हर परिवार संस्कारिक, इन मूल्यों व संस्कारों को बनाए रखने में नारी की अहम भूमिका: दीपक

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 02:40 AM IST

Jashpuranagar News - भास्कर न्यूज | कुनकुरी. जशपुर कैथोलिक धर्मप्रांत के अंतर्गत कैथोलिक महिला संघ के तत्वावधान में दो दिवसीय...

Jashpur News - chhattisgarh news every family is an important role of women in preserving these values and values lamp
भास्कर न्यूज | कुनकुरी. जशपुर

कैथोलिक धर्मप्रांत के अंतर्गत कैथोलिक महिला संघ के तत्वावधान में दो दिवसीय धर्मप्रांत स्तरीय कैथोलिक महिला संघ सम्मेलन फरसाबहार विकासखंड के तमामुंडा पल्ली में संपन्न हुआ। इसमें जशपुर धर्मप्रांत के समस्त पल्लियों से कैथोलिक महिला प्रतिनिधि, केंद्रीय महिला संघ समिति के सदस्य एवं अतिथियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। इन प्रतिनिधियों ने मुख्य रूप से दो विषयों, ख्रीस्त केंद्रित परिवार सशक्त कलीसिया तथा मां तुम परिवार और कलीसिया की कड़ी हो पर चिंतन किया सम्मेलन में धार्मिक गतिविधियों के साथ साथ सांस्कृतिक तथा मनोरंजक कार्यक्रम कराए गए।

मिस्सा पूजा के मुख्य अनुष्ठाता एवं सम्मेलन के मुख्य अतिथि जशपुर धर्मप्रान्त के वीकर जेनरल फादर सिकंदर किस्पोट्टा ने अपने संदेश में कहा कि आज यीशु ख्रीस्त का बपतिस्मा का त्योहार है। यह वह दिन है जब यीशु ने यर्दन नदी में योहन बपतिस्ता नबी के हाथों बपतिस्मा ग्रहण किया था और पिता ईश्वर ने उन्हें दुनिया के समक्ष अपने पुत्र होने की घोषणा किया था। उन्होंने कहा जो भी व्यक्ति बपतिस्मा ग्रहण करता है। वह ईश्वर का संतान बन जाता है। पहले दिन के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए फादर दीपक बेक ने ख्रीस्त केन्द्रित परिवार सशक्त कलीसिया विषय पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा जो परिवार यीशु ख्रीस्त के मूल्यों पर केंद्रित है, वह कभी नहीं बिखरता है। हर परिवार को सांस्कारिक होने की आवश्यकता है। इन मूल्यों एवं संस्कारों को परिवार में बनाए रखने में एक नारी का अहम भूमिका होता है। दूसरे विषय, मां तुम परिवार और कलीसिया की कड़ी हो पर प्रकाश डालते हुए कहा फादर कंचन तिर्की ने कहा मां प्रेरणा श्रोत है। वह परिवार को समाज से और ईश्वर से जोड़ने का काम करती है। आज बहुत परिवार जुड़ने की बजाय टूट रहा है। धर्मप्रांतीय कैथोलिक महिला संघ के आध्यात्मिक सलाहकार फादर पोलीकार्प बड़ा ने माता मरिया के जीवन से जोड़ते हुए कहा हर नारी ईश्वर की सह सृष्टिकर्ता है। अपनी जिम्मेदारी को एक मां को बखूबी निभाना चाहिए। दो दिवसीय महिला संघ सम्मेलन का शुभारंभ तमामुण्डा डीनरी के डीन फादर अरविंद टोप्पो के झंडोत्तोलन से हुआ। फादर अमृत बेक के स्वागत संबोधन दिया। आध्यात्मिक सलाहकार फादर पोलीकार्प बड़ा ने संत मोनिका के प्रतिमा का अनावरण किया। पल्ली प्रांगण में स्थित मंच पर पवित्र साक्रामेंट की आराधना की गई। इसी दौरान व्यक्तिगत रूप से पाप स्वीकार संस्कार सम्पन्न हुआ।

मिस्सा पूजा करते धर्म पुरोहित महिला सम्मेलन में जुटी मसीही महिलाओं की भीड़।

पहले सत्र में सांस्कृतिक कार्यक्रम, दूसरे दिन मिस्सा पूजा

प्रथम सत्र के दूसरे चरण में सांस्कृतिक कार्यक्रम कराए गए, जिसमें सभी डीनरी द्वारा नृत्य, कर्म संगीत, एकांकी, आदिवासी नाच एवं प्रतिवेदन पेश किया गया। दूसरे दिन की शुरुवात पवित्र मिस्सा पूजा से हुई, जिसका अनुष्ठान फादर सिकंदर किस्पोट्टा ने किया एवं उपस्थित अन्य पुरोहितों ने उन्हें सहयोग किया। नृत्य एवं धार्मिक गीतों का संचालन तमामुंडा पल्लीवासियों ने किया। पवित्र बाइबल से प्रथम पाठ मुक्तामणि टोप्पो, दूसरा पाठ फिलोमिना टोप्पो तथा सुसमाचार पठन फादर पोलीकार्प बड़ा ने किया। सम्मेलन के अंतिम चरण में केंद्रीय महिला संघ सचिव फ्लोरेंसिया मिंज ने बैठक की रिपोर्ट पेश की। कोषाध्यक फिलोमिना टोप्पो ने खर्चे का हिसाब दिया। सिस्टर प्रमिला टोप्पो तथा एलिज़ाबेथ एक्का ने सयुंक्त रूप से आभार प्रकट किया। अंत में महिला संघ झंडा अवुतोलन आध्यात्मिक सलाहकर फादर पोलीकार्प द्वारा किया। इसको सफल बनाने में केंद्रीय काथलिक महिला संघ समिति एवं स्थानीय पल्ली तमामुंडा, पल्ली पुरोहित फादर अरविंद टोप्पो, फादर देशपाल कुजूर, फादर अमृत बेक, चंदन खेस, धर्मबहनें, काथलिक सभा, महिला संघ, युवा संघ, अपोस्तोलिक एवं स्कूल विद्यार्थियों का विशेष योगदान रहा।

X
Jashpur News - chhattisgarh news every family is an important role of women in preserving these values and values lamp
COMMENT