जशपुर नगर बनेगा मॉडल शहर, हरियाली के लिए प्लांटेशन, सड़क चौड़ी होगी, सुधरेगी बिजली सप्लाई

Jashpuranagar News - सुप्रीम कोर्ट की विशेष पर्यावरण अदालत राष्ट्रीय हरित अधिकरण (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) ने छत्तीसगढ़ के 28 शहरों को...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:06 AM IST
Jashpur News - chhattisgarh news jashpur city will become a model city plantation for greenery road will widen improve power supply
सुप्रीम कोर्ट की विशेष पर्यावरण अदालत राष्ट्रीय हरित अधिकरण (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) ने छत्तीसगढ़ के 28 शहरों को मॉडल शहर बनाने का फैसला किया है। इन 28 शहरों में जशपुरनगर को भी शामिल किया गया है। अब मॉडल शहर बनने के बाद जशपुर में हरियाली की दिशा में और अधिक काम किए जाएंगे। शहर के भीतर जगह-जगह प्लांटेशन के अलावा शहर की सड़क व सड़क किनारे राेशनी सहित हर गली मोहल्ले में राेशनी की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी।

अब छोटे शहरों में भी आबादी तेजी से बढ़ रही है। इन सबकाे देखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के पारित आदेश पर राज्य स्तरीय मानिटरिंग कमेटी की बैठक कर प्रदेश में 28 शहर चिन्हित किए गए हैं। इन शहरों को मॉडल शहर के रूप में विकसित करने के लिए नगरीय प्रशासन को पत्र भेजा जा चुका है और जशपुर नगर पालिका को भी पत्र पहुंच चुका है। मॉडल शहर के रूप में जशपुर की अधोसंरचना का और विकास होगा।

जहां सड़कें संकरी है और आबादी अधिक है और वहां जाम की स्थिति निर्मित होती है वहां सड़क के चौड़ीकरण का काम किया जाएगा। आबादी बढ़ने के साथ शहर में पर्यावरण सुधार की दिशा में और काम होने हैं। क्योंकि आबादी बढ़ने के बाद प्रदूषण भी बढ़ेगा। वर्तमान में गंदगी से निपटने के लिए नगर पालिका ने बेहतर काम किया है। शहर में दो एसएलआरएम सेंटर संचालित हो रहे हैं। दो और एसएलआरएम सेंटरों की स्थापना होनी है। डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन का काम भी चल रहा है। गौरतलब है कि हाल ही में हुए स्वच्छता सर्वेक्षण में जशपुर को राष्ट्रीय स्तर पर साफ शहरों में श्रेष्ठ स्थान प्राप्त हुआ था।

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने प्रदेश के 28 शहरों को मॉडल शहर बनाने के लिए किया है चयनित

यह है हमारा जशपुरनगर

शहर का महाराजा चौक

जानें, क्या है नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल का गठन 18 अक्टूबर 2010 में किया गया। एनजीटी पर्यावरण कानूनों के उल्लंघन से निपटने के लिए एक व्यापक अधिकार प्राप्त, भारत की पहली समर्पित अदालत है। यहां यह बताना जरूरी है कि न्यूजीलैण्ड और ऑस्ट्रेलिया के बाद, भारत उन कुछ ही देशों में से एक है जहां पर्यावरण से संबंधित एक विशेष अधिकरण की स्थापना की गई है। एनजीटी ने समय-समय पर अपनी महत्ता को बखूबी तरीके से निभाया है। अवैध खनन हो या नदियों के जलप्रवाह की बात हो एनजीटी ने कई बार पर्यावरण के खिलाफ उठाए जाने वाले कदम पर रोक लगाने का फैसला किया। एनजीटी ने ही सरकार से दिल्ली से होकर उत्तर प्रदेश में बहने वाली यमुना नदी के 52 किलोमीटर तक के तटीय इलाके को संरक्षित क्षेत्र घोषित करने के लिए कहा था। यही नहीं राजधानी दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण के चलते एनजीटी ने ही सुनिश्चित किया था कि 10 वर्ष से पुरानी सभी डीज़ल गाड़ियों के चलने पर रोक लगाई जाए।

भास्कर न्यूज | जशपुरनगर

सुप्रीम कोर्ट की विशेष पर्यावरण अदालत राष्ट्रीय हरित अधिकरण (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) ने छत्तीसगढ़ के 28 शहरों को मॉडल शहर बनाने का फैसला किया है। इन 28 शहरों में जशपुरनगर को भी शामिल किया गया है। अब मॉडल शहर बनने के बाद जशपुर में हरियाली की दिशा में और अधिक काम किए जाएंगे। शहर के भीतर जगह-जगह प्लांटेशन के अलावा शहर की सड़क व सड़क किनारे राेशनी सहित हर गली मोहल्ले में राेशनी की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी।

अब छोटे शहरों में भी आबादी तेजी से बढ़ रही है। इन सबकाे देखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के पारित आदेश पर राज्य स्तरीय मानिटरिंग कमेटी की बैठक कर प्रदेश में 28 शहर चिन्हित किए गए हैं। इन शहरों को मॉडल शहर के रूप में विकसित करने के लिए नगरीय प्रशासन को पत्र भेजा जा चुका है और जशपुर नगर पालिका को भी पत्र पहुंच चुका है। मॉडल शहर के रूप में जशपुर की अधोसंरचना का और विकास होगा।

जहां सड़कें संकरी है और आबादी अधिक है और वहां जाम की स्थिति निर्मित होती है वहां सड़क के चौड़ीकरण का काम किया जाएगा। आबादी बढ़ने के साथ शहर में पर्यावरण सुधार की दिशा में और काम होने हैं। क्योंकि आबादी बढ़ने के बाद प्रदूषण भी बढ़ेगा। वर्तमान में गंदगी से निपटने के लिए नगर पालिका ने बेहतर काम किया है। शहर में दो एसएलआरएम सेंटर संचालित हो रहे हैं। दो और एसएलआरएम सेंटरों की स्थापना होनी है। डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन का काम भी चल रहा है। गौरतलब है कि हाल ही में हुए स्वच्छता सर्वेक्षण में जशपुर को राष्ट्रीय स्तर पर साफ शहरों में श्रेष्ठ स्थान प्राप्त हुआ था।

30,000 कुल आबादी

20 वार्ड वर्तमान में

1200 मीटर समुद्र तल से उंचाई


जशपुर में प्रदूषण से निपटने के उपाय







लोगों के लिए बढ़ाएंगे मूलभूत सुविधाएं



मॉडल शहर बनने के बाद यह होंगी सुविधाएं








X
Jashpur News - chhattisgarh news jashpur city will become a model city plantation for greenery road will widen improve power supply
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना