--Advertisement--

मानसिक रोगी बालक 2009 से था गुम, 9 साल बाद बनारस में मिला

नौ साल पहले घर से गुम हुए बालक को पुलिस ने खोज निकाला है। बालक को पुलिस ने नौ साल बाद सुरक्षित उसके परिजनों को सौंप...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 03:25 AM IST
मानसिक रोगी बालक 2009 से था गुम, 9 साल बाद बनारस में मिला
नौ साल पहले घर से गुम हुए बालक को पुलिस ने खोज निकाला है। बालक को पुलिस ने नौ साल बाद सुरक्षित उसके परिजनों को सौंप दिया है बालक के मिलने से उसकेे परिवार में उत्साह है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार डोंगरगढ़ ब्लॉक के मोहारा पुलिस चौकी के अंतर्गत पेंड्री निवासी मगनलाल साहू का पुत्र संतोष कुमार (15 वर्ष) सन् 2009 में बिना किसी को बताए घर से निकल गया था इस दौरान उसके परिजनों द्वारा अपने रिश्तेदारों में संतोष की खोजबीन भी की गई और इसकी जानकारी पुलिस थाना में दी गई थी।

पुलिस ने बताया कि गुम होने के दौरान संतोष की उम्र 15 साल के आस-पास थी और वह इस दौरान मानसिक रूप से बीमार था संतोष कुमार नौ साल के बाद बनारस मेें सुरक्षित मिला है। पुलिस ने संतोष को उसके परिजनों के हवाले कर दिया है संतोष का उम्र वर्तमान में 24 साल है।

मोबाइल एप मैप से गांव को किया सर्च: एएसपी राजेश अग्रवाल ने बताया कि गुम बालक 11 मई को बनारस के एक होटल में बैठा था। बनारस निवासी राघवेंद्र प्रताप पिता दया शंकर ने बालक संतोष कुमार से पूछताछ की। संतोष ने अपना नाम बताते हुए पेंड्री डोंगरगढ़ बताया। राघवेंद्र द्वारा पता को मोबाइल एप मैप पर गांंव व ब्लाॅक को सर्च किया। फिर मोहरा चौकी प्रभारी से मोबाइल पर संपर्क किया और उसका फोटो वाट्सअप में भेजा गया पहचान कराई गई। राघवेंद व अमरदास के जरिए संताेष मोहारा पहुंचा।

डोंगरगढ़.गुम बालक संतोष अपने परिवार के साथ।

X
मानसिक रोगी बालक 2009 से था गुम, 9 साल बाद बनारस में मिला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..