जशपुरनगर

--Advertisement--

यूजीसी नेट परीक्षा 8 जुलाई को, 6 मार्च से 8 अप्रैल तक मंगाए जाएंगे आवेदन

सीबीएसई यूजीसी नेट देने वाले परीक्षार्थियों के लिए साल 2018 की परीक्षा में परीक्षा पद्धति और उम्र की सीमा में बदलाव...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:30 AM IST
सीबीएसई यूजीसी नेट देने वाले परीक्षार्थियों के लिए साल 2018 की परीक्षा में परीक्षा पद्धति और उम्र की सीमा में बदलाव किए गए हैं। जूनियर रिसर्च फैलोशिप और नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) की परीक्षा साल में एक बार न होकर अब दो बार होगी। इस तरह प्रतियोगियों को सफल न होने पर अगले साल का इंतजार नहीं करना होगा, वे उसी साल होने वाली दूसरी बार परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। इस वर्ष परीक्षा 8 जुलाई को होगी। आवेदन 6 मार्च से 8 अप्रैल तक कर सकेंगे। परीक्षा का विस्तृत नोटिफिकेशन 1 फरवरी को यूजीसी की वेबसाइट पर जारी होगा।

नई परीक्षा पद्धति के अनुसार अब तीन पेपर न होकर सिर्फ दो पेपर की परीक्षा होगी, जिसमें पहले पेपर में ऑब्जेक्टिव टाइप सवाल होंगे, जिसमें पढ़ाने की क्षमता, पढ़ाते समय विद्यार्थियों को अपने साथ जोड़ने के लिए एप्टीट्यूड और एप्रोच की परख करने संबंधी सवाल होंगे। इस पेपर में 50 सवाल होंगे, जिन्हें हल करने के लिए एक घंटा का समय दिया जाएगा। इससे पहले इस पेपर को हल करने के लिए 75 मिनट का समय दिया जाता था। दूसरे पेपर में सब्जेक्ट से संबंधित 100 सवाल होंगे, जो कि दो घंटे में हल करना होंगे। जूनियर रिसर्च फैलोशिप (जेआरएफ )के लिए आवेदन करने की अधिकतम आयु सीमा अभी तक 28 साल थी, जिसे बढ़ाकर 30 साल कर दिया गया है। इस बदलाव के बाद कई और स्टूडेंट्स जेआरएफ के लिए एप्लाई कर सकेंगे। शेष अभ्यर्थियों को परीक्षा के लिए दो साल अतिरिक्त समय मिल जाएगा।

साढ़े 5 घंटे की बजाय अब 3 घंटे में देनी होगी परीक्षा

अभी तक यह परीक्षा साढ़े पांच घंटे तक चलती थी, लेकिन अब इसका समय घटाकर तीन घंटे कर दिया गया है। परीक्षा दो शिफ्ट में होगी। पेपर-1 की पहली शिफ्ट 9.30 से 10.30 और पेपर-2 की दूसरी शिफ्ट दोपहर 11 से लेकर 1 बजे तक चलेगी। तय समय के बाद परीक्षार्थियों को सेंटर में घुसने नहीं दिया जाएगा।

X
Click to listen..