Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» देर से ही सही डेंगू

देर से ही सही डेंगू

सुपेला अस्पताल में आज से तैनात होंगे 9 डॉक्टर, डेंगू के सामान्य मरीजों का यहीं उपचार, भिलाई में सफाई के लिए निगम ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 13, 2018, 03:26 AM IST

देर से ही सही डेंगू
सुपेला अस्पताल में आज से तैनात होंगे 9 डॉक्टर, डेंगू के सामान्य मरीजों का यहीं उपचार, भिलाई में सफाई के लिए निगम ने मांगे एक हजार और कर्मी


देर से ही सही डेंगू रोकथाम के लिए जिला प्रशासन ने एक सार्थक पहल करते हुए डॉक्टरों की कमी से जूझ रहे सुपेला के लालबहादुर शास्त्री अस्पताल को एक बच्चों की डॉक्टरों सहित ढेर सारे डॉक्टर उपलब्ध करा दिए। ऐसे में अब इस अस्पताल में डेंगू के मरीजों के उपचार के लिए प्रात: आठ बजे से दोपहर बाद दो बजे तक एक शिशु रोग विशेषज्ञ समेत नौ डॉक्टर मौजूद रहेंगे। दो बजे के बाद रात आठ बजे तक पांच तथा रात आठ बजे से लेकर सुबह आठ बजे तक दो डॉक्टरों के द्वारा मरीजों का इलाज किया जाएगा। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर दिव्या श्रीवास्तव को उतई से बुलाया गया है। दो बजे के बाद वह आन कॉल सेवाएं देंगी। 17 अगस्त तक के लिए रोस्टर बनाकर डॉक्टरों की जिम्मेवारी व जवाबदेही तय कर दी गई है। शहर की सफाई के लिए सेटअप बढ़ाया जाएगा।

20 रुपए में दवा खा रही थी, अब अस्पताल में

अर्जुन नगर की सुशीला प|ी सुभाष को तीन दिन से बुखार था। पास के ही किसी डॉक्टर से 20 रुपए में दवा लेकर खा रही थी। अब सुपेला अस्पताल में भर्ती है।

स्वास्थ्य केंद्रों में पहुंचे महापौर डेगू पीड़ितों से की मुलाकात

मेयर देवेंद्र यादव ने रविवार को लाल बहादुर अस्पताल सुपेला, वैशालीनगर, रामनगर स्वास्थ्य केंद्र, वैकुण्ठधाम अस्पताल कैम्प-2, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कैम्प-1, छावनी स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र,10 बिस्तर अस्पताल खुर्सीपार, बापूनगर स्थित 15 बिस्तर अस्पताल, जूनवानी, कोहका समेत अन्य स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण कर पीड़ितों से मुलाकात की।

कलेक्टर उमेश अग्रवाल सुबह से ही अस्पतालों का दौरा कर जायजा लिया।

सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक इनकी ड्यूटी

डॉ. मधु श्रीवास्तव- स्त्री रोग विशेषज्ञ।, डॉ. दिव्या श्रीवास्तव- शिशु रोग विशेषज्ञ।, डॉ. एसके अग्रवाल- वरि. चिकित्साधिकारी।, डॉ. डीके पटेल- पीजीएमओ।, डॉ. बी मरकाम- पीजीएमओ।, डॉ. रचना दबे- चिकित्साधिकारी।, डॉ. बबिता सक्सेना- चिकित्साधिकारी।, डॉ. रूबी मरकाम- चिकित्साधिकारी।,डॉ. जलज गौतम- संविदा, चिकित्साधिकारी।

डेंगू के इलाज में मिलेगी हमें मदद...

