--Advertisement--

नर्स का अपहरण करने के आरोप में 5 गिरफ्तार

भास्कर न्यूज | जशपुरनगर/बगीचा पंडरापाठ चौकीक्षेत्र के ग्राम हर्राडीपा में कार्यरत नर्स कांता बरवा का मंगलवार...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:00 AM IST
भास्कर न्यूज | जशपुरनगर/बगीचा

पंडरापाठ चौकीक्षेत्र के ग्राम हर्राडीपा में कार्यरत नर्स कांता बरवा का मंगलवार की दोपहर 11.30 बजे दिनदहाड़े अपहरण कर लिया गया। पांच नकाबपोश आरोपी नर्स को उस वक्त सड़क से उठाकर टाटा सूमो वाहन में ले गए थे, जब वह ड्यूटी करके अपने घर लौट रही थी। दिनदहाड़े अपहरण की घटना की सूचना थाने में मिलते ही एसपी प्रशांत सिंह ठाकुर के निर्देश पर पुलिस ने अपहरण के सभी पांच आरोपियों को मात्र 10 घंटे में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों के चंगुल से अपहर्ता नर्स को भी बरामद कर परिजन को सौंप दिया है। मुख्य आरोपी के पास से पुलिस ने देसी कट्टा व चाकू जब्त किया है।

बगीचा पुलिस को मंगलवार की दोपहर को पंडरापाठ चौकी क्षेत्र के हर्राडीपा में पदस्थ नर्स कांता बरवा का अपहरणकर लिए जाने की सूचना मिली। एसपी प्रशांत सिंह ठाकुर ने घटना के तुरंत बाद बगीचा थाना प्रभारी राजेश मरई और पंडरापाठ चौकी प्रभारी की दो टीम बनाई व तहकीकात शुरू की।



बाराती के नाम पर बुक किया था वाहन

पूछताछ में पुलिस को यह भी पता चला है कि घटना में प्रयुक्त वाहन को आरोपी आसू ने अंबिकापुर के एक व्यक्ति से बारात जाने के नाम पर बुक किया था। घटना में आरोपी के साथ गए गांव के नाबालिग लड़कों को जाते वक्त यह पता नहीं था कि वे किस काम से जा रहे हैं। गाड़ी में बैठ-बैठे आसू ने अपनी प्लानिंग नाबालिग लड़कों को बताई थी और सभी वारदात को अंजाम देने के लिए एकराय हो गए थे। अपहरण की इस वारदात में महज 10 घंटे के भीतर सभी आरोपियों को पकड़ने और सकुशल अपहृत नर्स को बरामद करने में बगीचा थाना प्रभारी राजेश मरईए एएसआई महेश साहू, एएसआई रामेश्वर सिंह, एएसआई संजय गोस्वामी, आरक्षक निखिल, आतिश मिंज, सुरेश पांडेय, सुनील मधुकर और अरूण ने दिनरात एक कर दिया।

जंगल में रातभर पैदल चली पुलिस. अपहरण के मुख्य आरोपी आसू की तलाश में पुलिस की टीम ने रातभर पैनपाठ के जंगल में गुजारा। पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ करने पर पुलिस को पता चला कि आरोपी आसू लड़की को लेकर मैनपाठ के जंगल में एक सूने मकान में है। एक आरोपी था, जिसे उस अड्डे का पता था। पुलिस ने जब आसू के बारे में जानकारी जुटाई तो यह भी पता चला कि वह अपराधी किस्म का है और उसके पास घातक हथियार हो सकते हैं। पुलिस ने इसके लिए स्पेशल प्लान बनया और रात में पुलिस मैनपाठ के जंगल में पहुंची। उस अड्डे तक पहुंचना आसान नहीं था। थाना प्रभारी राजेश मरई के साथ पुलिस की टीम करीब 15 किमी तक टार्च की रोशनी में जंगल में चलती रही और सूने मकान को पुलिस ने घेर लिया। मकान में जब पुलिस ने दबिश दी तो यहां से आरोपी निकला और इसी मकान में डरी सहमी हुई नर्स भी थी। पुलिस ने नर्स को तत्काल अपने संरक्षण में लिया और आरोपी को दबोच लिया। आरोपी के पास से पुलिस ने एक देसी कट्टा और धारदार चाकू बरामद किया है।