भिलाई + दुर्ग

  • Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • पैसे के मामूली विवाद पर हुई हत्या के आरोपी को सुनाई उम्रकैद की सजा, पलट गए थे अहम गवाह
--Advertisement--

पैसे के मामूली विवाद पर हुई हत्या के आरोपी को सुनाई उम्रकैद की सजा, पलट गए थे अहम गवाह

पुलिस द्वारा हत्या के मामले में बनाए गए अधिकांश गवाह पलट गए। बावजूद इसके मामले में हत्या के आरोपी को आजीवन कारावास...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 02:55 AM IST
पुलिस द्वारा हत्या के मामले में बनाए गए अधिकांश गवाह पलट गए। बावजूद इसके मामले में हत्या के आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

कोर्ट ने माना कि पुलिस जांच में जो साक्ष्य व रिपोर्ट रखे गए। वह आरोपी को हत्या का दोषी सिद्ध करता है। मामले में कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के दृष्टांत बलदेव सिंह विरुद्ध स्टेट ऑफ हरियाणा 2016 को आधार बनाकर आरोपी को धारा 302 में उम्र कैद की सजा सुनाई।

9 अप्रैल 2016 को हुई थी वारदात

प्रकरण के मुताबिक घटना 9 अप्रैल 2016 की है। प्रार्थी प्रतीक पायस कृषि विश्वविद्यालय रायपुर में पढ़ता है। वह अपने साथियों अरुण, अभिरूप मंडल, रवि कुमार, दीपक के साथ मॉडल टाउन में रहता है। घटना दिनांक घर लौटने के बाद वह अरुण और मोहल्ले के ही मालिक उर्फ मालिकराम पिता बालाराम वर्मा (20 वर्ष) के साथ बाजार गया। जहां तीनों ने नशा किया। वापसी में पैसे को लेकर विवाद हुआ। विवाद गहराने पर प्रतीप अरुण को घर ले आया। इस बीच पीछे से आरोपी मालिक भी वहां पहुंचा और अरुण को चाकू मार दी। इससे वह घायल हो गया। उपचार के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मामले में धारा 302, 25, 27 आर्म्स एक्ट के अपराध दर्ज कर प्रकरण को न्यायाधीश शोभना कोष्टा की अदालत में प्रस्तुत किया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपी मालिक को धारा 302 में उम्र कैद, धारा 25 आर्म्स एक्ट में तीन वर्ष व धारा 27 आर्म्स एक्ट में 5 वर्ष की सजा सुनाई गई।

गवाह पलटे, पुलिस जांच बना आधार


X
Click to listen..