निगम आयुक्त के खिलाफ एफआईआर के लिए रैली

युवा कांग्रेस सोमवार से महासंग्राम अभियान की शुरुआत करेगी। इसमें सुपेला और आसपास के क्षेत्र के लोगों को डेंगू से बचने के लिए जागरूक किया जाएगा। उससे पहले रविवार को भी युकां उपाध्यक्ष मो. शाहिद के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने सुपेला में रैली निकाली। आयुक्त के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग के लिए उन्होंने ज्ञापन सौंपा।

डेंगू मरीजों के इलाज के लिए हमने रोस्टर तैयार किया है। बच्चों की एक डॉक्टर मिल जाने से डेंगू का इलाज और आसान हो गया है। डॉ. बीपी तिवारी, प्रभारी, लालबहादुर शास्त्री अस्पताल सुपेला

मोहल्ले के डॉक्टर्स को दिखाया, अब पहुंचे अस्पताल

कैंप-1 निवासी एन रवि काे परिवार के सदस्य लेकर शास्त्री अस्पताल पहुंचे थे। बीते 3 दिन से मोहल्ले के डॉक्टर को दिखा रहे थे। रविवार को तबीयत बिगड़ी तो सुपेला अस्पताल में एडमिट हुए।

डेंगू के रोकथाम के लिए रविवार को दो बड़े फैसले लिए गए, पहला कि सुपेला अस्पताल में डॉक्टरों की तैनाती की जाएगी, दूसरा-शहर में सफाई कर्मियों की संख्या बढ़ाने का निर्णय हुआ

चेंबर के सदस्याे नें व्यापारियों को दिलाया स्वच्छता का संकल्प

भिलाई|शहर में डेंगू की रोकथाम के लिए अब संस्थाएं भी आगे आने लगी हैं। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स की भिलाई इकाई ने पहल की है। इसे लेकर चैम्बर के सदस्यों ने जिम्मेदार अधिकारियों से मुलाकात की। चैम्बर के कार्यकारी अध्यक्ष विजय सिंह के नेतृत्व में आकाशगंगा सब्जी मंडी में सभी दुकानदारों को स्वच्छता रखने का संकल्प दिलाया गया।

मशीन से बड़ी राहत

भिलाई|50 हजार तक की प्लेटलेट, 10 डोनरों की बजाय अब एक ही डोनर से मिल जाएगी। नेहरू नगर के आशीर्वाद ब्लडबैंक में आज दोपहर ग्यारह बजे ट्रायल के बाद डेढ़ माह पूर्व खरीदी गई मशीन आम लोगों को प्लेटलेट देना शुरू कर देगी। एफेरेसिस मशीन को चलाने के लिए सभी कानूनी अड़चनें दूर कर ली गई हैं।

जानिए एफेरेसिस मशीन से प्लेटलेट के क्या हैं फायदे..

एफेरेसिस मशीन से 60 हजार तक प्लेटलेट एक ही डोनर से निकाली जा सकती है, पुरानी विधि से इसके लिए कम से कम दस डोनर की आवश्यकता होगी।

एफेरेसिस मशीन से डोनर से केवल प्लेटलेट ली जाती है, पीआर बीसी और प्लाजमा तुरंत का तुरंत उसके शरीर में डाल दिया जाता है, जबकि पुरानी विधि में डोनर से प्लेटलेट के लिए होल ब्लड लेना पड़ता है।

एफेरेसिस मशीन से एक से डेढ़ घंटे के भीतर 60 हजार यूनिट प्लेटलेट तैयार हो जाती है।

एफेरेसिस मशीन से ली गई प्लेटलेट से रिएक्शन का जीरो परसेंट चांस रहता है, जबकि पुरानी विधि से बनाई गई प्लेटलेट कभी-कभार मरीज को नुकसान पहुंचाती है।

एफेरेसिस मशीन से प्लेटलेट देने वाला डोनर तीन दिन बाद ही पुन: डोनेशन कर सकता है।

आज से मिलेंगे प्लेटलेट्स...

