भिलाई + दुर्ग

  • Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • पूरे जिले में 10 सीबीएसई स्कूल तो खोल दिए, लेकिन बच्चों को किताबें नहीं दी
--Advertisement--

पूरे जिले में 10 सीबीएसई स्कूल तो खोल दिए, लेकिन बच्चों को किताबें नहीं दी

18 जून से कक्षाएं हो चुकी शुरू, लेकिन अब तक किताबों का वितरण नहीं हुआ। किताबें नहीं होने से घर में नहीं पढ़ पा रहे...

Dainik Bhaskar

Aug 10, 2018, 03:20 AM IST
पूरे जिले में 10 सीबीएसई स्कूल तो खोल दिए, लेकिन बच्चों को किताबें नहीं दी
18 जून से कक्षाएं हो चुकी शुरू, लेकिन अब तक किताबों का वितरण नहीं हुआ।

किताबें नहीं होने से घर में नहीं पढ़ पा रहे बच्चे

सरकारी सीबीएसई स्कूलों में अब तक बच्चों को किताबें नहीं मिली है। जिससे बच्चों को टीचर अपनी किताब से ही पढ़ा रहें हंै। कुछ टीचर या तो अपने खर्चे से किताब खरीद कर बच्चों को पढ़ा रहें है तो कहीं विभाग ने एक सेट टीचर को पढ़ाने उपलब्ध कराया है। बच्चों को सिर्फ स्कूल में ही बोर्ड पर पढ़ा कर समझा रहें है। बच्चों के पास घर में जाकर रिविजन करने और होमवर्क करने के लिए किताब ही नही है। टीचर जो स्कूल में बच्चों को समझा पा रहें है बच्चे उतना ही पढ़ रहे हंै।

कई स्कूलों में उम्मीद से कम हुए एडमिशन

सरकारी स्कूलों को अंग्रेजी माध्यम बनाने के बाद एडमिशन लेने वालों की भीड़ लगने की उम्मीद शिक्षा विभाग कर रहा था, लेकिन सिर्फ भिलाई के स्कूलों को छोड़ दें तो किसी भी स्कूल में बच्चों की संख्या अपेक्षा अनुसार नहीं है। खुर्सीपार स्कूल में मिडिल के 60 से अधिक बच्चों ने प्रवेश ले लिया है जबकि 75 स्टूडेंट्स आवेदन ले चुके है। वहीं धमधा ब्लाक शिक्षा अधिकारी मालू सिंह चौहान ने बताया कि प्राइमरी स्कूल में जहां 27 बच्चे एडमिशन लिए वहीं मिडिल में यह संख्या सिर्फ 11 है।

खुर्सीपार और सेक्टर-6 के स्कूलों में भी नहींं पहुंची

सीबीएसई इंग्लिश मीडियम स्कूल सेक्टर-6 और बालाजी नगर को संवारने के लिए कैबिनेट मंत्री अपनी विधायक निधि देने का फैसला किया था। लेकिन आज तक किताब नहीं पहुंची है। शिक्षक ने बताया कि एक निजी बुक डीपो से किताब की खरीदी होनी हैं, 15 अगस्त तक आ जाएगी।

जिले में इन स्कूलों में खुले हैं सीबीएसई इंग्लिश

शा. मिडिल स्कूल बालाजी नगर खुर्सीपार, शा प्रा. स्कूल सेक्टर-6, सरदार पटेल प्रा. स्कूल दुर्ग, शा. मिडिल स्कूल शक्तिनगर दुर्ग, शा. मिडिल स्कूल चरोदा, प्रा. स्कूल चरोदा, मिडिल स्कूल पाटन, मिडिल स्कूल तमेरपारा धमधा, प्रा. स्कूल तमेरपारा और प्राइमरी स्कूल पाटन शामिल है।

कोशिश करेंगे की जल्द किताबें का वितरण हो


X
पूरे जिले में 10 सीबीएसई स्कूल तो खोल दिए, लेकिन बच्चों को किताबें नहीं दी
Click to listen..