेकिन जांचने वाले कैमिकल का पता नहीं...

सुपेला अस्पताल में प्लेटलेट काउंट करने के लिए मशीन लाई गई है। यह मशीन पहले आ जानी थी, मगर स्वास्थ्य महकमे में दो विभाग के जिम्मेदारों के बीच में यह मामला फंसा हुआ था। अब इसके लिए कैमिकल कहां से आएगा, यह किसी को पता नहीं।

असर: मशीन के अभाव में दो दिन किसी का नहीं जांचा प्लेटलेट

प्लेटलेट काउंट करने की यह मशीन डेंगू कंट्रोल करने के लिए बनी समिति और ज्वाइंट डायरेक्टर हेल्थ गंभीर सिंह के अनुसार छह अगस्त को ही सुपेला अस्पताल में लगा दी जानी थी। नहीं लगने के कारण डेंगू के किसी भी मरीज का प्लेटलेट काउंट नहीं हो सका तो सात अगस्त को प्रभारी सुपेला अस्पताल डॉ. बीपी तिवारी ने निजी पैथालॉजी सेंटर से समझौता किया। इसके तहत दो दिनों में 113 डेंगू मरीजों की प्लेटलेट जांच कराई गई। इसमें 17 मरीजों का प्लेटलेट कम मिला। एक दिन पहले वैशालीनगर विधायक विद्यारतन भसीन ने सुपेला अस्पताल का जायजा लिया था। तब उन्होंने दुरूस्त करने कहा था।

अगर पहले मिल जाती मशीन तो शायद डेंगू को कंट्रोल करने में मिलती मदद, लेकिन सीएस और जिला अस्पताल के डीआईसी के बीच फंसा था पेंच, अब झाड़ रहे हैं पल्ला

सरकारी अस्पतालों की जांच में 4 दिनों डेंगू के इतने मरीज

93

19

डेंगू प्रभावित क्षेत्रों में मेयर ने देखा रोकथाम का काम, खाली करवाया कूलर का पानी

डेंगू के कहर को रोकने शहर सरकार गंभीर है। मेयर देवेंद्र यादव सुबह से डेंगू प्रभावित इलाकों में पहुंचे। जहां लोगों को अवेयर किया। इस दौरान मेयर ने अधिकांश घरों में कूलर का पानी खाली कराया। खुद इस काम को करते दिखे। डेंगू को गंभीरता से लेते हुए मेयर ने खुद का मोबाइल नंबर जारी किया है। कहा है कि, लोग सीधे मुझसे बात कर सकते हैं। मैं हमेशा जनता के लिए एवलेबल हूं।

मेयर देवेंद्र यादव ने शाम को कलेक्टर उमेश अग्रवाल से मुलाकात की। इस दौरान मेयर ने कलेक्टर से विशेष अमले की मांग की। कलेक्टर ने आश्वास्त किया कि शुक्रवार से अभियान दुरूस्त होगा।

सीएमएचओ ने नहीं दिया डीआईसी का बजट, इसलिए देरी


मरीज लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में।

40

मरीज पीएचसी बैकुंठधाम व छावनी में।

मरीज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खुर्सीपार में।

मरीज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, बापूनगर में।

42

विपक्ष ने की सामान्य सभा बुलाने मांग

भाजपा पार्षद पीयूष मिश्रा ने डेंगू के रोकथाम को लेकर चर्चा सामान्य सभा बुलाने की मांग की है। पीयूष ने सभापति से कहा, शहर में डेंगू का प्रकोप बढ़ रहा है। मौतें हो रही है। इसलिए आम जनता को राहत देने के लिए सामान्य सभा में जरूरी फैसले लिए जाए। सीनियर पार्षद वशिष्ठ नारायण मिश्रा ने भी इसकी मांग की है।

डेंगू प्रभावित 21 वार्डों में आज से 1 हजार अतिरिक्त सफाईकर्मी, कचरा उठाने लगाए जाएंगे 30 ट्रैक्टर

डेंगू के बढ़ते कहर के बाद निगम प्रशासन भी जाग गया है। आज से डेंगू प्रभावित 21 वार्डों में निगम द्वारा सफाई कार्य के लिए अतिरिक्त मैनपॉवर लगाया जाएगा। दो पाली में सफाई होगी। एक हजार अतिरिक्त कर्मचारी काम करेंगे। वहीं कचरा उठाने के लिए 30 ट्रैक्टर लगाया गया है। यही नहीं, डेंगू के रोकथाम के लिए जागरूकता रैली भी निकाली जाएगी।

यह सब गुरुवार को तय हुआ। जब आयुक्त केएल चौहान की ओर से इसका प्रस्ताव मेयर इन काउंसिल में आया। प्रभारी मेयर नीरज पाल और स्वास्थ्य विभाग के चेयरमैन लक्ष्मीपति राजू समेत अन्य सदस्यों ने मंजूरी दी। यह शुक्रवार से लागू होगा।

अब लगा दी गई है प्लेटलेट काउंट करने की मशीन


डेंगू से मौत होने पर जिम्मेदार अधिकारियों पर हो कार्रवाई

डेंगू से हो रही मौतों पर विरोध जताते हुए सिविल सोसायटी के सदस्यों ने सुपेला चौके में प्रदर्शन किया। उन्होंने डेंगू की रोकथाम के लिए कारगर कदम उठाने की मांग की। सिविल सोसायटी के सदस्यों ने इस संबंध में संभाग अायुक्त से भी शिकायत की। उन्होंने सेक्टर 9 अस्पताल में स्मार्ट कार्ड की सुविधा चालू करने, डेंगू से मौत होने पर जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग भी की। सोसायटी के सचिव मेहरबान सिंह ने आरोप लगाया कि डेंगू से अब तक 10 मौतें हो चुकी हैं, इसके बाद भी प्रशासन इसकी रोकथाम के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है। प्रदर्शन करने वालों में विश्व र| सिन्हा, अजित रोहित, निखिल, पुरषोतम, रउफ अंसारी, अमजद, चुरामन साहू, देवेंद्र सतपति, नवजोत आदि शामिल थे।

इन वार्डों में चलेगा अभियान

निगम आयुक्त चौहान ने बताया कि निगम क्षेत्र के अंतर्गत प्रभावित वार्ड में नियंत्रण के लिए वार्ड 4, 5, 6, 8, 9, 12, 17, 18, 19, 20, 21, 22, 25, 26, 28, 29, 30, 32, 36, 37 और 38 में सीएमएचओ ने जानकारी दी है। उनके अनुसार संबंधित कार्य योजना तैयार की गई है। निगम द्वारा वृहद रुप से इन प्रभावित क्षेत्रों के लिए 1000 श्रमिक, 30 ट्रैक्टर, फॉगिंग मशीन, चिकित्सा शिविर, पंपलेट बैनर, पोस्टर, मैलाथियान का छिड़काव, नाले, नालियों की सफाई के साथ-साथ, आंगनबाड़ी, मितानिन, कालेजों के छात्र-छात्राएं, समाज सेवी संगठन, निगम के अधिकारी-कर्मी रैली निकालेंगे।

शहर में डेंगू से 10 लोगों की मौत के बाद प्लेटलेट काउंट करने वाली मशीन को सुपेला अस्पताल में किया शिफ्ट
X
शहर में डेंगू से 10 लोगों की मौत के बाद प्लेटलेट काउंट करने वाली मशीन को सुपेला अस्पताल में किया शिफ्ट
शहर में डेंगू से 10 लोगों की मौत के बाद प्लेटलेट काउंट करने वाली मशीन को सुपेला अस्पताल में किया शिफ्ट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..