एक ही डोनर से अब मिलेगी 60 हजार प्लेटलेट, एफेरेसिस मशीन को दी मंजूरी

डेंगू संक्रमण से पूर्व ही एफेरेसिस मशीन खरीद ली गई थी। सोमवार से प्लेटलेट प्राप्त कर सकते हैं। डॉ. मंजू तिवारी, प्रभारी, आशीर्वाद ब्लड बैंक

कोहका में पूर्व मेयर ने लोगों को पिलाई डेंगू की दवा

भिलाई। डेंगू, बुखार से राहत के लिए रविवार को पूर्व महापौर व छग महिला कांग्रेस की महासचिव नीता लोधी के नेतृत्व में आर्यनगर कोहका में शिविर लगाकर दवाई बांटी गई। क्षेत्र के महिला, पुरुषों व बच्चों को बुखार के लिए होम्योपैथी दवाई (प्रिवेंटिव डोस) पिलाई गई। नीता लोधी ने बताया कि मौके पर लगभग साढ़े तीन हजार से ज्यादा लोगों ने दवा का लाभ लिया।

लोगों को डेंगू से राहत दिलाने लंगर समिति ने पिलाई दवा

भिलाई। महिला बाल विकास मंत्री रमशीला साहू के सहयोग व योग लंगर समिति के तत्वावधान में दशहरा मैदान रिसाली में डेंगू की दवाई का निशुल्क वितरण किया गया। तीन दिनों में हजारों लोगों ने बीमारी से बचने होम्योपैथी की दवाई ली। रविवार को शिविर स्थल पर पूर्व विधायक डॉ. दयाराम साहू ने नागरिकों को दवाई बांटी। सोमवार को भी कैंप लगेगा।

विशेष सचिव दास पहुंचे भिलाई

भिलाई की सफाई व्यवस्था दुरूस्त करने सरकार करेगी मदद, रोजाना दें इसकी रिपोर्ट-निरंजन दास

भिलाई|डेंगू के रोकथाम का जायजा लेने रविवार को नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के स्पेशल सेक्रेटरी और डायरेक्टर निरंजन दास भिलाई पहुंचे। उन्होंने डेंगू प्रभावित इलाकों का दौरा किया। इसके बाद निगम के अधिकारियों की मीटिंग ली। डायरेक्टर दास से स्वास्थ्य विभाग के चेयरमैन लक्ष्मीपति राजू ने भी मुलाकात की और उन्होंने सफाई के लिए रेगुलर स्टाफ मांगा। राजू ने 1000 सफाई कर्मी मांगा। डायरेक्टर दास को बताया कि, पहले जनसंख्या कम थी, तब सेटअप ज्यादा था। अब सेटअप कम है और जनसंख्या बढ़ गई है। दास ने निगम से इस संबंध में प्रस्ताव मांगा है।

डेंगू से हुई मौत के लिए कलेक्टर पर दर्ज हो एफआईआर मंत्री हैं लाचार, कोई अफसर नहीं सुनते उनकी बात: भूपेश

दुर्ग/ भिलाई|लगातार डेंगू से हो रही मौतें और बढ़ती संख्या को देखते हुए रविवार को दोपहर पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल दुर्ग और भिलाई पहुंचे। उन्होंने कहा, दो बड़े नेता सरोज और प्रेम प्रकाश की गुटबाजी के चलते कोई सुनवाई नहीं है। 2200 करोड़ रुपए मोबाइल पर खर्च करने वाली सरकार क्या प्लेट लेट्स चढ़ाने वाली मशीन नहीं खरीद सकती। उन्होंने मंत्री प्रेम प्रकाश को लाचार कहा। जिसकी प्रशासन के अफसर नहीं सुनते। उन्होंने डेंगू से हुई 11 मौतों के लिए सीधे तौर पर कलेक्टर को जिम्मेदार ठहराया और उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराए जाने की बात कही। दुर्ग विधायक अरूण वोरा ने कहा कि, पीसीसी चीफ ने बिल्कुल सही बात कही है। मामला काफी संवेदनशील है।

भिलाई-3 चरोदा निगम ने भी वार्डों में लगाया शिविर

भिलाई|डेंगू की रोकथाम के लिए भिलाई-3 में नगर निगम ने वार्ड 2, 8, 11, 13, 17, 20, 30 में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया। मेयर चंद्रकांता मांडले ने बताया कि क्षेत्रों में सफाई अभियान चलाकर दवा का छिड़काव किया जा रहा है। लोग अपने-अपने घरों के कूलर की सफाई करें। आसपास पानी जमा होने न दें। बुखार को हल्के में न लें, डॉक्टर को ही दिखाएं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×