कैलाश गुफा तक पहुंचने के लिए पक्की सड़क का निर्माण शुरू

Jashpuranagar News - जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल कैलाश नाथेश्वर गुफा तक जाने वाली सड़क का काम शुरू हो गया है। यह काम जनवरी माह में ही शुरू...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 02:41 AM IST
Jashpur News - chhattisgarh news construction of paved road to reach kailash cave
जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल कैलाश नाथेश्वर गुफा तक जाने वाली सड़क का काम शुरू हो गया है। यह काम जनवरी माह में ही शुरू होने वाला था, लेकिन कैलाश गुफा में संचालित संत गहिरा गुरू आश्रम के अनुयायियों ने सड़क का निर्माण दूसरी रूट पर करने की बात कहते हुए विरोध जताया था। इस वजह से गत माह यह काम शुरू नहीं हो पाया था।

कैलाश नाथेश्वर गुफा जिले का सबसे बड़ा पर्यटन स्थल है। यहां तक पहुंचने के लिए पक्की सड़क अब तक नहीं बन पाई है। कैलाश गुफा पहुंचने के लिए सरकार ने 18 करोड़ 49 लाख रुपए की मंजूरी दी है। वर्तमान में जो कच्ची सड़क है, उसी सड़क को और चौड़ा कर पक्की सड़क का निर्माण किया जाना है।

पीडब्ल्यूडी विभाग ने काम की टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ठेकेदार को वर्कआर्डर बीते माह में ही दे दिया था, पर उस वक्त आश्रम के हस्तक्षेप के कारण काम शुरू नहीं किया जा सका। पीडब्ल्यूडी विभाग के वर्कआर्डर पुरानी सड़क को चौड़ा कर पक्की सड़क के निर्माण के लिए है। वहीं गहिरा गुरू आश्रम के अनुयायी इसकी जगह पर देवडांड़ की ओर से जाने वाले दूसरे रास्ते पर सड़क बनाने की मांग कर रहे थे।

इस प्रस्ताव के अनुसार काम करने में विभाग को आगे कई अड़चनें नजर आई। इसमें करीब 150 पेड़ कट रहे थे और जिस नए रास्ते पर सड़क बनाने का प्रस्ताव रखा गया था, उससे 135 ग्रामीणों का घर प्रभावित हो रहा था। लिहाजा पीडब्ल्यूडी ने पुरानी सड़क पर ही स्वीकृति के अनुरूप काम शुरू कर दिया है।

कैलाश गुफा तक जाने वाली कच्ची सड़क पर काम शुरू करने के लिए गेट को बांस से बंद कर दिया है।

6 किमी तक बनेगी सड़क

शासन द्वारा कैलाश गुफा से लेकर मुख्य चौक गायबुड़ा मार्ग तक लगभग 6 किमी की पक्की सड़क के लिए 18 करोड़ 49 लाख की प्रशासकीय मंजूरी दी है। इस कार्य की तकनीकी स्वीकृति 16 करोड़ 79 लाख की मिली है, जिसमें बड़े पुल के साथ सड़क निर्माण का कार्य किया जाना है। यह सड़क 7 मीटर चौड़ी होगी, जिसमें लोगों को सुगम यातायात मिल सकेगा।


रोड बनने से जिलेवासी खुश

कैलाश नाथेश्वर गुफा जिले का सबसे प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पहाड़ों को खोदकर भगवान शिव की गुफा का निर्माण किया गया है। यह संत गहिरा गुरू की तपोस्थली है। यहां बहने वाली अलकनंदा की जलधारा गंगाजल के समान है, क्योंकि गंगाजल के समान ही यहां का पानी भी खराब नहीं होता है। वैज्ञानिक परीक्षण में भी इसकी पुष्टि हो चुकी है। इस शिवालय के प्रति लोगों की गहरी आस्था है। सावन के महीने में यहां हजारों शिवभक्तों की भीड़ प्रतिदिन जुटती है। विभिन्न स्थानों से कांवर लेकर भी शिवभक्त यहां पहुंचते हैं। यहां तक पहुंचने के लिए सिर्फ 6 किमी तक सड़क नहीं बन पाई है।



जिससे पर्यटकों को यहां पहुंचने में दिक्कत होती है।

X
Jashpur News - chhattisgarh news construction of paved road to reach kailash cave
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना