Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» बूट कैंप में इंजी. छात्रों ने नई इंडस्ट्री लगाने 86 आइडिया दिए, जिले में 23 नवाचारी उद्योग लगे

बूट कैंप में इंजी. छात्रों ने नई इंडस्ट्री लगाने 86 आइडिया दिए, जिले में 23 नवाचारी उद्योग लगे

भिलाई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी के सभागार में हुई वर्कशॉप में इंजीनियरिंग के स्टूडंेट्स ने भाग लिया।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 13, 2018, 03:20 AM IST

बूट कैंप में इंजी. छात्रों ने नई इंडस्ट्री लगाने 86 आइडिया दिए, जिले में 23 नवाचारी उद्योग लगे
भिलाई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी के सभागार में हुई वर्कशॉप में इंजीनियरिंग के स्टूडंेट्स ने भाग लिया।

राष्ट्रीय स्तर पर किया जाएगा नए आइडिया का चयन, 21 को स्पर्धा

स्टार्ट अप योजना के लिए नए आइडिया लेने प्रदेश के 16 जिलों में बूट कैंप लगाने के बाद राज्य स्तर पर 21 अगस्त को प्रतियोगिता होगी। प्रदेशभर के जिलों से नवाचार वाले आइडिया को शार्ट लिस्ट करने के बाद राज्य स्तर पर मिलने वाले बेस्ट आइडिया का चयन किया जाएगा। स्टार्ट अप के चयनित आइडिया को केंद्र सरकार को भेजा जाएगा। इसके बाद राष्ट्रीय स्तर पर नए उद्योग के आइडिया का चयन किया जाएगा।

केंद्र सरकार करेगी उद्योग का रजिस्ट्रेशन

राष्ट्रीय स्तर पर नए उद्योगों के आइडिया का चयन होने पर भारत सरकार की औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग में नवाचार उद्योग का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। चयनित उद्योगों के लिए लैंड एलाटमेंट, इंसेंटिव, उद्योग स्थापना के लिए पूंजी स्थापना और सब्सिडी सहित अन्य योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।

अब तक दुर्ग जिले में शुरू हो चुकी हैं कई स्टार्ट-अप इंडस्ट्री

दुर्ग जिले में हेल्थ सर्विसेस से लेकर एग्रीकल्चर सेक्टर में कई स्टार्ट अप इंडस्ट्री शुरू हो चुकी हैं। धमधा में फ्रोजन मशरूम, रवेलीडीह में गोमूत्र से मेडिसिन बनाने का उद्योग, धनिया लहसुन, मिर्ची की चटनी व अन्य फूड आइटम बनाने उद्योग, वाहनों के टूल्स की 3 डी इमेज से संबंधित इंडस्ट्री, मोल्डिंग पाइप जैसे उद्योग स्टार्ट अप योजना के तहत शुरू हो गए हैं। अन्य उद्योग लगाने की प्रक्रिया चल रही है।

दुर्ग जिले में स्टार्ट अप योजना का तेजी से हो सकता है विस्तार

इधर भिलाई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी के सभागार में हुई वर्कशॉप के मुख्य अतिथि स्वामी विवेकानंद टेक्निकल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. एमके वर्मा थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत के सीईओ गौरव सिंह ने की। विशेष अतिथि बीआईटी के प्रिंसिपल श्री अरोरा, स्टार्ट अप योजना के प्रभारी अमित शर्मा उपस्थित थे। स्टार्ट अप प्रभारी अमित शर्मा ने कहा कि दुर्ग जिला औद्योगिक रूप से विकसित जिला है। जिले में संसाधन और बाजार की उपलब्धता के कारण यहां स्टार्ट अप योजना का तेजी से विस्तार हो सकता है। इंजीनियरिंग और साइंस के स्टूडेंट्स को कॉलेजों में ही उद्योग स्थापना के लिए मार्गदर्शन मिलना चाहिए।

प्रदेश में दुर्ग जिले को आदर्श स्टार्ट हब के रूप

इंडस्ट्रियल सेक्टर में नवाचार को प्रोत्साहन देने के लिए स्टार्ट अप बूट कैंप लगाए जा रहे हैं। दुर्ग जिले के इंजीनियरिंग छात्रों से नए आइडिया लिए गए। जिला एजुकेशन हब है। स्टूडेंट लाइफ में ही उद्योग स्थापना के लिए स्टार्ट अप कल्चर विकसित किया जाए तो दुर्ग जिले को आदर्श स्टार्ट अप हब बनाया जा सकता है। प्रवीण शुक्ला, चीफ जनरल मैनेजर, जिला उद्योग केंद्र, दुर्ग

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×