• Home
  • Chhattisgarh News
  • Janjgeer News
  • शराब दुकानों का संचालन सरकार कर रही फिर भी हो रही अवैध बिक्री
--Advertisement--

शराब दुकानों का संचालन सरकार कर रही फिर भी हो रही अवैध बिक्री

भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा सरकार ने अंग्रेजी व देसी शराब की अवैध बिक्री को रोकने के लिए शराब दुकान का ठेका न...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:55 AM IST
भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा

सरकार ने अंग्रेजी व देसी शराब की अवैध बिक्री को रोकने के लिए शराब दुकान का ठेका न देकर खुद बिक्री करने का निर्णय लिया है। लेकिन साल भर बाद भी देसी विदेशी शराबों की अवैध बिक्री पर रोक नहीं लगी है। औसतन हफ्ते में तीन दिन पुलिस देसी विदेशी शराब बेचने व ले जाने वालों के खिलाफ धर पकड़ की कार्रवाई कर रही है। बुधवार को पुलिस ने शिवरीनारायण के तुस्मा में एक ही व्यक्ति के घर से 350 नग देसी प्लेन शराब जब्त की है।

जिले की अंगेजी व देसी विदेशी शराब दुकानों से सेल्समेन लोगों की मदद से शराब की अवैध बिक्री की जा रही है। हालांकि शराब खरीदने वालों के लिए मात्रा निर्धारित कर दी गई है। एक व्यक्ति एक बार में 3 बोतल, 750 मिली लीटर की 2 बोतल, 375 मिली लीटर की 4 बोतल और 180 मिली लीटर की 8 बोतल खरीद सकता है। इतनी मात्रा निर्धारित होने के बाद भी एक ही दुकान से एक ही बैच की शराब बड़ी मात्रा में एक ही व्यक्ति के पास से पुलिस कई बार जब्त कर चुकी है। इससे इतना तो तय है कि बिना सेल्समेन व अन्य कर्मचारियों की मदद से संभव नहीं है। पर आबकारी विभाग के अधिकारी अपने लोगों को बचाने के लिए यह भी कहने से नहीं चुक रहे कि एक व्यक्ति कई बार खरीदी कर इकट्‌ठा कर सकता है इसमें कर्मचारियों का दोष नहीं है।

350 नग देसी शराब जब्त

शिवरीनारायण थाना क्षेत्र के तुस्मा ग्राम के सीताराम बंजारे के पास से क्राइम ब्रांच की टीम ने 350 नग देसी प्लेन शराब जब्त की है। होली में बेचने के लिए उसने पहले से ही भंडारण कर लिया था। जब्त शराब की कीमत 17 हजार 500 रुपए आंकी गई है। आरोपी के पास से शरब बिक्री की रकम 2000 भी जब्त की गई है।

शराब का परिवहन, पकड़ाए दो लोग

मंगलवार को नवागढ़ थाना क्षेत्र के पुलिस ने पेट्रोलिंग के दौरान बरगंाव के कांशीराम तुर्काने को पकड़ा वह अपनी बाइक क्रमांकसीजी 11 एजे 3713 में 50 पाव देसीप्लेन शराब लेकर गांव जा रहा था। उसके साथ गुलशन तुर्काने भी था। पुलिस ने दाेनों के खिलाफ आबकारीएक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।