• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Fingeshwar
  • स्पर्धा में गए 9 छात्रों को शिक्षक ने जामगांव में छोड़ा, भटकते हुए मिले
--Advertisement--

स्पर्धा में गए 9 छात्रों को शिक्षक ने जामगांव में छोड़ा, भटकते हुए मिले

पिथौरा से संभाग स्तरीय खेल प्रतिस्पर्धा में शामिल होने के बाद नगर के नवीन बस स्टैंड परिसर में बुधवार की रात करीब 10...

Dainik Bhaskar

Aug 10, 2018, 02:36 AM IST
स्पर्धा में गए 9 छात्रों को शिक्षक ने जामगांव में छोड़ा, भटकते हुए मिले
पिथौरा से संभाग स्तरीय खेल प्रतिस्पर्धा में शामिल होने के बाद नगर के नवीन बस स्टैंड परिसर में बुधवार की रात करीब 10 बजे बैग लटकाए 9 छात्र रात में ठहरने का आशियाना ढूंढ रहे थे। 67 छात्रों में शामिल इन बच्चों को जिला क्रीड़ा अफसर जामगांव में छोड़कर चले गए थे। इसकी जानकारी लगने पर भास्कर प्रतिनिधि पहुंचा। छात्रों ने उसे आप बीती बताई। देर रात बच्चों के ठहरने की खाने की व्यवस्था के बाद गुरुवार की सुबह उनके घर भेजा गया।

छात्रों के मुताबिक पिथौरा में आयोजित गरियाबंद जिले से संभाग स्तरीय खेल प्रतिस्पर्धा में शामिल होने के लिए 7 अगस्त को 3 बजे 2 बस से रवाना हुए थे। 8 अगस्त को कबड्डी व खो-खो में भाग लेकर वापस फिंगेश्वर आ रहे थे। जिस बस में बैठे थे, वह देर रात करीब 8 बजे जामगांव में हम लोगों को छोड़कर चली गई। जामगांव से फिंगेश्वर तक करीब 10 किमी दूरी तय करने हम सभी पैदल फिंगेश्वर पहुंचे है। घर जाने के लिए किसी भी प्रकार से व्यवस्था नहीं होने के चलते फिंगेश्वर थाना प्रभारी को परेशानी बताकर मदद की गुहार लगाए। वे हम लोगों को नया बस स्टैंड में यात्री प्रतीक्षालय में रात ठहरने की नसीहत देने के साथ ही रात में 12 बजे गश्ती वाहन से सुध लेने की बात कह कर चले गए। रात करीब 10:30 बजे यात्री प्रतीक्षालय बंद होने से हम सभी स्कूली बच्चे खुले आसमान के नीचे खड़े रहे। बावजूद स्कूल के जिम्मेदार शिक्षकों ने हमारी कोई सुध नहीं ली। आप बीत सुनने के बाद प्रतिनिधि ने देर रात कलेक्टर और डीईओ को बच्चों के हालात की जानकारी ने लिए फोन किया पर संपर्क नहीं हुआ। प्रतिनिधि ने रात करीब 11 बजे नगर के स्थानीय छात्रावास में बच्चों को ठहराया और जलपान की व्यवस्था की। इसके बाद निजी गाड़ी से बच्चों को घर तक भेजवाया।

बच्चों ने सुनाई आप बीती

पीड़ित बच्चों में फिंगेश्वर ब्लॉक के अजय पटेल, हेमचंद साहू, विश्वनाथ तारक, रूप नारायण, आकाश सतनामी, सौरभ साहू, परमानंद साहू, राजेश तारक और राकेश यादव शामिल हैं।

भास्कर प्रतिनिधि ने खाने रहने की व्यवस्था की, गुरुवार सुबह घर भेजा

फिंगेश्वर. यात्री प्रतीक्षालय परिसर के बाहर बुधवार की देर रात भूख-प्यास से तड़पते छात्र भटकते रहे।

डीईओ ने सहायक क्रीड़ा अफसर को फटकार लगाई, हिदायत भी दी

डीईओ एसएल ओगरे ने कहा की जिले के स्कूली बच्चों को प्रतिस्पर्धा पिथौरा में लाने ले जाने की जिम्मेदारी जिले के सहायक क्रीड़ा अधिकारी को सौंपी गई थ। उन्होंने लापरवाही की है। उनको किसी अनहोनी घटना को लेकर फटकार लगाने के साथ ही निकट भविष्य में ऐसी गलती नहीं दोहराने की हिदायत दी गई है। इस संबंध में कलेक्टर श्याम धावड़े ने स्कूली बच्चों के प्रति लापरवाही बरतने वाले सहायक जिला क्रीड़ा अफसर के खिलाफ जांच कर कार्रवाई का भरोसा दिया है।

4 ब्लॉक के 67 छात्र स्पर्धा में गए थे

सहायक जिला क्रीड़ा अफसर उत्तम कुमार नेताम के साथ गरियाबंद जिले के मैनपुर, देवभोग, छुरा व फिंगेश्वर ब्लॉक के करीब 67 छात्र संभाग स्तरीय खेल प्रतिस्पर्धा में भाग लेने जिला मुख्यालय से 2 मिनी बसे पिथौरा गए थे। इसमें फिंगेश्वर के जामगांव क्षेत्र के खो-खो और कब्बडी के अधिक छात्र थे। पिथौरा से वापसी के दौरान 8 अगस्त को एक बस गरियाबंद के लिए और एक बस जामगांव के लिए रवाना हुई थी। लेकिन एक बस कुछ बच्चों को जामगांव में छोड़कर चली गई थी। जबकि बच्चों की मानिटरिंग की जिम्मेदारी पीटी आई कोच को सौंपी गई थी।

X
स्पर्धा में गए 9 छात्रों को शिक्षक ने जामगांव में छोड़ा, भटकते हुए मिले
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..