--Advertisement--

6 महीने से कपड़े में बंद निगम की फॉगिंग मशीन

कांग्रेसी पार्षदों ने फॉगिंग मशीन को निगम से ढूंढकर निकाला, तब पता चला। प्रशासनिक रिपोर्टर | दुर्ग शहर में...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:40 AM IST
6 महीने से कपड़े में बंद निगम की फॉगिंग मशीन
कांग्रेसी पार्षदों ने फॉगिंग मशीन को निगम से ढूंढकर निकाला, तब पता चला।

प्रशासनिक रिपोर्टर | दुर्ग

शहर में पिछले करीब 6 महीनों से फॉगिंग मशीन नहीं घूम रही है। इसके चलते शहर में मच्छरों का प्रकोप बढ़ रहा है। निगम की तरफ से नियमित रूप से वार्डों के लिए शेड्यूल तो तय हो रहे, लेकिन फॉगिंग मशीन नहीं पहुंच रही। इसे लेकर कांग्रेसी पार्षद बुधवार को निगम के कर्मशाला विभाग पहुंचे। जहां जानकारी ली, तो कोई भी जानकारी देने को तैयार नहीं था। मौके पर ढूंढने पर पता चला कि मशीन को एक कपड़े में लपेटकर रखा गया है। उसका केबल जल गया था, जिसे रायपुर से बनवाया जाना है। इस काम को अटका कर रखा गया।

जानकारी के मुताबिक दोपहर के समय पार्षद राजेश शर्मा, सुरेंद्र सिंह राजपूत, भोला महोबिया, शकुन ढीमर इसकी जानकारी लेने पहुंचे। उन्होंने बताया कि लगातार निगम के अधिकारी फॉगिंग मशीन को लेकर बेवकूफ बना रहे थे। करीब 10 लाख में इसे एक साल पहले खरीदा गया। यह खराब हो गई और कबाड़ में डाल दी गई। जबकि फॉल्ट छोटा सा है, सिर्फ केबल तार बदलना है। इसे नहीं कराया गया। जबकि निगम प्रति वर्ष बजट में मलेरिया उन्मूलन के नाम पर ही 20 लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं।

छिड़काव करने के लिए तीन महीने का शेड्यूल

पार्षदों ने कहा कि निगम के अधिकारी फॉगिंग मशीन को वार्डों में घूमाए जाने को लेकर हर तीन महीने का शेड्यूल जरूर पार्षदों को भेज रहे हैं, लेकिन 6 महीने से फॉगिंग मशीन कहीं भी नहीं पहुंची। इसे लेकर संदेह हुआ, तब उन्होंने पूरी जानकारी ली। पता चला कि इसे कपड़े में लपेटकर रख दिया गया है।

X
6 महीने से कपड़े में बंद निगम की फॉगिंग मशीन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..