• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Fharshabhar News
  • अवैध निर्माण बताकर सरपंच ने बंद कराया काम, खुले में रहने को मजबूर हुआ परिवार
--Advertisement--

अवैध निर्माण बताकर सरपंच ने बंद कराया काम, खुले में रहने को मजबूर हुआ परिवार

पीएम आवास बनाने के आस में आशियाना तोड़कर घर बना रहे ग्रामीण का काम सरपंच ने अवैध निर्माण कराने की धमकी देकर उन्हें...

Dainik Bhaskar

Feb 19, 2018, 03:00 AM IST
अवैध निर्माण बताकर सरपंच ने बंद कराया काम, खुले में रहने को मजबूर हुआ परिवार
पीएम आवास बनाने के आस में आशियाना तोड़कर घर बना रहे ग्रामीण का काम सरपंच ने अवैध निर्माण कराने की धमकी देकर उन्हें बिना आदेश के ही काम रूकवा दिया। ऐसे में मजबूर ग्रामीण परिवार के साथ उसी टूटे घर पर पन्नी लगाकर तीन माह से रह रहा है। मामला फरसाबहार जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत अम्बाकछार और ग्राम पंचायत डोंगादरहा के सीमा में बन रहे डोंगादरहा निवासी लालसाय लोहार पिता रूपन साय लोहार 55 वर्ष का है।

मिली जानकारी के अनुसार लालसाय लोहार लंबे समय से ग्राम पंचायत डोंगादरहा का मूल निवासी है और वह अं्बाकछार बोडरो उर्फ मतियो के जमीन पर रह रहा है। पीड़ित लालसाय के अनुसार उन्हें ग्राम पंचायत डोंगादरहा की ओर से शासन स्वीकृति पीएम आवास मिला है। जमीन का मालिकाना हक ग्राम पंचायत अम्बाकछार के होने के कारण उन्होंने इसकी सहमति जमीन मालिक से ली है और उस जमीन पर तीन माह पूर्व से अपने पुराने कच्चे मकान को तोड़कर नए मकान का निर्माण करा रहा हैं। इसमें निर्माण में विवादित चर्च बाधा बना। लालसाय लोहार और परिवार के मुताबिक जिस जगह पर चर्च का निर्माण किया जा रहा है। वह जमीन अंधरु राम चौहान का है, जिसे चर्च निर्माण के लिए 50 डिसमिल लिया है। पीड़ित परिवार के मुताबिक चर्च निर्माण करा रहे लोगों ने बन रहे पीएम आवास को नहीं बनन देने की बात कही है। उन्होंने अंबाकछार सरपंच को उकसाकर बन रहे पीएम आवास को रुकवा दिया। ग्रामीणों ने की कलेक्टर से शिकायत - बन रहे पीएम आवास के निर्माण बंद हो जाने से ग्राम पंचायत अंबाकछार और डोंगादरहा के ग्रामीण एकजुट होकर जिला कलेक्टर को शिकायत की थी, जिसे संज्ञान में लेकर फरसाबहार जनपद सीईओ ने जांच के बाद निर्माण कराए जाने का आदेश दिया है।

नेगेटिव न्यूज सेक्शन

तीन माह पहले तोड़ा था मकान, सरपंच द्वारा निर्माण कराने पर रोक लगा देने से परिवार ऐसे रहने को है मजबूर।

बिना आदेश के तीन माह तक टूटे मकान में गुजारी रात

पीड़ित लालसाय के परिवार वालो ने बताया कि जिस जमीन पर पीएम आवास निर्माण कराया जा रहा है। उसे मौखिक में ही अवैध बताकर कार्य बंद करा दिया गया था, जिसका किसी प्रकार से कोई शासकीय नोटिस जारी नहीं की है।

एक कमरे में रहे परिवार

निर्माण कार्य बंद हो जाने और अपने आशियाना को खोकर परिवार दुःखी था और वे उसी टूटे मकान के एक कमरे को प्लास्टिक के पन्नी लगाकर कड़कड़ाती ठंड में 9 परिवार के लोग भेड़ बकरी की तरह रहे।


X
अवैध निर्माण बताकर सरपंच ने बंद कराया काम, खुले में रहने को मजबूर हुआ परिवार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..