--Advertisement--

महत्वपूर्ण होते हैं स्कूलों में होने वाले वार्षिकोत्सव: भास्कर

लोटस पब्लिक स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करती छात्राएं। भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा बच्चों के...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:30 AM IST
लोटस पब्लिक स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करती छात्राएं।

भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा

बच्चों के सर्वांगीण विकास में कितनी सफलता मिली हैं यह सांस्कृतिक आयोजनों से ही मालूम होते हैं, इसलिए विद्यालयों के होने वाले ऐसे वार्षिकोत्सव काफी महत्वपूर्ण होते हैं। ये बातें लोटस पब्लिक स्कूल जांजगीर के द्वितीय वार्षिकोत्सव को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डीईओ जीपी भास्कर ने कही। विशिष्ट अतिथि पं. राघवेन्द्र पाण्डेय ने कहा कि सस्ती और अच्छा शिक्षा उपलब्ध कराना निजी विद्यालयों को उद्देश्य होना चाहिए।

प्रवेश के नाम पर प्रतिवर्ष शुल्क नहीं लेने वाला यह पहला विद्यालय बनने जा रहा है । अध्यक्षता कर रहे संस्था के प्राचार्य प्रतीक गुप्ता ने कहा कि चरित्र निर्माण करना हमारा मूल उद्देश्य है। पाठ्यक्रम के बोझ तले बचपन ना दब जाए इसलिए जीवन मूल्यों पर आधारित शिक्षा को हम अधिक महत्व देते हैं। मंच संचालन अनुश्री जैन व सुनेहा तिवारी ने किया। इस मौके पर बच्चों ने शिक्षाप्रद और सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस मौके पर विद्यालय परिवार समेत अभिभावक गण उपस्थित थे।

नर्सरी से आठवीं के विद्यार्थियों ने किया नाटक, सामूहिक नृत्य और दिया भाषण

भास्कर न्यूज | सक्ती

लिटिल फ्लावर इंग्लिश मीडियम स्कूल सक्ती में वार्षिकोत्सव का आयोजन नपाध्यक्ष श्यामसुंदर अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य में हुआ। मां सरस्वती की प्रतिमा के सामने दीप प्रज्वलित कर एवं सरस्वती वंदना से कार्यक्रम की शुरूआत हुई। नपाध्यक्ष श्री अग्रवाल ने कहा कि वार्षिकोत्सव से छिपी प्रतिभा को दिखाने बच्चों को बेहतर मंच मिलता है। कार्यक्रम को महबूब खान, पिंटू ठाकुर, विकास नायक, डायरेक्टर मो. अनीस, प्राचार्य टीपी उपाध्यक्ष ने भी संबोधित किया। इस दौरान कक्षा नर्सरी से 8वीं तक स्कूली बच्चों ने गीत, देशभक्ति डांस, ड्रामा समेत सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का संचालन विद्यार्थी आंचल उपाध्याय, प्रखर अग्रवाल एवं शिक्षिका बेनजीर एवं मिताली राठौर द्वारा किया गया । इस मौके सभी शिक्षक-शिक्षिकाएं, छात्र-छात्राएं समेत अभिभावकगण उपस्थित थे। स्कूल में कार्यक्रम चल रहा था लेकिन क्लास रूम से बेंच पालकों को बैठाने के लिए विद्यार्थियों से मंगाया जा रहा था। इस संबंध में प्रचार्य टीपी उपाध्याय का कहना है कि पर्याप्त स्टाफ नहीं होने के कारण कक्षा 6 वीं एवं 8 के छात्रों को वालंटियर बनाया है।

वार्षिकोत्सव का आनंद लेने जुटे परिजन।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..