विज्ञापन

4 माह से केरल में बंधक रहे 11 ग्रामीणों को लाया वापस

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:00 AM IST

Jashpuranagar News - केरल में बंधुआ रहे जशपुर जिले के मनोरा एवं बगीचा इलाके के पाठ क्षेत्र के 11 ग्रामीणों को वहां से सकुशल जशपुर लाकर...

Jashpur News - chhattisgarh news 11 villagers brought back hostage in kerala for 4 months
  • comment
केरल में बंधुआ रहे जशपुर जिले के मनोरा एवं बगीचा इलाके के पाठ क्षेत्र के 11 ग्रामीणों को वहां से सकुशल जशपुर लाकर उन्हें उनके घर पहुंचा दिया गया है। यह श्रमिक बीते 4-6 माह से केरल राज्य के त्रिसूर जिले में बंधुआ थे। इन बंधुआ श्रमिकों के बारे में जिला प्रशासन को मिली सूचना के बाद इनको विमुक्त कराने की प्रभावी कार्रवाई कलेक्टर निलेशकुमार महादेव के निर्देशन में की गई। बंधुआ श्रमिकों की वापसी के लिए जिले से बीते 6 अप्रैल को भेजे गए 6 अधिकारियों की संयुक्त टीम ने स्थानीय प्रशासन से समन्वय कर इस काम को अंजाम दिया।

जिला श्रमपदाधिकारी आजाद सिंह पात्रे ने बताया कि लगभग 6 माह पूर्व मनोरा एवं बगीचा के पाठ इलाके के 11 ग्रामीणों को जशपुर जिले के कुनकुरी में ही काम दिलाने के नाम पर राझाडीह निवासी विद्यासागर उन्हें बहला-फुसलाकर कुनकुरी लेआया और अवसर पाते ही इन 11 श्रमिकों को केरल राज्य के त्रिसूर ले गया। श्रमपदाधिकारी ने बताया कि दरअसल विद्या सागर एजेंट का काम करता है।

उन्होंने बताया कि मीडिया के माध्यम से जिले के ग्रामीणों को अच्छा रोजगार दिलाने के नाम पर बहला-फुसलाकर केरल ले जाने पर और वहां बंधुआ बनाए जाने की सूचना मिली थी। बंधुआ बनाए गए ग्रामीणां को छुड़ाने के लिए जिला प्रशासन ने नायब तहसीलदार विकास जिंदल, बाल संरक्षणईकाई चन्द्रशेखर यादव, श्रम निरीक्षक डीबी. ताण्डी, पुलिस उप निरीक्षक सुनिल दास एवं आरक्षक वेद पैंकरा व सागर नायक की संयुक्त टीम केरल रवाना की। इस टीम को भेजने से पूर्व कलेक्टर जशपुर ने त्रिसूर के जिला दण्डाधिकारी से फोन पर चर्चा कर उन्हें वस्तु स्थिति से अवगत कराने के साथ ही उन्हें पत्र लिखकर इस मामले में सहयोग का आग्रह भी किया था। जशपुर से गई अधिकारियों की टीम ने त्रिसूर जिले के अधिकारियों की मदद से 11 श्रमिकों को वहां से सकुशल लेकर 15 अप्रैल की रात को जशपुर लौट आई। आज सुबह जिला पंचायत के सीईओ राजेन्द्र कटारा एवं एसडीएम विजेन्द्र सिंह पाटले से टीम ने श्रमिकों के साथ मिलकर उन्हें वहां के हालात के बारे में जानकारी दी। सीईओ जिपं ने बंधुआ मजदूरी से मुक्त कराए गए ग्रामीणों को कौशल विकास के माध्यम से रोजगार का प्रशिक्षण दिए जाने की बात कही।

जिला पंचायत सीईओ के साथ वापस लौटे ग्रामीण।

X
Jashpur News - chhattisgarh news 11 villagers brought back hostage in kerala for 4 months
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन