Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» हादसे में घायल को मिले सही मदद तो बचेगी जान

हादसे में घायल को मिले सही मदद तो बचेगी जान

जिले में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने और लोगों को आईटीएमएस की नई व्यवस्था परिचय करने ट्रैफिक पुलिस ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 13, 2018, 03:26 AM IST

हादसे में घायल को मिले सही मदद तो बचेगी जान
जिले में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने और लोगों को आईटीएमएस की नई व्यवस्था परिचय करने ट्रैफिक पुलिस ने वाहन चालकों के लिए एक वर्कशॉप का आयोजन किया।

सेक्टर-4 स्थित एसएनजी स्कूल में आयोजित कार्यशाला में 200 से अधिक चालक शामिल रहे। कार्यशाला का उद्देश्य चालकों को यातायात नियमों की जानकारी देना, दुर्घटनाओं के कारण, वाहन का रखरखाव, घायल व्यक्ति की मदद, आईटीएमएस, लाइसेंस निरस्तीकरण आदि के बारे में जानकारी देना था। इससे आम लोगों को सुविधा होगी। वाहन चालकों को भी लाभ होगा।

सेक्टर-4 एसएनजी स्कूल में ट्रैफिक पुलिस ने आईटीएम की नई व्यवस्था से परिचित कराने के लिए ड्राइवरों को दिया ट्रेनिंग

मेंटिनेंस से लेकर घायलों को सीपीआर देना सिखाया:

एक दिवसीय वर्कशॉप में शामिल वाहन चालकों को प्रशिक्षण के लिए तीन सेशन का आयोजन किया। पहले डॉ. सुशील गंगे और डॉ. पराग गुप्ता ने रोड़ एक्सीडेंट के समय प्राथमिक उपचार की जानकारी देते हुए सीपीआर करने का तरीका भी समझाया। उसका कहना था कि सही तरीके सीपीआर देने से घायलों की जान बचाई जा सकती है। सीआईएसएफ के एएसआई लावनया ने वाहन का मेंटनेंस, डेली मेंटेनेंस, ब्रेक, हेडलाइट, इंडिकेटर की उपयोगिता, बैटरी का रखरखाव की जानकारी दी।

पुलिस की नजर से नहीं बच पाएंगे अपराधी

एसएनजी स्कूल में विशेषज्ञों ने बचाव कार्य का डेमो किया।

एडिशनल एसपी विजय अग्रवाल का कहना था कि जिले के 11 चौक-चौराहों पर शुरू सीसीटीवी कैमरों के संचालन के बाद अब अपराधी पुलिस की निगाह से बच नहीं सकेंगे। अगर कोई अपराधी वारदात को अंजाम देकर किसी भी चौक चौराहे से गुजरेगा तो तुरंत पुलिस की निगाह में आ जाएगा। एेसे में उसे पकड़ने में काफी आसानी हो जाएगी।

इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्मट में वीडियो से दुर्घटनाओं के कारण बताए

हाल में शुरू हुई आईटीएमएस (इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम) के तहत शुरू चौक-चौराहों पर सीसीटीवी के संचालन की डीएसपी सतीश ठाकुर ने जानकारी दी। इसके अलावा उन्होंने यातायात संकेत, रोड मार्किंग, पार्किंग, सिग्नल के बारे में बताया। यातायात प्रशिक्षक सी दिनकर ने वीडियो के माध्यम से दुर्घटनाओं की वजह बताते हुए हेल्प लाइन नंबर और हाइवे पेट्रोलिंग की जानकारी दी। कार्यशाला के अंत मे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात विजय अग्रवाल द्वारा चालकों को यातायात नियमों का पालन करने, लापरवाही पूर्वक वाहन न चलने घायल की मदद की समझाइश दी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×