Hindi News »Chhatisgarh »Durg Bhilai» सिर्फ कूलर ही नहीं, पानी टंकी की सफाई भी जरूरी, डेंगू रोकने आप भी कर सकते हैं पहल

सिर्फ कूलर ही नहीं, पानी टंकी की सफाई भी जरूरी, डेंगू रोकने आप भी कर सकते हैं पहल

डेंगू के प्रकाेप से बचने के लिए लोग स्वस्फूर्त सामने आ रहे हैं। लोग कूलर की सफाई करने के साथ-साथ पानी टंकी की भी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 13, 2018, 03:30 AM IST

  • सिर्फ कूलर ही नहीं, पानी टंकी की सफाई भी जरूरी, डेंगू रोकने आप भी कर सकते हैं पहल
    +1और स्लाइड देखें
    डेंगू के प्रकाेप से बचने के लिए लोग स्वस्फूर्त सामने आ रहे हैं। लोग कूलर की सफाई करने के साथ-साथ पानी टंकी की भी सफाई कर रहे हैं। रविवार को तालपुरी के परिजात कॉलोनी में लोगों ने अपनी-अपनी टंकियों की सफाई की। साथ ही पुरानी पड़ी हुई टंकियों का पानी भी खाली कर दवा का छिड़काव किया। एक्सपर्ट्स की माने तो डेंगू का मच्छर साफ पानी में ही होता है। इस लिहाज से कूलर और पानी टंकी के अलावा छत में पानी जमा होने न दें। डेंगू के मच्छरों का पनपने का यह अनुकूल स्थान होता है। प्रशासन ने भी लोगों से साफ-सफाई की अपील की है।

    25हजार कूलरों की सफाई शहर में निगम व प्रशासन के सहयोग से लोगों ने किया है।

    03हजार से ज्यादा पानी टंकी तालपुरी कॉलोनी के ब्लॉकों में है। इसकी सफाई होनी है।

    495डोनर्स ने ग्रुप बनाया। ब्लड चाहिए तो 7000313991 पर कोला राजू से संपर्क करें।

    इधर... डेंगू की चपेट में एक डाॅक्टर भी, प्रशासन अलर्ट

    दुर्ग में मिले डेंगू के 3 मरीज, भिलाई में पीड़ितों की संख्या चार सौ के पार

    हेल्थ रिपोर्टर | दुर्ग

    भिलाई के बाद अब दुर्ग में भी डेंगू का प्रकोप शुरू हो गया है। दो दिन पहले मितान चौक कसारीडीह निवासी आयुषी सिंह (12 वर्ष) में डेंगू के लक्षण पाए गए। इसके बाद दो और मामले रविवार को सामने आए। इधर भिलाई में बीमारी से जूझने वालों की संख्या चार सौ के आंकड़े को पार कर गई है।

    सबसे पहले दुर्ग में मितान चौक कसारीडीह में आयुषि सिंह (12 वर्ष) में डेंगू के लक्षण मिले। इसके बाद तकियापारा निवासी गुलाम मोहम्मद व न्यू आदर्श नगर की डॉ. कामना सिंह शामिल हैं।

    डॉक्टरों से न करें दुर्व्यवहार: कलेक्टर ने अपील जारी की है कि मरीजों के परिजन या जनप्रतिनिधि डॉक्टर के साथ बुरा बर्ताव न करें।

    प्रशासन का दावा- मरीजों की करेंगे आर्थिक मदद

    जानिए दुर्ग में कहां कैसे हालात, इसे हटाने से सुधरेंगे हालात

    पोटिया ट्रेंचिंग ग्राउंड पहुंच मार्ग पर ही कचरा डंप कर दिया गया है, यह एरिया बस्ती से लगा हुआ है। शहर के 7 स्थलों पर एसएलआरएम सेंटर चल रहे हैं, इन जगहों पर बड़ी मात्रा में कचरा डंप है। गीला कचरा बड़ी मात्रा में है। राजीव नगर, शिवपारा, बांधा तालाब, तकियापारा, नयापारा, सरस्वती नगर, कुंदरापारा, शंकर नगर, सिकोलाबस्ती, तितुरडीह व रायपुर नाका क्षेत्र के किनारे बस्तियों में खतरा अधिक है। आउटर में सभी प्रमुख नालों पर कचरा डंप है। आदित्य नगर, पद्मनाभपुर व बोरसी क्षेत्र में सीवरेज सिस्टम बनाया गया, लेकिन अधूरा छोड़ दिया गया है।

    दुर्ग-भिलाई में डेंगू को समाप्त करने के लिए प्रशासनिक स्तर व सामाजिक संस्था कार्य कर रही है। 359 मरीजों को उपचार के बाद छुट्‌टी दे दी गई है। उमेश अग्रवाल, कलेक्टर, दुर्ग

    शासकीय कर्मियों की छुट्‌टी कलेक्टर ने की रद्द

    इधर लगातार डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कलेक्टर ने सभी 54 सरकारी महकमों के अधिकारी व कर्मचारियों के अवकाश रद्द कर दिए हैं। बिना एसडीएम में जिला पंचायत के सीईओ को सूचना दिए वे अवकाश पर नहीं जा सकेंगे। इन सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी आगामी आदेश तक डेंगू पीडितों को लेकर लगा दी गई है। वहीं आईएमए के माध्यम से डॉक्टरों व निजी हॉस्पिटल संचालकों के साथ कलेक्टर ने बैठक की।

    सभी कूलर से पानी खाली कर उसकी सफाई करें। निगम के सभी कर्मचारी और अधिकारियों काो अलर्ट किया है। सफाई के काम में लापरवाही बिल्कुल नहीं होगी। लोकेश्वर साहू, आयुक्त, नगर निगम दुर्ग

  • सिर्फ कूलर ही नहीं, पानी टंकी की सफाई भी जरूरी, डेंगू रोकने आप भी कर सकते हैं पहल
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Durg Bhilai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×