--Advertisement--

दो साल पहले हुई मरम्मत, अब खंडहर बना शौचालय

शौचालय मरम्मत के नाम पर रुपयों का बंदरबांट किया जा रहा है। फरसाबहार विकासखंड में वर्ष 2014-15 में कई स्कूलों के शौचालय...

Dainik Bhaskar

Jul 26, 2018, 03:45 AM IST
दो साल पहले हुई मरम्मत, अब खंडहर बना शौचालय
शौचालय मरम्मत के नाम पर रुपयों का बंदरबांट किया जा रहा है। फरसाबहार विकासखंड में वर्ष 2014-15 में कई स्कूलों के शौचालय मरम्मत का काम लिया गया था। काम कैसा हुआ है इसका उदाहरण खुटगांव पंचायत के विदुरपुर स्कूल का शौचालय है।

विदुरपुर कोरवा बाहुल्य गांव है। इस गांव में वर्ष 2014-15 में मरम्मत करने का बोर्ड तो लगा है। किंतु आज की स्थिति में शौचालय खंडहर के रूप में ही दिखाई पड़ रहा है। बच्चे स्कूल के शौचालय का उपयोग नहीं कर पा रहे हैं। स्कूली बच्चों व अभिभावकों ने बताया कि इस स्कूल के बच्चे लघुशंका या शौच के लिए खुले में जाते हैं। शौचालय का दरवाजा नाम मात्र को है। लोहे के इस दरवाजे में सिर्फ एंगल बचे हैं। स्कूल में बच्चों की दर्ज संख्या 25 है। इस शौचालय का मरम्मत कार्य भी शाला विकास समिति से छीन लिया गया था। अधिकारियों ने निर्देश जारी कर शाला समिति के बजाए संकुल समन्वयक को कार्य करने को कहा था।

लिहाजा संकुल समन्वयक ने सिर्फ कागजों में शौचालय की मरम्मत कराकर वहां एक बोर्ड लगा दिया। उनसे मरम्मत को लेकर सवाल किए जाने पर उनका कहना था कि शौचालय मरम्मत के कई साल बीत चुके हैं। थोड़ा बहुत उपर नीचे होता रहता है।

अनदेखी

टायलेट के दरवाजे में सिर्फ एंगल, मरम्मत कराने वाले संकुल समन्वयक कह रहे सब ठीक है

शौचालय निर्माण के नाम गड़बड़ी की

माध्यमिक शाला का शौचालय हुआ खंडहर

संकुल समन्वयक ने कराया था मरम्मत


ठीक है शौचालय


X
दो साल पहले हुई मरम्मत, अब खंडहर बना शौचालय
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..