Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» डेंगू से घबराएं नहीं, बुखार हो तो जल्द करवाएं टेस्ट

डेंगू से घबराएं नहीं, बुखार हो तो जल्द करवाएं टेस्ट

प्रदेश के कई शहरों में डेंगू की दहशत फैली हुई है। भिलाई में करीब दो हफ्तों में ही अब तक 13 लोगों की डेंगू से मौत हो...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 13, 2018, 03:26 AM IST

प्रदेश के कई शहरों में डेंगू की दहशत फैली हुई है। भिलाई में करीब दो हफ्तों में ही अब तक 13 लोगों की डेंगू से मौत हो चुकी है। जरूरी सावधानी बरतकर आप डेंगू से बच सकते हैं। इसके साथ ही डॉक्टरों की सलाह पर आप सही समय पर टेस्ट करवा लेते हैं तो इस खतरनाक बीमारी के शिकार होने से बच जाएंगे।

ये उपाय बचाएंगे

खतरनाक डेंगू से

कूलर, गमले में न भरने दें पानी

बारिश में आपके घर के कूलर, गमले और अन्य कबाड़ सामानों में पानी जमा न होने दें क्योंकि इसी पानी में डेंगू के मच्छर पैदा होते हैं। अगर समय-समय पर आप जमा होने वाले पानी को खाली कर देते हैं तो डेंगू के फैलाव को रोक सकते हैं।

मच्छरदानी बेहतर उपाय

डेंगू की खतरनाक बीमारी से बचने के लिए मच्छरों से अपने आपको और परिवार को बचाना बेहद जरूरी है। इसके लिए घर की साफ-सफाई का ध्यान रखे। जालीदार दरवाजे लगाए। सोते समय अच्छी क्वालिटी की मच्छरदानी का उपयोग जरूर करें। ।

फुल आस्तीन के कपड़े पहनें

बारिश के सीजन में डेंगू के मच्छर सबसे ज्यादा एक्टिव रहते हैं इसलिए अपनी बॉडी को अच्छी तरह से ढककर रखें। हमेशा फूल आस्तीन के कपड़े पहनें ताकि मच्छर कम से कम आपको नुकसान पहुंचा सके। खासतौर छोटे बच्चों को पूरे कपड़े पहनाएं।

बुखार पर न खाएं पेन किलर

अगर आपको बुखार आए, मांसपेशियों व जोड़ों में दर्द हो तो लापरवाही न बरतें। बिना देरी किए डॉक्टरों से संपर्क करें। इसके लिए मेडिकल स्टोर से स्वयं खरीदकर पेन किलर न खाएं। डॉक्टरों के परामर्श के बाद अस्पताल में जाकर टेस्ट जरूर करवाएं।

स्किन में रेशे आना भी लक्षण

स्किन रोग एक्सपर्ट भरत सिंघानिया ने बताया कि स्किन में रेशे आना डेंगू के लक्षण में शामिल है। मच्छर काटने से ही डेंगू होता है, इसलिए शरीर के खुले हिस्से में मास्किटो क्रीम लगा सकते हैं। शाम को प्रयोग कर सकते हैं, क्योंकि तब मच्छर ज्यादा एक्टिव रहते हैं।

लक्षण : मांसपेशियों एवं जोड़ों में दर्द। सिर दर्द व बुखार आना। कमजोरी लगना। स्किन में रेशे का आना। उल्टी होना।

डेंगू के लिए ये टेस्ट जरूरी

बुखार होने के दो दिन के अंदर रैपिड टेस्ट करवा सकते हैं। इसकी विश्वसनीयता 90% तक होती है। रिजल्ट 3-4 घंटे में आ जाता है।

यदि ये टेस्ट नगेटिव आता है और मरीज को तेज बुखार, पेट दर्द, बीपी गिरने की शिकायत बनी रहती है तो एंटीजन एलाइजा टेस्ट करवाएं।

अगर किसी मरीज को बुखार 6-7 दिन से है तो डाक्टर एंटीबॉडी टेस्ट करवाने की सलाह देते हैं।

अगर एकदम सही रिजल्ट चाहिए तो एलाइजा टेस्ट करवाएं, नहीं तो इसमें भी रैपिड टेस्ट उपलब्घ होता है जो कुछ घंटों में रिजल्ट दे देंगे।

अंबेडकर अस्पताल में मेडिसिन विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. जीबी गुप्ता के मुताबिक

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×