हवा में झूलते हनुमान की हथेली पर नजर आए राम-लक्ष्मण

Jashpuranagar News - शनिवार की शाम लगभग पांच बजे यहां के सत्यनारायण मंदिर से भगवान राम की आकर्षक शोभा यात्रा निकाली गई। इस शोभा यात्रा...

Bhaskar News Network

Apr 16, 2019, 07:16 AM IST
Pathalgaon News - chhattisgarh news ram lakshman seen on the palm of hanuman swinging in the air
शनिवार की शाम लगभग पांच बजे यहां के सत्यनारायण मंदिर से भगवान राम की आकर्षक शोभा यात्रा निकाली गई। इस शोभा यात्रा के साथ शहर के विद्वान पं. भक्ता महाराज के साथ मंदिर के पुजारी श्यामू शर्मा मौजूद थे। इनके द्वारा विधिवत रामनवमी की पूजा अर्चना कराकर भगवान राम की शोभा यात्रा को शहर के तीनों मार्गों का भ्रमण कराया था। इस दौरान इनके द्वारा मार्ग में चल रहे श्रद्धालुओं को प्रसाद भी वितरण किया जा रहा था।

इस मर्तबा रामनवमी की शोभा यात्रा में दुर्ग से आए कलाकारों द्वारा बनाई गई झांकी आकर्षक का केन्द्र रही। शहर के तीनों मार्ग में इस अनोखी झांकी के दर्शन करने लोग सड़क के दोनों ओर देर रात तक डटे रहे। दरअसल दुर्ग से आए कलाकारों द्वारा शोभा यात्रा में अगुवाई करने के लिए उड़ते हुए हनुमान जी की झांकी बनाई गई थी। इस झांकी की विशेषता यह थी कि उड़ते हुए हनुमान के दोनों हाथों में जगत के पालनहार भगवान राम के साथ उनके अनुज लक्ष्मण को बैठाया गया था। यह झांकी लंका से विजयी होने के बाद हनुमान द्वारा दोनों भाईयों को हाथ में उठाकर वापस किसकिंधा तक लाने का संकेत दे रही थी। शनिवार को भक्त हनुमान व राम लक्ष्मण की झांकी शहर के लोगों के लिए एकदम नया अनुभव था। लोग मार्ग से गुजरते वक्त झांकी के दर्शन करने के लिए आतुर दिखाई दे रहे थे। इस मर्तबा रामनवमी के जुलूस में अनेक समुदाय के लोगों ने अपनी भागीदारी निभाई। अत्यधिक धूप व गर्मी रहने के कारण शोभा यात्रा का समय कुछ विलंब से शुरू हुआ। पर श्रद्धालुओं की संख्या कम नही हुई। शोभा यात्रा निकलते वक्त हिंदु परंपरा से जुड़े युवक एक तरह की पोशाक पहनकर भगवान राम के जयकारे लगा रहे थे।

स्वागत द्वार व जलपान की व्यवस्था

रामनवमी की शोभा यात्रा के लिए अनेक धर्म के लोगों ने तीनों मार्ग में जलपान की व्यवस्था की थी। इसके अलावा जगह-जगह स्वागत द्वार भी बनाए गए थे। शोभा यात्रा यहां के तीनों मुख्य मार्गों का भ्रमण की। जिसमें एक दर्जन से भी अधिक जगह पर जलपान की व्यवस्था की गई थी।

भंडारे का हुआ आयोजन

रामनवमी की शोभायात्रा को सत्यनारायण मंदिर में विराम दिया गया था। इसके बाद यहां ब्राह्मण भोज के बाद भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें शहर के लोगों के अलावा आस-पास के ग्रामीण क्षेत्र से आए लोगों ने भी भंडारे का प्रसाद ग्रहण किया।

भास्कर न्यूज | पत्थलगांव

शनिवार की शाम लगभग पांच बजे यहां के सत्यनारायण मंदिर से भगवान राम की आकर्षक शोभा यात्रा निकाली गई। इस शोभा यात्रा के साथ शहर के विद्वान पं. भक्ता महाराज के साथ मंदिर के पुजारी श्यामू शर्मा मौजूद थे। इनके द्वारा विधिवत रामनवमी की पूजा अर्चना कराकर भगवान राम की शोभा यात्रा को शहर के तीनों मार्गों का भ्रमण कराया था। इस दौरान इनके द्वारा मार्ग में चल रहे श्रद्धालुओं को प्रसाद भी वितरण किया जा रहा था।

इस मर्तबा रामनवमी की शोभा यात्रा में दुर्ग से आए कलाकारों द्वारा बनाई गई झांकी आकर्षक का केन्द्र रही। शहर के तीनों मार्ग में इस अनोखी झांकी के दर्शन करने लोग सड़क के दोनों ओर देर रात तक डटे रहे। दरअसल दुर्ग से आए कलाकारों द्वारा शोभा यात्रा में अगुवाई करने के लिए उड़ते हुए हनुमान जी की झांकी बनाई गई थी। इस झांकी की विशेषता यह थी कि उड़ते हुए हनुमान के दोनों हाथों में जगत के पालनहार भगवान राम के साथ उनके अनुज लक्ष्मण को बैठाया गया था। यह झांकी लंका से विजयी होने के बाद हनुमान द्वारा दोनों भाईयों को हाथ में उठाकर वापस किसकिंधा तक लाने का संकेत दे रही थी। शनिवार को भक्त हनुमान व राम लक्ष्मण की झांकी शहर के लोगों के लिए एकदम नया अनुभव था। लोग मार्ग से गुजरते वक्त झांकी के दर्शन करने के लिए आतुर दिखाई दे रहे थे। इस मर्तबा रामनवमी के जुलूस में अनेक समुदाय के लोगों ने अपनी भागीदारी निभाई। अत्यधिक धूप व गर्मी रहने के कारण शोभा यात्रा का समय कुछ विलंब से शुरू हुआ। पर श्रद्धालुओं की संख्या कम नही हुई। शोभा यात्रा निकलते वक्त हिंदु परंपरा से जुड़े युवक एक तरह की पोशाक पहनकर भगवान राम के जयकारे लगा रहे थे।

X
Pathalgaon News - chhattisgarh news ram lakshman seen on the palm of hanuman swinging in the air
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना