• Home
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • अभिषेक और छप्पन भोग लेने मंदिर में उमड़े श्रद्धालु
--Advertisement--

अभिषेक और छप्पन भोग लेने मंदिर में उमड़े श्रद्धालु

भरकापारा स्थित काली मंदिर में स्थापना दिवस महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। आयोजन की कड़ी में पहले दिन गुरूवार को...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 03:25 AM IST
भरकापारा स्थित काली मंदिर में स्थापना दिवस महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। आयोजन की कड़ी में पहले दिन गुरूवार को सुबह शिव परिवार और सांई बाबा का अभिषेक किया गया। इस अवसर पर सुबह नौ बजे से शुरू हुआ पूजा-अनुष्ठान का दौर दोपहर एक बजे तक जारी रहा। इस दौरान वैदिक मंत्रों के बीच देव प्रतिमाओं का पंचामृत के साथ दुग्धाभिषेक किया गया।

इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने श्रद्धालु भक्त बड़ी संख्या में मंदिर प्रांगण पहुंचे। पंडित अजय नाथ पांडे (गुड्ड) ने अनुष्ठान संपन्न कराया। कार्यक्रम के क्रम में शाम छह बजे मंदिर में छप्पन भोग लगाया गया। इस मौके पर छप्पन प्रकार की मिठाई व व्यंजनों से पूरे मंदिर परिसर को सजाया गया। मंदिर के हॉल में मिठाइयों की सजावट का आकर्षण देखने लायक रहा। शाम की आरती के बाद छप्पन भोग का प्रसाद श्रद्धालुओं में वितरित किया गया। इसके बाद रात नौ बजे से मंदिर प्रांगण में हरि सत्संग मंडल ने भजनों की प्रस्तुति शुरू हुई। इस दौरान भजनों की धुन में श्रृद्धालु भक्त झूमते रहे। भजन के बाद आरती के साथ पहले दिन के कार्यक्रम का समापन हुआ। स्थापना दिवस के दूसरे दिन के अवसर पर आज मंदिर से शोभायात्रा निकाले जाएगी। मंदिर समिति के पदाधिकारी अश्वनी गुप्ता व रघु शर्मा ने बताया कि मंदिर में शिव परिवार और सांई बाबा की स्थापना के दो वर्ष पूरा होने के मौके पर स्थापना दिवस महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। आयोजन के पहले दिन अभिषेक, छप्पन भोग व भजन संध्या का आयोजन किया गया। आयोजनों की श्रृंखला में शुक्रवार को मंदिर प्रांगण से भव्य पालकी यात्रा का आयोजन किया गया। पालकी शोभायात्रा भरकापारा स्थित मंदिर से शुरू हो कर रामाधीन मार्ग, कामठी लाईन, गुड़ाखू लाईन, जय स्तंभ चौक होकर मंदिर पहुंचेगी।

आयोजन

भरका पारा स्थित काली मंदिर में स्थापना दिवस महोत्सव हर्षोल्लास से मना रहे, गुप्त नवरात्रि पर आज होगी विशेष पूजा

राजनांदगांव.भरका पारा के काली मंदिर में स्थापना दिवस महोत्सव में जुटे भक्त।

अमृत सिद्धि योग में होगा नवरात्र का समापन

गुप्त नवरात्रि का पर्व 13 जुलाई शुक्रवार से शुरू हो रहा है। सिद्ध पीठ मां काली माई मंदिर समिति द्वारा गुप्त नवरात्रि के पावन अवसर पर पूजा-अनुष्ठान कराया जाएगा। पंडित अजय पांडे ने बताया कि 13 जुलाई से 21 जुलाई तक आषाढ़ की गुप्त नवरात्रि मनायी जाएगी। इस बार का गुप्त नवरात्रि की शुरुआत पुष्य नक्षत्र और सर्वार्थ सिद्धि योग में होगी। इसके अलावा सर्वार्थ सिद्धि योग, रवियोग व अमृत सिद्धि योग में नवरात्र का समापन होगा। श्री पांडे ने बताया कि गुप्त नवरात्रि में भी आम नवरात्रि की तरह माता की पूजा की जाती है और पूरे 9 दिनों तक व्रत रखा जाता है।