• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • 5 से 75 साल तक का व्यक्ति कर सकता है नेत्रदान, संकल्प पत्र भरना जरूरी नहीं
--Advertisement--

5 से 75 साल तक का व्यक्ति कर सकता है नेत्रदान, संकल्प पत्र भरना जरूरी नहीं

Durg Bhilai News - 5 से 75 साल की उम्र तक कोई भी व्यक्ति नेत्रदान कर सकता है। यदि किसी को चश्मा लगा हाे, या मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ हो, वह...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 02:41 AM IST
5 से 75 साल तक का व्यक्ति कर सकता है नेत्रदान, संकल्प पत्र भरना जरूरी नहीं
5 से 75 साल की उम्र तक कोई भी व्यक्ति नेत्रदान कर सकता है। यदि किसी को चश्मा लगा हाे, या मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ हो, वह भी नेत्रदान कर सकता है। नेत्रदान के लिए मृत्यु के बाद किसी तरह का ऑपरेशन नहीं होता। महज 15 मिनट की प्रक्रिया में आंखों के ऊपरी सतह पर स्थित कार्निया काे निकाला जाता है, जिससे आंखों की रोशनी रहती है। इसमें किसी तरह का शुल्क भी नहीं लगता।

यह जानकारी नव दृष्टि फाउंडेशन, जेसीआई व इंदिरा मार्केट व्यापारी संघ के नेत्रदान शिविर सहायक नेत्र चिकित्सक डॉ. अजय नायक ने दी। उन्होंने बताया कि हर साल प्रदेश में 3 से 4 सौ मरीजों को कार्निया की जरूरत होती है, जिससे उनकी आंखों की रोशनी लौट सकती है, लेकिन उतनी संख्या में नेत्रदान नहीं हो पाता। इसके लिए लोगों में जागरूकता जरूरी है। मृत्यु के बाद नेत्रदान से शरीर में किसी तरह की विकृति नहीं आती। इंदिरा मार्केट में लगे शिविर में लोगों ने नेत्रदान कब करना चाहिए, कौन कर सकता है, कौन नहीं, नेत्रदान की क्या औपचारिकताएं हैं, क्या इसका कोई शुल्क है, कितना समय लगता है और मृत वयक्ति के चेहरे में कोई विकृति आती है? जैसे सवाल किए। शिविर में उपस्थित डॉ. बीएल कोसरिया, नेत्र अधिकारी डॉ. संगीता भाटिया और अजय नायक, अरुण सिंह ने उनकी भ्रांतियां दूर की।

हर साल प्रदेश में 3 से 4 सौ मरीजों को आंखों (कार्निया) की होती है जरूरत

नवदृष्टि फाउंडेशन, जेसीआई व व्यापारी संघ के जागरूकता कार्यक्रम में 300 से ज्यादा लोगों ने नेत्रदान की जानकारी ली।

पहला संकल्प पत्र रिक्शा चालक राजू देवांगन ने भरा

शिविर में प्रथम संकल्प पत्र रिक्शा चालक राजू देवांगन ने स्वयं आकर भरा। संस्था की ओर से डॉक्टरों समेत पदम पारेख व जेसीआई अध्यक्ष प्रणय माहेश्वरी को पंछी मित्र सम्मान से नवाजा। शिविर में जोगी कांग्रेस के दुर्ग विधानसभा प्रत्याशी प्रताप मध्यानी, अभा कांग्रेस के सदस्य दीपक दुबे, पूर्व मंत्री स्व. हेमचंद यादव के पुत्र जीत यादव, कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष राज कुमार पाली, जानकी रम्मैया, सुनील मिश्रा, घनश्याम सिंधिया, संजय देवांगन सहित लगभग 250 से अधिक लोगों ने नेत्रदान का संकल्प लिया।

रिटायर्ड बीएसपी कर्मी सहित 4 लोगों ने मौके पर की देहदान की घोषणा

जेसीआई की टीम ने भी दिया जागरूकता का संदेश

शिविर में जेसीआई के मेंबर्स उपस्थित थे। सबसे पहले अध्यक्ष प्रणय माहेश्वरी ने नेत्रदान संकल्प पत्र भरा, जिसके बाद सचिव नितेश केडिया, विकास बाफना, प्रवीण परमार, रजनीश जायसवाल, आदित्य राठी, राजेश सांखला, कमलेश राजा, नवनीत जैन, संतोष कुमार, चंद्रेश राठी, रामदेव टावरी, राकेश गोलछा, आनंद चांडक, सुनिल अग्रवाल ने नेत्रदान की शपथ ली। माहेश्वरी ने लोगों को नेत्रदान के प्रति गंभीरता दिखाने का आह्वान किया। समाज सेवी प्रवीण, प्रकाश गेडाम,ने भी नेत्रदान की घोषणा की।

मौके पर कादंबरी नगर निवासी बीएसपी के सेवा निवृत एजीएम 70 वर्षीय दिलीप श्रीवास्तव उनकी प|ी पूर्णिमा श्रीवास्तव व चाची शुष्मा श्रीवस्तव व गजानन नगर निवासी अशोक पहाड़े ने देहदान की घोषणा की। नव दृष्टि फाउंडेशन के गोपी रंजन दास, अनिल बल्लेवार, प्रवीण तिवारी, प्रमोद वाघ, राज आढ़तिया, कुलवंत भाटिया, किरण भंडारी आदि इसके साक्षी बने।

महिलाओं ने सेल्फी सोशल मीडिया पर की शेयर

शिविर में महिलाओं का उत्साह भी देखते बन रहा था। जेसीआई की महिला विंग की ओर से निति बल्लेवार, ममता बाफना, राखी माहेश्वरी, सीमा खंडेलवाल, ममता परमार, शोभा कर्णावत ने नेत्रदान की घोषणा के साथ सेल्फी लेकर सोशल मीडिया पर इसे शेयर किया। इसके अलावा इंदिरा मार्केट व्यापारी संघ की ओर सेदिलीप मारोटी, संजय मोहनानी, अनिल बल्लेवार, चंद्रप्रकाश गजवानी, देबू लोहानी, राजेश सोलंकी, राजेश सराफ, मनीष मोहनानी, अनिल जायसवाल ने नेत्रदान संकल्प पत्र भरा।

X
5 से 75 साल तक का व्यक्ति कर सकता है नेत्रदान, संकल्प पत्र भरना जरूरी नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..