भिलाई + दुर्ग

--Advertisement--

भूमि और रकबे का सत्यापन करने के बाद होगा पंजीयन

खरीफ सीजन में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक किसानों का पंजीयन किया जाएगा। खरीफ सीजन में...

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 03:55 AM IST
खरीफ सीजन में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक किसानों का पंजीयन किया जाएगा। खरीफ सीजन में पंजीकृत किसान की भूमि और धान के रकबे का सत्यापन किया जाएगा। पटवारी के सत्यापन के बाद सेवा सहकारी समितियों को किसानों की सूची उपलब्ध कराई जाएगी। इसी आधार पर धान खरीदी की जाएगी। पिछले साल खरीफ सीजन में पंजीयन कराने वाले किसानों को इस साल पंजीयन कराने की जरूरत नहीं है। पिछले साल पंजीयन कराने वाले किसानों का पंजीयन डाटा के आधार पर इस साल पंजीयन हो जाएगा। पिछले साल पंजीयन करा चुके किसान पंजीयन में संशोधन कराना चाहें तो समिति के मॉड्यूल के माध्यम से व्यवस्था की जाएगी। फर्जी तरीके से धान खरीदी रोकने के लिए कई स्तरों पर जांच की जाएगी।

धान खरीदी के लिए 16 अगस्त से होंगे रजिस्ट्रेशन

हर समिति के लिए एक नोडल अधिकारी तैनात

सत्यापन राजस्व विभाग के उच्च अधिकारियों की निगरानी में किया जाएगा। हर समिति के लिए एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा। नोडल अधिकारी के रूप में तहसीलदार, नायब तहसीलदार और राजस्व निरीक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी।

पंजीयन के लिए आधार कार्ड नंबर जरूरी

पंजीयन के लिए किसानों के पास आधार नंबर होना जरूरी है। किसान के पास आधार नंबर न होने पर ऐसे किसानों का आधार पंजीयन फौरन कराया जाएगा। आधार नंबर न होने के कारण किसी किसान को पंजीयन से वंचित नहीं किया जाएगा।

X
Click to listen..