भिलाई + दुर्ग

  • Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • चार साल के बीएड कोर्स में मेरिट से दाखिला बंद, देनी होगी प्रवेश परीक्षा
--Advertisement--

चार साल के बीएड कोर्स में मेरिट से दाखिला बंद, देनी होगी प्रवेश परीक्षा

प्रदेश में चार साल के बीएड कोर्स के लिए अब मेरिट से दाखिले का सिस्टम बंद कर दिया गया है। इस बार इस कोर्स में एडमिशन...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:40 AM IST
प्रदेश में चार साल के बीएड कोर्स के लिए अब मेरिट से दाखिले का सिस्टम बंद कर दिया गया है। इस बार इस कोर्स में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा देनी होगी, जिसे व्यावसायिक प्रवेश परीक्षा मंडल (व्यापमं) लेगा। स्कूल शिक्षा विभाग से चार वर्षीय बीए बीएड व बीएससी बीएड के प्रवेश नियम तय कर दिए हैं। व्यापमं इन्हीं नियमों पर परीक्षा लेगा।

राज्य के 143 कालेजों में अभी बीएड का दो वर्षीय कोर्स चल रहा है। यह विभिन्न विश्वविद्यालयों से संबद्ध है। चार वर्षीय कोर्स पिछले साल से ही शुरु हुआ है। तब स्कूल शिक्षा विभाग से अछोटी-दुर्ग की एक संस्था को यह कोर्स शुरू करने की अनुमति दी है। इसके लिए निर्देश सितंबर-अक्टूबर में जारी किया गया। यहां विद्यार्थियों को प्रवेश, परीक्षा की बजाए बारहवीं के अंकों के आधार पर तैयार की गई मेरिट से देने के निर्देश दिए गए थे। इसके अनुसार सीटें भी भरी गईं। इस बार भी ऐसा ही कुछ होने के आसार थे, क्योंकि इन कोर्स को लेकर प्रवेश नियम तैयार करने में देरी हुई।

इसके अलावा व्यापमं से मार्च में ही अन्य प्रवेश परीक्षाओं जैसे पीईटी, पीएटी, पीपीटी, प्री-बीएड समेत अधिकांश प्रवेश परीक्षाओं का टाइम-टेबल जारी कर दिया गया। इसलिए यह संभावना बढ़ी कि इस बार भी विद्यार्थियों को प्रवेश बारहवीं के अंकों के आधार पर मिलेगा। लेकिन बुधवार को शिक्षा विभाग ने नए नियम जारी कर दिए।

आयु सीमा 33 वर्ष

बीए बीएड व बीएससी बीएड के कोर्स में दाखिले के लिए अधिकतम आयु सीमा 33 वर्ष है। प्रवेश परीक्षा में सामान्य मानसिक योग्यता से 30 फीसदी, सामान्य ज्ञान से 20, सामान्य अभिरुचि 20, भाषा दक्षता हिंदी से 15 और अंग्रेजी से 15 फीसदी सवाल पूछे जाएंगे। सारे सवाल वस्तुनिष्ठ रहेंगे। सवालों को लेकर निगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

एससीईआरटी से काउंसिलिंग, इस आधार पर दाखिला

राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के अधिकारियों ने बताया कि प्रवेश नियम के आधार पर प्रस्ताव व्यापमं को भेजा जा रहा है। जून में इसके लिए प्रवेश परीक्षा होगी। गौरतलब है कि इस कोर्स के लिए पिछले साल एक निजी कॉलेज को अनुमति मिली थी। इस बार दो अन्य कॉलेज को भी एससीईआरटी से मंजूरी मिली है। प्रवेश परीक्षा के बाद ओवरऑल रैंक के आधार पर एससीईआरटी से काउंसिलिंग होगी। फिर संबंधित विद्यार्थियों को सीटें मिलेगी।

X
Click to listen..